Ghaziabad News: कोरोना के डर से दो पीसीएस अफसर ड्यूटी के बजाए घरों में कैद हुए, दवा खरीद का काम अटका

अधिकारियों के फोन तक नहीं उठा रहे

अधिकारियों के फोन तक नहीं उठा रहे

गाजियाबाद (Ghaziabad) में कोरोना की वजह से दो वरिष्‍ठ अफसर (officers) ड्यूटी (duty) करने के बजाए छुट्टी पर चल रहे हैं. इस वजह से दवा खरीद का काम अटका हुआ है. अब इनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

  • Share this:

गाजियाबाद. कोरोना (Corona) संक्रमण की वजह से लोग प्रशासन से मदद की उम्‍मीद लगाए हैं, लेकिन जिले के दो पीसीएस अफसर (PCS officers) ड्यूटी करने के बजाए घरों में कैद हो गए हैं. यहां तक कि उच्‍च अधिकारियों के फोन तक नहीं उठा रहे हैं. इस वजह से दवा खरीद का काम भी अटक गया है. जानबूझ कर ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरतने के चलते दोनों अधिकारियों पर कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

जिले के पीसीएस अफसरों के खिलाफ शासन से अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की संस्तुति की गई है. इस पूरे प्रकरण में कार्मिक विभाग, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव को रिपोर्ट भेजी जा चुकी है. इसमें कहा गया है कि महामारी के वक्त दोनों अधिकारी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी जानबूझकर ड्यूटी पर नहीं लौट रहे हैं. दोनों ही अधिकारी एसिंप्टोमेटिक थे और पूरी तरह से स्वस्थ हैं. यहां तक क‍ि अधिकारियों के फोन तक नहीं उठाए हैं. नोडल अधिकारी ने संस्तुति किए जाने की पुष्टि की है.

नोडल ऑफिसर की तरफ की संस्तुति पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी संज्ञान लिया है और कार्मिक विभाग को निर्देश दिया है कि वो मामले में तत्काल उचित कार्रवाई करे. जिले में कोरोना के चलते हालात बिगड़ने पर शासन की तरफ से नोडल ऑफिसर डॉ. सेंथिल पांड्यिन सी को भेजा गया था.  उन्होंने 28 अप्रैल को गाजियाबाद में कोरोना की स्थिति में अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें जिले के कई अधिकारी कोरोना संक्रमित होने की वजह से अनुपस्थिति थे. ऐसे में प्रशासनिक कामकाज कराने में खासी दिक्कतें हुईं. यहां तक की दोनों अधिकारियों ने नोडल ऑफिसर समेत अन्य अधिकारियों के फोन तक नहीं उठाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज