'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' में UP की रैंकिंग में जबरदस्त उछाल, CM योगी ने जताया आभार
Delhi-Ncr News in Hindi

'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' में UP की रैंकिंग में जबरदस्त उछाल, CM योगी ने जताया आभार
इज ऑफ डूइंग रैंकिंग में उत्तर प्रदेश के देश भर में दूसरे स्थान पर आने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आभार जताया है (फाइल फोटो)

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) द्वारा जारी की गई इज़ ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease Of Doing Business) की रैंकिंग में उत्तर प्रदेश वर्ष 2019 में 10 स्थानों की छलांग के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गया है. जबकि वर्ष 2018 में राज्य 12वें स्थान पर था

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2020, 9:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शनिवार को दिल्ली में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की कारोबार सुगमता रैंकिंग (Ease Of Doing Business) जारी की. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ‘भारत की सुधारों के प्रति प्रतिबद्धता को लेकर विदेशी निवेशक गंभीर है. वो भारत को एक वांछित गंतव्य (डेस्टिनेशन) के रूप में लेते हैं. ऐसा नहीं होता, तो महामारी (Pandemic) के समय भी देश में इतना अच्छा विदेशी निवेश नहीं आता. हमारे कई आलोचक कहते हैं कि हमने सबसे अधिक सख्त लॉकडाउन लगाया था.

वित्त मंत्री ने कहा कि सुधारों (Reforms) के प्रति भारत (India) की प्रतिबद्धता को विदेशी निवेशक (Foreign Investors) गंभीरता से ले रहे हैं. उन्होंने कहा कि इसका पता इस बात से चलता है कि कोरोना वायरस (Corona Virus) के समय भी देश में अच्छा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) आया है. चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जुलाई की अवधि के दौरान देश में 20 अरब डॉलर का विदेशी निवेश आया.

राज्यों की कारोबार सुगमता रैंकिंग में आंध्र प्रदेश एक बार फिर टॉप पर है. वहीं उत्तर प्रदेश दूसरे ओर तेलंगाना तीसरे स्थान पर है. यह लगातार तीसरी बार है जब आंध्र प्रदेश इज़ ऑफ डूइंग बिजनेस वाले राज्यों की सूची में पहले स्थान पर है. उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (DPIIT) ने यह रैंकिंग तैयार की है.
इज ऑफ डूइंग बिजनेस में यूपी देश का दूसरा सबसे बेहतर राज्यवहीं उत्तर प्रदेश इस रैंकिंग में वर्ष 2019 में 10 स्थानों की छलांग के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गया है. जबकि साल भर पहले यानी 2018 में वो 12वें स्थान पर था. वहीं तेलंगाना एक स्थान फिसलकर तीसरे स्थान पर पहुंच गया है. वर्ष 2018 में वो दूसरे स्थान पर था. इनके बाद क्रमश: मध्य प्रदेश (चौथा), झारखंड (पांचवें), छत्तीसगढ़ (छठे), हिमाचल प्रदेश (सातवें), राजस्थान (आठवें), पश्चिम बंगाल (नौवें) और गुजरात (दसवें) स्थान पर रहा है.दिल्ली इस रैंकिंग में 12वें स्थान पर है. इसके पिछले संस्करण में दिल्ली 23वें स्थान पर थी. गुजरात पांचवें स्थान से फिसलकर दसवें स्थान पर पहुंच गया है. संघ शासित प्रदेशों में असम 20वें, जम्मू-कश्मीर 21वें, गोवा 24वें, बिहार 26वें, केरल 28वें और त्रिपुरा सबसे नीचे 36वें स्थान पर है.वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि राज्यों ने इस पूरी प्रक्रिया को सही भावना से लिया है. इससे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कारोबार की दृष्टि से बेहतर गंतव्य बनने में मदद मिलेगी.वहीं इस अवसर पर केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि इस रैंकिंग से पता चलता है कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपनी प्रणाली और प्रक्रियाओं को बेहतर कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह उन राज्यों के लिए सजग होने का समय है, जो रैंकिंग में फिसल गए हैं. गोयल ने कहा कि उनका मंत्रालय मंजूरियों के लिए एकल खिड़की प्रणाली जैसे कदमों पर काम कर रहा है.वहीं उत्तर प्रदेश के इज़ ऑफ डूइंग बिजनेस में दूसरा स्थान हासिल करने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश की जनता का आभार जताया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना को साकार करने हेतु उत्तर प्रदेश सरकार सतत प्रयासरत है. उत्तर प्रदेश द्वारा 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग' में गत वर्ष 12वें स्थान के सापेक्ष, इस वर्ष द्वितीय स्थान प्राप्त करना, इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है. सभी प्रदेशवासियों को बधाई




सीएम योगी ने प्रदेश को निवेशकों के लिहाज से भविष्य में और भी फ्रेंडली बनाने की बात दोहराई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज