जामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों ने जीता Facebook का सर्किल कम्युनिटी चैलेंज, दुनियाभर से आए 2422 उम्मीदवार

जामिया मिल्लिया इस्लामिया
जामिया मिल्लिया इस्लामिया

बीते एक महीने में यह दूसरा मौका है जब जामिया यूनिवर्सिटी (Jamia University) ने तीसरी कामयाबी अपने खाते में जोड़ी है. इससे पहले यहां के प्रोफेसर इमरान अली (Imran Ali) को 2020 में भारत का पहला और दुनिया का 24वां वैज्ञानिक घोषित किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फेसबुक (Facebook) ने ‘‘रीजनल लेवल डेवलपर सर्किल कम्युनिटी चैलेंज” (Circles community challenge) आयोजित किया गया था. इस चैलेंज में दुनियाभर के 2422 उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया था. जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia University) के दो छात्रों मोहम्मद अहमद (बीटेक इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग चौथे वर्ष) और मोहम्मद अज़हान (बीटेक इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग चौथे वर्ष) ने भी इस चैलेंज में हिस्सा लिया था. खास बात यह है कि जामिया के इन छात्रों ने यह चैलेंज जीत लिया है. उन्हें 2 हज़ार अमेरिकी डालर (American Dollar) का इनाम भी मिला है. फेसबुक ने डेवलपर्स और क्रिएटर्स को आमंत्रित किया था. जिससे वो तकनीकी शिक्षा को एक नए रूप में पेश कर सकें. जिससे उन्हें उन्हें फेसबुक की क्षमताओं का प्रदर्शन करने वाला ट्यूटोरियल बनाकर पेश किया जा सके.

फेसबुक ने इसलिए आयोजित किया था यह चैलेंज

जामिया के पीआरओ अहमद अज़ीम ने बताया कि फेसबुक का यह डेवलपर सर्किल, इनोवेटर्स का एक समुदाय है, जहां नए और अनुभवी डेवलपर्स को नए कौशल बनाने, नए विचारों को विकसित करने और अपने करियर को बढ़ावा देने के लिए मुफ्त टूल मुहैया कराए जाते हैं. इसके ज़रिए, इसमें हिस्सा लेने वालों को उनके द्वारा बनाए गए कोड पर ट्यूटोरियल एवं सॉफ़्टवेयर समाधानों को और बेहतर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.



ये भी पढ़ें- COVID-19 in Delhi: सिर्फ मास्क ही नहीं, घर के बाहर यह 4 चार काम करने पर भी कटेगा 2 हज़ार रुपये का चालान
जामिया वीसी ने भी दी छात्रों को बधाई

जामिया की वाइस चांसलर प्रो. नजमा अख्तर ने दोनों छात्रों को उनकी उपलब्धि पर बधाई दी. साथ ही आगे भी नई कामयाबियों को पाने के लिए हौंसलाअफजाई की. उन्होंने कहा कि शोधकर्ताओं के वैज्ञानिक अनुसंधान से विश्व का ध्यान जामिया के प्रति आकर्षित हो रहा है और इस क्षेत्र में यूनिवर्सिटी अपने छात्रों को और ज़्यादा सुविधाएं मुहैया कराएगी.

Jamia University, developer circles community challenge, Facebook, vice chancellor, engineering, जामिया विश्वविद्यालय, डेवलपर मंडल सामुदायिक चुनौती, फेसबुक, कुलपति, इंजीनियरिंग
जामिया के इन दो छात्रों ने फेसबुक के इस चैलेंज को जीता है.


एक महीने में मिल चुकी है दो और कामयाबी

जामिया यूनिवर्सिटी बीते एक महीने में दो और बड़ी कामयाबियां अपने नाम कर चुकी है. इससे पहले जामिया के ही प्रोफेसर डॉक्टर इमरान अली 2020 में भारत के नंबर वन साइंटिस्ट बने हैं. उन्हें यह खिताब अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय की ओर से दिया गया है. जामिया की ही दो रिसर्च स्कॉलर मारिया खान और अबगीना शब्बीर को नैनो साइंस में मिली पीएम रिसर्च फैलोशिप के लिए चुना गया है.

दोनों रिसर्च स्कॉलर का सेलेक्शन पीएमआरएफ की मई-2020 ड्राइव के लेटरल एंट्री श्रेणी के तहत किया गया है. फ़ेलोशिप के तौर पर पहले दो साल के लिए 70,000 रुपये, तीसरे साल के लिए 75,000 और चौथे-पांचवे साल के लिए 80,000 रुपए मिलेंगे. इसके अलावा, प्रत्येक फेलो को हर साल 2 लाख रुपये के अनुसंधान अनुदान के तौर पर मिलेंगे. मतलब पांच साल के लिए कुल 10 लाख रुपये मिलेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज