अनकंट्रोल कोरोना: दिल्ली में निजी अस्पतालों को 220 आईसीयू बेड बढ़ाने के निर्देश

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

Delhi News: देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इससे निपटने के लिए दिल्ली सरकार तैयारियों का दावा कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 6:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. दिल्ली के कुछ निजी अस्पतालों में कोविड -19 मामलों में स्पाइक और आईसीयू बेड की कमी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने संकट को दूर करने के लिए एक आदेश जारी किया है. राज्य की आप सरकार ने दिल्ली के 33 निजी अस्पतालों को कोविड -19 रोगियों के लिए आईसीयू बिस्तर क्षमता 220 तक बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, "हमने निजी अस्पतालों को आईसीयू बिस्तरों की संख्या 220 से बढ़ाने के आदेश दिए हैं. हमने बड़े निजी अस्पतालों को भी अपने वार्डों में बिस्तरों को 838 तक बढ़ाने के लिए कहा है."

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में, आईसीयू और सामान्य बेड दोनों उपलब्ध थे, जो वहां बेड का संकट होने की स्थिति नहीं है. “तीन से चार अस्पतालों में, आईसीयू बिस्तरों की कमी थी, यही वजह है कि सरकार ने आदेश दिए कि 33 बड़े अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या में 220 की वृद्धि की जाए.”

Youtube Video


फिलहाल खाली हैं बेड
दिल्ली सरकार के कोरोना वायरस ऐप के अनुसार, राजधानी में कोविड -19 बेड की कुल संख्या 5815 है, जिनमें से 1,799 बेड भरे हैं. जबकि 4,016 खाली हैं.इसी तरह, वेंटिलेटर वाले 787 कोविड -19 आईसीयू बेड पर 298 मरीज काबिज हैं. जबकि 489 खाली हैं. वेंटिलेटर के बिना 1232 कोविढ -19 आईसीयू बेड में से 394 पर मरीज भर्ती हैं. जबकि 838 वर्तमान में खाली हैं. बीते मंगलवार को दिल्ली सरकार ने राजधानी में कोविड -19 स्थिति पर एक समीक्षा बैठक की, जिस पर बेड की उपलब्धता का ध्यान रखा गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज