Lockdown: महिलाओं-युवाओं की कमी से स्टोर बाजार को झटका, Online शॉपिंग में बूम की संभावना
Delhi-Ncr News in Hindi

Lockdown: महिलाओं-युवाओं की कमी से स्टोर बाजार को झटका, Online शॉपिंग में बूम की संभावना
कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए महिलाएं और युवा बाजार निकलने से परहेज कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

एक सर्वे के मुताबिक 70-80 फीसदी स्टोर शॉपिंग महिलाएं और स्कूल-कॉलेज जाने वाले युवा ही करते हैं. ऐसे में रिटेल स्टोर्स के व्यापारियों को भी चिंता सता रही है. उनका मानना है कि बाजार तब तक नहीं उठ पाएगा जब तक कि महिलाएं खरीदारी के लिए बाहर नहीं निकलतीं.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना (Covid19) के बाद हुए लॉकडाउन-4 में व्यापारियों को दी गई ढील के बाद देशभर में बाजार खोले गए. कई जगहों पर ऑड-ईवन के आधार पर तो कई जगहों पर साप्ताहिक दिनों में बांटकर अलग-अलग बाजार खोले गए, लेकिन इन बाजारों में महिला खरीदारों और स्कूल कॉलेज गोइंग युवाओं की कमी साफ देखी गई है. इतना ही नहीं अब अनलॉक-1 में भी महिलाओं के बाजार में पहुंचने की संभावनाएं कम ही हैं. एक सर्वे के मुताबिक 70-80 फीसदी स्टोर शॉपिंग महिलाएं और स्कूल-कॉलेज जाने वाले युवा ही करते हैं. ऐसे में रिटेल स्टोर्स के व्यापारियों को भी चिंता सता रही है. उनका मानना है कि बाजार तब तक नहीं उठ पाएगा जब तक कि महिलाएं खरीदारी के लिए बाहर नहीं निकलतीं.

डिजाइनर फैब्रिक सबसे ज्यादा खरीदती हैं महिलाएं, एक फीसदी भी नहीं पहुंचे ग्राहक
हरियाणा में रेज़ा फेब्रिक पर काम कर रहीं फैशन डिजाइनर ललिता कहती हैं कि कोरोना से महिलाएं काफी ज्यादा पैनिक हो रही हैं यही वजह है कि लोकल मार्किट से भी उन्होंने दूरी बनाई हुई है. जहां तक टेक्सटाइल की बात करें तो डिजायनर फैब्रिक सभी उम्र की महिलाएं ही सबसे ज्यादा खरीदती हैं. अभी मैंने खुद भी बाज़ार में जाकर देखा तो फैब्रिक खरीदने वाली एक फीसदी महिलाएं भी बुटीक या रिटेल स्टोर्स पर नहीं पहुंची हैं. वहीं पूरा शॉपिंग मिज़ाज़ ऑनलाइन मोड तक ले जाने में अभी काफी वक्त लगेगा. लिहाजा इसका एक बहुत बड़ा प्रभाव बाजार पर पड़ता दिखाई दे रहा है.

Lockdown, coronavirus, corona, covid-19, economic activities to start, ऑनलाइन शॉपिंग टिप्स, ऑनलाइन शॉपिंक की सावधानियां कोरोना वायरस, amazon, groffers, flipkart, milkbasket, bbdaily, big basket, , lockdown, coronavirus, corona, online shopping tips, online shopping safety tips, online shopping safety, online shopping product tips,फैशन डिजाइनर, महिलाएं बाजार से गायब, युवा भी बाजार नहीं आ रहे हैं, सोना, चांदी unlock1 Lockdown covid19 indian economy women and youth absence in market online shopping boom expected nodrssकोरोना से महिलाएं काफी ज्यादा पैनिक हो रही हैं.
कोरोना से महिलाएं काफी ज्यादा पैनिक हो रही हैं.




ज्वैलर्स बोले, महिलाओं पर ही निर्भर है सोने-चांदी का बाज़ार


कई स्टोर के मालिक शारदा ज्वेलर्स और केसी सर्राफ की ओर से बताया गया कि सोने चांदी की खरीदारी मुख्य रूप से महिलाएं ही करती है. सोना चांदी ऐसी चीज है कि इसे ऑनलाइन खरीदने में भी लोगों का भरोसा नहीं है. लॉकडाउन मैं कुछ दिनों से ढील के बाद ज्वेलर्स की दुकानें भी खुल रही है लेकिन बाजार से महिलाएं नदारद हैं. अनलॉक में बाहर निकलने को लेकर भी असमंजस की स्थिति है. अगर यही हाल रहा तो बाजार खुलने के बाद भी सबसे ज्यादा नुकसान ज्वेलर्स को ही उठाना होगा.

कॉस्मेटिक्स को झटका, बाज़ार 10 फीसदी भी नहीं
दिल्ली में कॉस्मेटिक उत्पादों की डीलर अनन्या अरोड़ा कहती हैं कि लॉकडाउन के दौरान हुई बन्दी के बाद कॉस्मेटिक्स बाजार को एक बहुत बड़ा झटका लगा है. ऐसा पहली बार हुआ कि कॉस्मेटिक उत्पादों की खपत 10 फ़ीसदी भी नहीं रही. ऑनलाइन मार्केट से भी महिलाएं कॉस्मेटिक उत्पादों की शॉपिंग करती है लेकिन बाजार और दुकानों में जाकर खरीदारी करने का इससे कोई मुकाबला नहीं है. कोरोना के कारण आने वाले कुछ महीनों में भी महिलाओं के बाहर ना निकलने से बाजारों को घाटे का सामना करना पड़ेगा.

Lockdown, coronavirus, corona, covid-19, economic activities to start, ऑनलाइन शॉपिंग टिप्स, ऑनलाइन शॉपिंक की सावधानियां कोरोना वायरस, amazon, groffers, flipkart, milkbasket, bbdaily, big basket, , lockdown, coronavirus, corona, online shopping tips, online shopping safety tips, online shopping safety, online shopping product tips,फैशन डिजाइनर, महिलाएं बाजार से गायब, युवा भी बाजार नहीं आ रहे हैं, सोना, चांदी unlock1 Lockdown covid19 indian economy women and youth absence in market online shopping boom expected nodrss
लॉकडाउन के दौरान हुई बन्दी के बाद कॉस्मेटिक्स बाजार को एक बहुत बड़ा झटका लगा है. (FILE PHOTO)


कोरोना का डर-सेलेरी कट और तमाम वजहों से शॉपिंग से मुंह मोड़ रहीं महिलाएं
शॉपिंग की शौकीन महिला रुचि कहती हैं कि सेलेरी न मिलने से शॉपिंग के शौक को छोड़ना पड़ा है. वहीं आगरा निवासी रीमा कहती हैं कि वे कोरोना के डर के कारण बाहर निकलने से घबरा रहीं हैं. झरना कहती हैं कि पिछले तीन महीने से काम ठप होने से वे शॉपिंग से तौबा कर रही हैं वहीं छात्रा दीपिका का कहना है कि अभी कॉलेज खुलने में वक्त है. जब कॉलेज खुलेंगे तब कहीं शॉपिंग के लिए बाहर निकलेंगी. अभी बाज़ार खुलेगा भी तो सेफ्टी के लिए नहीं निकलेंगी.

लॉकडाउन में स्टोर शॉपिंग खुलने तक तेजी से बढ़ेगी ऑनलाइन खरीदारी
भारत में कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज़ (CII) के डाइरेक्टर अमित मेहता का कहना है कि अब ऑनलाइन मार्किट पूरी तरह खुल गया है. इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स से लेकर इंटीरियर्स के सामान, फेब्रिक, ग्रॉसरी तमाम चीजें ऑनलाइन मिल रही हैं. लिहाजा जब तक स्टोर शॉपिंग नहीं होगी, ऑनलाइन मार्किट काफी बूस्ट कर चुका होगा. इस समय महिलाएं भी ऑनलाइन शॉपिंग की तरफ बढ़ रही हैं.

इसके अलावा अब अनलॉक-1 में सभी कुछ खुल गया है , लिहाजा मार्किट को, शॉपिंग मॉल्स को देखना है कि वे कैसे ग्राहकों को कन्विंस कर पाते हैं और कोविड के अटैक में भी सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइजेशन, सेफ्टी और ऑफर्स देकर महिलाओं को बुला पाते हैं. ऐसा करने पर लॉकडाउन के बावजूद महिला ग्राहक निश्चित रूप से खरीदारी को आउटलेट्स में जाएंगी. पिछले दो महीनों को छोड़ें जब सब बन्द था और अभी की बात करें तो करीब 50 फीसदी का घाटा बाज़ार को है लेकिन आने वाले वक्त में जैसे जैसे बाज़ार पर भरोसा बढ़ेगा, स्थिति ठीक होती जाएगी.

ये भी पढ़ें:

जानें कौन हैं सलमा फ्रांसिस, जो Lockdown में मजदूरों और बेसहारों की बनी हैं मददगार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading