Home /News /delhi-ncr /

tunnelling work on delhi ghaziabad meerut rrts corridor begins from anand vihar says ncrtc

दिल्ली-मेरठ RRTS कॉरिडोर को लेकर आया बड़ा अपडेट, आनंद विहार में यह काम हुआ शुरू

RRTS कॉरिडोर पर सुरंग खोदने का कार्य आनंद विहार से शुरू: एनसीआरटीसी (सांकेतिक तस्वीर)

RRTS कॉरिडोर पर सुरंग खोदने का कार्य आनंद विहार से शुरू: एनसीआरटीसी (सांकेतिक तस्वीर)

देश के पहले 82 किमी. लम्बे दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर पर आनंद विहार में सुरंग का निर्माण कार्य शुरू हो गया है. आरआरटीएस के 82 किलोमीटर के गलियारे में दिल्ली में चार स्टेशन होंगे जिनमें जंगपुरा, सराय काले खां, न्यू अशोक नगर और आनंद विहार हैं. इनमें से केवल आनंद विहार स्टेशन भूमिगत है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) कॉरिडोर पर आनंद विहार स्टेशन से साहिबाबाद की दिशा में सुरंग बनाने का काम शुरू हो गया है, जो तेज गति वाली ट्रेनों के जरिए दिल्ली, गाजियाबाद और मेरठ को जोड़ेगा. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) ने यह जानकारी दी. आरआरटीएस के 82 किलोमीटर के गलियारे में दिल्ली में चार स्टेशन होंगे जिनमें जंगपुरा, सराय काले खां, न्यू अशोक नगर और आनंद विहार हैं. इनमें से केवल आनंद विहार स्टेशन भूमिगत है.

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम ने एक बयान में कहा, ‘एक सुदर्शन (टनल बोरिंग मशीन) ने दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस गलियारे पर आनंद विहार स्टेशन से साहिबाबाद की दिशा में सुरंग खोदने का काम शुरू कर दिया है.’ आनंद विहार से साहिबाबाद की ओर करीब दो किलोमीटर लंबी सुरंग बनाई जाएगी, जो वैशाली मेट्रो स्टेशन के सामने खत्म होगी.

बयान में कहा गया है कि यह तीसरा सुदर्शन (टीबीएम) है, जिसने आनंद विहार से साहिबाबाद की ओर सुरंग का निर्माण शुरू किया है. तीसरे सुदर्शन (टीबीएम) के लिए लॉन्चिंग शाफ्ट आनंद विहार आरआरटीएस स्टेशन के उत्तर में बनाया गया है, जहां से सुरंग का निर्माण शुरू हुआ है. बयान के अनुसार, दो सुदर्शन (टीबीएम) पहले से ही आनंद विहार आरआरटीएस स्टेशन से न्यू अशोक नगर आरआरटीएस स्टेशन की ओर सुरंग निर्माण पर काम कर रहे हैं.

बयान में कहा गया कि सुरंग खंडों की मदद से सुरंग के छल्लों को टीबीएम द्वारा भूमिगत रूप से बनाया जाता है. बयान में कहा गया है कि आमतौर पर सात सुरंग खंडों का उपयोग किया जाता है. इसमें कहा गया है कि सुरंग खंडों का निर्माण एनसीआरटीसी के कास्टिंग यार्ड में सुनिश्चित गुणवत्ता नियंत्रण के साथ किया जा रहा है.

दरअसल, बड़े रोलिंग स्टॉक और 180 मील प्रति घंटे की उच्च डिजाइन गति के कारण, आरआरटीएस सुरंगों की चौड़ाई 6.5 मीटर तय की गई है. एनसीआरटीसी ने कहा कि मेट्रो प्रणाली की तुलना में यह पहली बार है कि देश में इतने बड़े आकार की सुरंग का निर्माण किया जा रहा है.

Tags: Delhi news, Delhi-NCR News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर