हफ्ते भर बाद यूके से दिल्ली आई पहली ही फ्लाइट में दो मुसाफिर मिले कोविड 19 पॉजिटिव

कोविड 19 के नए स्ट्रेन से बचाव के लिए एक हफ्ते तक यूके के लिए हवाई यात्रा बंद रखी गई थी. सांकेतिक फोटो (pixabay)

कोविड 19 के नए स्ट्रेन से बचाव के लिए एक हफ्ते तक यूके के लिए हवाई यात्रा बंद रखी गई थी. सांकेतिक फोटो (pixabay)

पिछले एक हफ्ते से यूके के लिए हवाई सेवाएं प्रतिबंधित रखी गई थीं. आज ही यह सेवा शुरू हुई है और लंदन से आई पहली फ्लाइट में कुल 256 मुसाफिर दिल्ली आए. इन यात्रियों में दो लोग कोविड 19 पॉजिटिव मिले.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 10:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक हफ्ते बाद ब्रिटेन (Britain) से शुरू हुई हवाई यात्रा में दो मरीज कोरोना पॉजिटिव (COVID19 positive) मिले. गौरतलब है कि पिछले एक हफ्ते से कोरोना के नए स्ट्रेन (new strain) की वजह से यूके के लिए हवाई सेवाएं प्रतिबंधित रखी गई थीं. आज ही यह सेवा शुरू हुई है और लंदन से आई पहली फ्लाइट में कुल 256 मुसाफिर दिल्ली आए. इन यात्रियों में दो लोग कोविड 19 पॉजिटिव मिले. आपको बता दें कि इन केसों के मिलने से पहले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र से भारत और यूके के बीच उड़ानों पर 31 जनवरी तक रोक लगाने की अपील की है. दरअसल, दिल्ली में कोरोना के नए स्ट्रेन से पीड़ित कुछ मरीजों के मिलने के बाद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से ऐहतियातन यह अपील की थी.

कोरोना के नए स्‍ट्रेन के खतरे के साथ ही यूके से शुरू हो रही फ्लाइटों को लेकर दिल्‍ली सरकार ने अहम आदेश जारी किया था. सरकार का कहा था कि यूके से आने वाले सभी यात्रियों का दिल्‍ली एयरपोर्ट पर अनिवार्य रूप से कोरोना टेस्‍ट होगा. यह टेस्‍ट भी आरटीपीसीआर होगा. साथ ही इस टेस्‍ट में आने वाले खर्च का भुगतान भी यात्रियों को ही करना होगा. दिल्‍ली सरकार ने यह भी कहा था कि आरटीपीसीआर टेस्‍ट में जो भी यात्री कोविड पॉजिटिव पाए जाएंगे उन्‍हें एक अलग इंस्‍टीट्यूशनल आइसोलेशन फैसिलिटी में रखा जाएगा. वहीं जो यात्री नेगेटिव पाए जाएंगे, उन्‍हें अनिवार्य रूप से सात दिन के लिए इंस्‍टीट्यूशनल क्‍वॉरंटाइन किया जाएगा या फिर उन लोगों को सात दिन के लिए होम क्‍वॉरंटाइन किया जाएगा.



चीफ सेक्रेटरी की ओर से जारी किए गए इस आदेश में कहा गया था कि जिन लोगों को होम क्‍वॉरंटाइन किया जाएगा, उनकी कड़ी निगरानी की जाएगी. सरकार का यह आदेश अभी ट्रायल के रूप में एक हफ्ते तक जारी रहेगा. लिहाजा 14 जनवरी तक आने वाली फ्लाइटों के यात्रियों को इन नियमों का कड़ाई से पालन करना होगा. सरकार इस आदेश को आगे बढ़ा भी सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज