लाइव टीवी

दिल्ली से बिहार 4000 हजार रुपये में फर्जी कर्फ्यू पास पर बस से कराते थे यात्रा, दो गिरफ्तार
Kishanganj News in Hindi

shankar Anand | News18Hindi
Updated: May 21, 2020, 1:34 PM IST
दिल्ली से बिहार 4000 हजार रुपये में फर्जी कर्फ्यू पास पर बस से कराते थे यात्रा, दो गिरफ्तार
साउथ ईस्ट दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके से बस को जब्त किया गया

ड्राइवर बस में 49 अप्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) को बिहार लेकर जा रहा था. शाहदरा के डीएम के नाम से फर्जी कर्फ्यू पास बनवाया गया था. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में बस मालिक और ड्राइवर दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) के पलायन के मसले पर एक बड़ा खुलासा हुआ है. साउथ दिल्ली पुलिस की टीम ने दो ऐसे लोगों को धर दबोचा है जो फर्जी पास के मार्फत करीब चार दर्जन प्रवासी मजदूरों को एक बस में भरकर दिल्ली से बिहार लेकर जा रहा था. इसके साथ महत्वपूर्ण जानकारी ये भी मिली है कि उन मजदूरों से किराया के तौर पर करीब चार-चार हजार रुपये वसूले गए थे. लिहाजा अब इस मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है . बस के मालिक और ड्राइवर को पुलिस गिरफ्तार (Bus Owner and driver Arrested) कर चुकी है और बस को भी जब्त कर लिया गया है. ड्राइवर बस में 49 अप्रवासी मजदूरों को बिहार लेकर जा रहा था. शाहदरा के डीएम के नाम से फर्जी कर्फ्यू पास बनवाया गया था. ये मजदूर बिहार के किशनगंज इलाके के रहने वाले थे.

अप्रवासियों को पहुंचाया तुगलकाबाद इलाका

साउथ ईस्ट जिला के डीसीपी आर. पी. मीणा ने आदेश दिया है कि ये प्रवासी मजदूर तुगलकाबाद से बस में सवार हुए थे इसलिए उन्हें वहां पहुंचा दिया जाए. उन्होंने यह आदेश भी दिया था कि इन प्रवासियों को कोई दिकक्त नहीं होने पाए. अप्रवासी मजदूरों को सुरक्षित तुगलकाबाद इलाके में पहुंचा दिया गया है. ये मजदूर इन्हीं इलाकों में रहते थे.



कैसे सामने आया ये मामला ?



राजधानी दिल्ली में बिहार से जुड़े प्रवासी मजदूरों को गलत तरीके से एक राज्य से दूसरे राज्य में लेकर जाने का एक मामला सामने आया है. इस घटना के पहले भी इसी इलाके के पुल प्रह्लादपुर थाना इलाके में एक मामला देखने को मिला था. पिछले दिनों बिहार के लक्खीसराय इलाके का रहने वाला कॉन्ट्रेक्टर ट्रक में बैठाकर कई मजदूरों को ले जा रहा था. दिल्ली पुलिस ने ट्रक कॉन्ट्रेक्टर को इस मामले में पकड़ा था.

ड्राइवर का कर्फ्यू पास निकला फर्जी

साउथ ईस्ट दिल्ली की पुलिस टीम नाइट पेट्रोलिंग के दौरान हरियाणा बॉर्डर से सटे दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में बैरिकेड्स लगाकर रात में गुजरने वाले तमाम गाड़ियों की चेकिंग कर रही थी. इसी दौरान वहां से एक बस चालकर ने जल्दबाजी में पार करने की कोशिश की तब उस बस को रूकवाया गया. बस के ड्राइवर से आवश्यक कागजात मांगे तो तो ड्राइवर ने कर्फ्यू पास दिखा दिया. पुलिस की टीम ने दस्तावेज को देखते ही यह ताड़ लिया कि ड्राइवर का कर्फ्यू पास फर्जी है.

आईपीसी की धारा 188 के तहत मामला दर्ज

बैरिकेड्स पर तैनात पुलिसकर्मियों ने अपने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को इस बात की जानकारी दी और बस को वहीं रोक दिया. पुलिस की पूछताछ के दौरान ये पता चला कि बस का मालिक श्रवण कुमार है, जबकि उस बस का आरोपी ड्राइवर का नाम मनीष कुमार झा है. आरोपी चालक के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है. फिलहाल इस मामले में तफ्तीश की जा रही है.

4000 रुपये में दिल्ली से झारखंड ले जाने का मामला

दिल्ली के गाजीपुर से एक ऐसा ही एक मामला आज सुबह आया था जिसमें झारखंड जा रहे अप्रवासी मजदूरों से प्रति व्यक्ति 4000 रुपये वसूलने की बात सामने आई थी.

 



ये भी पढ़ें: प्रवासी मजदूरों से बस वाले कर रहे मनमानी, झारखंड जाने के वसूले 4000 रुपए

DELHI: बस का इंतजार कर रही गर्भवती महिला ने कहा- पुलिस नहीं दे रही अनुमति
First published: May 21, 2020, 1:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading