टूलकिट मामले पर दिल्ली पुलिस ने Twitter को भेजा नोटिस, मांगी ये जानकारी

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने टूलकिट मामले पर टि्वटर को नोटिस भेजा.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने टूलकिट मामले पर टि्वटर को नोटिस भेजा.

Twitter पर टूलकिट मामले को लेकर शेयर किए गए कई पोस्ट को मैनिपुलेटेड-मीडिया बताने को लेकर दिल्ली पुलिस ने भेजा नोटिस. स्पेशल सेल ने ट्विटर को इस मामले पर और जानकारियां और सबूत देने को कहा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. टूलकिट मामले पर राजनीतिक गर्माहट के बीच दिल्ली पुलिस ने इस माइक्रोब्लॉगिंग साइट टि्वटर को नोटिस भेजा है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल ने टूलकिट मामले की तफ्तीश को लेकर टि्वटर से कई जानकारी मांगी है. सूत्रों के मुताबिक, स्पेशल सेल ने पूछा है कि टूलकिट मामले को लेकर किए गए कई पोस्ट में आपने लिखा था 'मैनिपुलेटेड मीडिया', तो इस मामले पर आपके पास क्या जानकारी या सबूत है, कृपया हमारे साथ भी साझा करें.

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के वरिष्ठ सूत्र ने इस खबर की पुष्टि करते हुए ये भी स्पष्ट किया है कि 'इस मामले में फिलहाल कोई FIR दर्ज नहीं हुई है, लेकिन हमलोग शुरुआती तफ़्तीश में जुटे हुए हैं और जानकारियां जुटा रहे हैं.' आपको बता दें कि टूलकिट मामले को लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने टि्वटर पर अपने पोस्ट शेयर किए थे. मामले को लेकर बीजेपी के नेताओं ने कांग्रेस पार्टी के ऊपर कई आरोप लगाए थे. इसके बाद ही टि्वटर ने कई पोस्ट के नीचे 'मैनिपुलेटेड मीडिया' लिखा था, जिसको लेकर केंद्र सरकार ने भी सवाल उठाया था.

केंद्र सरकार ने इस मामले पर आपत्ति जताते हुए टूलकिट को कोरोना रोकथाम की कोशिशों को बदनाम करने वाला बताया था. सरकार ने टि्वटर से कहा था कि वह मैनिपुलेटेड मीडिाय का टैग हटा ले, क्योंकि इस मामले की अभी जांच की जा रही है. केंद्र सरकार ने कहा था कि Twitter ये तय नहीं करेगा, बल्कि जांच एजेंसियां की रिपोर्ट से पता चलेगा कि यह कंटेंट सही है या गलत. मामला जब जांच के दायरे में हो तो टि्वटर इस पर अपना फैसला नहीं दे. केंद्र सरकार ने कई पोस्ट के नीचे मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग लगाने को लेकर कहा था कि यह टि्वटर के मध्यस्थ और तटस्थ होने की भूमिका पर सवाल खड़े करता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज