Home /News /delhi-ncr /

दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेसवे पर जाने से पहले टोल के बारे में जान लें यह जरूरी बात

दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेसवे पर जाने से पहले टोल के बारे में जान लें यह जरूरी बात

एक्सप्रेसवे के टोल प्लाजा को पास करने के लिए फास्टैग जरूरी है.

एक्सप्रेसवे के टोल प्लाजा को पास करने के लिए फास्टैग जरूरी है.

निजामुद्दीन (Nizamuddin) से मेरठ तक छोटे वाहनों से 140 रुपये टोल वसूला जाएगा. इंदिरापुरम से मेरठ (Meerut) तक 95 और डासना (Dasna) से मेरठ तक 60 रुपये वसूले जाएंगे. अगर वाहन चालक निजामुद्दीन से इंदिरापुरम या डासना तक एनएच-9 या सर्विस लेन का इस्‍तेमाल कर लें. इसके बाद दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेसवे (Delhi-Meerut Expressway) से जाएंं तो वाहन चालकों के रुपये बच सकते हैं. एनएच-9 या सर्विस लेन में ऑफिस ऑवर को छोड़ दें तो ट्रैफिक सामान्‍य रूप में ही चलता है, यानी जाम नहीं लगता है.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. वक्त बचाने और आरामदायक सफर के लिए अगर आप दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेसवे (Delhi-Meerut Expressway) पर जा रहे हैं तो जाने से पहले टोल के बारे में कुछ जरूरी बातें जान लें. वर्ना आपको अपना कीमती वक्त गंवाने के साथ ही परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है. एक्सप्रेसवे के टोल प्लाजा (Toll Plaza) को पास करने के लिए फास्टैग जरूरी है. फास्टैग (Fastag) न होने पर पेनल्टी देने के बाद भी आपकी कार टोल को पार नहीं कर पाएगी, क्योंकि दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेसवे की सभी टोल लेन फास्टैग वाली हैं. ऐसे वाहनों (Vehicles) को जिस पर फास्टैग का स्टीकर नहीं है उनके लिए टोल प्लाजा से 100 मीटर पहले फास्टैग रिचार्ज कराने और फास्टैग खरीदने की सुविधा दी जाएगी, लेकिन ऐसे में आपका वाहन कुछ देर के लिए टोल की लेन में फंस सकता है.

    दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेसवे टोल प्लाजा की हर एक लेन में एक केबिन बनी होगी, लेकिन इस केबिन में कोई स्टाफ नहीं होगा. मतलब फास्टैग के जरिए पैसा कटने के बाद बूम बैरियर खुद से ही उठ जाएगा और गाड़ी बूम को जंप कर आगे बढ़ जाएगी. अगर किसी गाड़ी पर फास्टैग नहीं है या बैलेंस कम है तो उसके लिए टोल प्लाजा पर सुविधा होगी. टोल प्लाजा से 100 मीटर पहले कई कंपनियों के स्टॉल को जगह दी गई है. स्टॉल पर जाकर वाहन चालक फास्टैग लगवाने के साथ ही रिचार्ज भी करवा सकते हैं.

    इस तरह से तय की गई हैं टोल की दरें

    सराय काले खां से रसूलपुर सिकरोड, भोजपुर, काशी टोल प्लाजा मेरठ-

    कार व अन्य छोटे वाहन 95 115 140

    हल्के वाणिज्यिक वाहन 150 190 225

    दो एक्सल वाले बस-ट्रक 315 395 470

    Metro Station पर करिए चार्जिंग स्टेशन, शोरुम और फूड कोर्ट का कारोबार, जानिए प्लान

    इंदिरापुरम से रसूलपुर सिकरोड भोजपुर काशी टोल प्लाजा-

    कार व अन्य छोटे वाहन 50 70 95

    हल्के वाणिज्यिक वाहन 75 115 150

    दो एक्सल वाले बस-ट्रक 160 245 320

    डूंडाहेड़ा से रसूलपुर सिकरोड भोजपुर काशी प्लाजा-

    कार व अन्य छोटे वाहन 30 55 75

    हल्के वाणिज्यिक वाहन 45 85 120

    दो एक्सल वाले बस-ट्रक 100 180 255

    डासना से रसूलपुर सिकरोड भोजपुर काशी प्लाजा-

    कार व अन्य छोटे वाहन 15 40 60

    हल्के वाणिज्यिक वाहन 25 65 100

    दो एक्सल वाले बस-ट्रक 55 135 210

    रोजाना 50 हजार वाहन चालकों पर पड़ेगा भार
    सराय काले खां से गाजियाबाद और मेरठ तक एक्सप्रेसवे पर रोजाना करीब 50 हजार वाहनों का आवागमन होता है. अभी तक ये वाहन बिना टोल दिए चल रहे थे, लेकिन अब इन वाहन चालकों को एक्सप्रेसवे पर चलने के लिए टोल चुकाना पड़ेगा. टोल वसूली का कांट्रैक्ट लेने वाली कंपनी ने काशी टोल पर बने कंट्रोल रूम को भी टेकओवर कर लिया है.

    Tags: Delhi Meerut Expressway, FASTag, Toll plaza

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर