Lockdown 4.0: नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर फिर लगा लंबा जाम, बिना पास के नहीं हो रही एंट्री
Delhi-Ncr News in Hindi

Lockdown 4.0:  नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर फिर लगा लंबा जाम, बिना पास के नहीं हो रही एंट्री
दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर लगा लंबा जाम (सांकेतिक फोटो)

नोएडा प्रशासन की सख्‍ती की वजह से नोएडा-दिल्ली बॉर्डर (Delhi-Noida Border) पर भारी जाम लग गया.

  • Share this:
नोएडा. कोरोना वायरस संक्रमण (coronavirus Infection) बढ़ने के मद्देनजर नोएडा और दिल्ली की सीमाएं (Delhi-Noida Border) सील किए जाने के बाद बुधवार को भारी जाम लग गया. पुलिस वाहनों की सख्ती से जांच कर रही है और केवल वैध पास वाले वाहनों को सीमा पार करने की अनुमति है.

नोएडा प्रशासन ने किया ये काम
नोएडा प्रशासन ने कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण की वजह से बिना अनुमति या फिर वैध पास के दिल्ली के लोगों का नोएडा में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया है. पुलिस द्वारा की जा रही जांच की वजह से दिल्ली- नोएडा सीमा पर भारी जाम लग गया है. पुलिस उपायुक्त (प्रथम) संकल्प शर्मा ने बताया कि दिल्ली से नोएडा में प्रवेश प्रतिबंधित है. उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने दिल्ली में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते संक्रमण की वजह से राष्ट्रीय राजधानी से लोगों का नोएडा में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया है.

इन लोगों को मिल रही है एंट्री



पुलिस उपायुक्त (प्रथम) संकल्प शर्मा ने बताया कि दिल्ली से नोएडा आवागमन के लिए जिला प्रशासन द्वारा ई-पास जारी किया जा रहा है. जिन लोगों के पास वैध पास हैं, उन्हें ही दिल्ली से नोएडा में प्रवेश की अनुमति दी जा रही है. उन्होंने बताया कि दिल्ली से नोएडा में प्रवेश करने के सभी बिंदुओं पर अवरोधक लगाकर जांच की जा रही है.



यूपी में कोरोना के इतने मामले
उत्तर प्रदेश में कोविड-19 (COVID-19) से मरने वालों का आंकड़ा 177 पहुंच गया है. जबकि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) के अब तक कुल 6,724 मामले सामने आए हैं.

मुख्यमंत्री ने किया कोविड-19 जांच उपकरण का लोकार्पण
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित स्वचालित कोविड-19 जांच उपकरण का लोकार्पण किया. इसके जरिये एक्स-रे की कोविड-19 एआई आधारित प्री-स्क्रीनिंग की जाती है, जिससे मरीज में इस संक्रमण का पता लगाया जा सकता है. सीएम योगी ने इस उपकरण के बारे में कहा कि यह कोरोना वायरस संक्रमण उन्मूलन में सहायक साबित हो सकता है. यह अच्छा प्रयास है और इसमें लोगों को सावधान करने की भी व्यवस्था की जानी चाहिए. इसके साथ उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे शोधकर्ताओं को विभिन्न अस्पतालों में मरीजों के सीने के डिजिटल एक्स-रे उपलब्ध कराएं ताकि वे इस उपकरण पर और काम कर सकें.

ये भी पढ़ें :- सीएम योगी का यह फॉर्मूला रहा 'हिट', उद्यमियों ने मांगे 5 लाख वर्कर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading