Home /News /delhi-ncr /

हेलो! मैं जनरल वीके सिंह बोल रहा हूं केंद्रीय राज्य मंत्री भारत सरकार... फिर ऐसे चलता था ट्रांसफर-पोस्टिंग का धंधा

हेलो! मैं जनरल वीके सिंह बोल रहा हूं केंद्रीय राज्य मंत्री भारत सरकार... फिर ऐसे चलता था ट्रांसफर-पोस्टिंग का धंधा

पुलिस ने नेताओं की नकली आवाज निकालने वाले दोनों युवकों को जेल भेजा.

पुलिस ने नेताओं की नकली आवाज निकालने वाले दोनों युवकों को जेल भेजा.

Ghaziabad Crime News: यूपी के गाजियाबाद में दो युवकों द्वारा केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह (VK Singh) और भाजपा सांसद संजीव बालियान (Sanjeev Balyan) की नकली आवाज निकालकर अधिकारियों से बात करने का मामला सामने आया है. वह काफी दिनों से नेताओं की नकली आवाज निकालकर यूपी में ट्रांसफर-पोस्टिंग का धंधा चला रहे थे.

अधिक पढ़ें ...
गाजियाबाद. देश की राजधानी दिल्‍ली से सटे यूपी के गाजियाबाद से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. दरअसल दो युवक खुद को केंद्र सरकार में मंत्री (Minister in Central Government) बता कर अधिकारियों को फोन किया करते थे. इसके बाद अधिकारी भी उनके बताए काम में पूरी मुस्‍तैदी से लग जाते थे. जब इस बात की जानकारी एक अधिकारी के द्वारा केंद्रीय मंत्री को शिकायत करने के बाद हुई, तो प्रशासन में हड़कंप मच गया. फिलहाल गाजियाबाद पुलिस (Ghaziabad Police) ने दोनों युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

बता दें कि दोनों युवक हेलो मैं जनरल वीके सिंह बोल रहा हूं केंद्रीय राज्य मंत्री भारत सरकार... कहकर अधिकारियों को फोन करते थे. इस तरह का फोन जब किसी अधिकारी के पास जाता था तो निश्चित रूप से वह सतर्क हो जाता था, क्योंकि एक तो वह गाजियाबाद से सांसद और दूसरे केंद्रीय राज्य मंत्री हैं. वहीं, माना ये भी जाता है कि वीके सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के करीबी हैं. ऐसे में अधिकारी पूरे मनोयोग से उनसे बात करता और उसी प्रोटोकॉल का पालन करता. इस तरह दोनों युवक अपने ट्रांसफर और पोस्टिंग के काम करवाया करते थे.



पुलिस ने दोनों युवकों को किया गिरफ्तार
गाजियाबाद पुलिस ने छपरौली के रहने वाले हर्ष और विक्रांत को गिरफ्तार कर लिया है. यह दोनों मेरठ जोन के अधिकारियों को केंद्रीय राज्य मंत्री वीके सिंह और मुज्जफरनगर के सांसद संजीव बालियान के नाम से फोन किया करते थे.

पुलिस ने कही ये बात
हर्ष और विक्रांत के पकड़े जाने का सिलसिला भी बेहद चौंकाने वाला है. दरअसल उन्होंने एक ऐसे अधिकारी को फोन कर दिया जो अक्सर वीके सिंह से बात करता है. लिहाजा वो नंबर और आवाज सुनकर हो चौंक गया और उसने इसकी शिकायत पुलिस के उच्चाधिकारियों के साथ मंत्री से की. इसके बाद इनकी धरपकड़ संभव हो पाई है. गाजियाबाद एसपी सिटी निपुण अग्रवाल मुताबिक, ये लोग ट्रांसफर और पोस्टिंग के लिए फोन करते थे. वहीं, उसके बदले जिसका यह तबादला करवाते थे उससे पैसे लिया करते थे. साथ ही यह सिम फर्जी नाम से खरीदा करते थे जिससे जल्दी से पुलिस इन तक ना पहुंच पाए.

Tags: Crime News, Delhi-NCR News, Ghaziabad News, Ghaziabad Police, Sanjeev Balyan, Up crime news, UP news, Vk singh

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर