Home /News /delhi-ncr /

tribal youth will given training on facebook instagram and whatsapp delsp

देश के 10 लाख जनजातीय युवाओं को दी जाएगी फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप की ट्रेनिंग, जानें पूरी योजना

गोइंग ऑनलाइन एज लीडर्स प्रोग्राम की लांचिंग के मौके जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा, मंत्रालय के सचिव अनिल कुमार झा.

गोइंग ऑनलाइन एज लीडर्स प्रोग्राम की लांचिंग के मौके जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा, मंत्रालय के सचिव अनिल कुमार झा.

जनजातीय कार्य मंत्रालय फेसबुक (मेटा) के सहयोग से गोइंग ऑनलाइन एज लीडर्स (जीओएएल) प्रोग्राम के तहत जनजातीय युवाओं को सशक्‍त बनाएगा. इसके लिए राजधानी दिल्‍ली में आयोजित एक कार्यक्रम में जीओएएल 2.0 लांच किया गया है, जिसका शुभारंभ जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा ने किया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. देश के 10 लाख जनजातीय युवाओं (tribal youth) को डिजिटल तकनीक (digital technology) में समक्ष बनाने के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी. जनजातीय कार्य मंत्रालय (Tribal Affairs Minister) फेसबुक (मेटा) के सहयोग से गोइंग ऑनलाइन एज लीडर्स (जीओएएल) प्रोग्राम के तहत जनजातीय युवाओं को सशक्‍त बनाएगा. इसके लिए राजधानी दिल्‍ली में आयोजित एक कार्यक्रम में जीओएएल 2.0 लांच किया गया है, जिसका शुभारंभ जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा (Arjun Munda) ने किया. जीओएएल 2.0 पहल का उद्देश्य देश के जनजातीय समुदायों के बीच उद्यमिता को बढ़ावा देकर और डिजिटल प्रौद्योगिकी का उपयोग करके उनके लिए नए अवसर खोलना है.

इस अवसर पर अपने संबोधन में मुंडा ने कहा कि जीओएएल कार्यक्रम द्वारा सक्षम बनाए जा रहे लोग अपने समुदायों की अगुवाई कर रहे हैं और इस तरह यह कार्यक्रम एक मूक क्रांति बन रहा है. उन्‍होंने कहा कि हमारे समुदायों के पास मौजूद संसाधनों का अब आदिवासी समुदायों को सशक्त बनाने के लिए आधुनिक उपकरणों के साथ उपयोग किया जा सकता है. इस कार्यक्रम का लक्ष्य 10 लाख लोगों तक सीधे पहुंचना और उन्हें सक्षम बनाते हुए उनके माध्यम से कई और लोगों को सशक्त बनाना है.

इस कार्यक्रम के माध्यम से, चिन्हित किए गए जीओएएल प्रतिभागियों की मेटा बिजनेस कोच-व्हाट्सएप आधारित लर्निंग तक पहुंच होगी, जो प्रतिभागियों को फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप का उपयोग करके अपने व्यवसाय को बढ़ाने और विकसित करने के बारे में कौशल सीखने का अवसर देगा.

प्रतिभागियों को डिजिटल अर्थव्यवस्था में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए उन्हें सशक्त बनाने के उद्देश्य से कार्यक्रम में प्रशिक्षकों के एंटी स्कैमिंग शिक्षा, ऑनलाइन सुरक्षित रहना, गलत सूचना का मुकाबला कैसे करें और एक बेहतर डिजिटल नागरिक होने जैसे विषयों पर 9 भाषाओं में फेसबुक लाइव सत्र भी शामिल होंगे. जीओएएल के पहले चरण में देश भर के आदिवासी युवाओं को प्रेरित करना व जोड़ना और उनकी स्किल बढ़ानी शामिल थी. इनमें से कुछ ने अब ऐसे व्यवसाय बना लिए हैं जो राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ रहे हैं.

इस अवसर पर जनजातीय कार्य मंत्रालय में सचिव अनिल कुमार झा, आईआईपीए के महानिदेशक एस. एन. त्रिपाठी, जनजातीय कार्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव डॉ. नवलजीत कपूर और देश भर के आदिवासी समुदायों के युवा और उद्यमी भी मौजूद थे.

Tags: Facebook, Tribal, Tribal Culture

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर