पॉक्‍सो ई-बॉक्‍स में यूपी, दिल्‍ली और बिहार से मिलीं बच्‍चों पर यौन हिंसा की सबसे ज्‍यादा शिकायतें

यौन हिंसा को लेकर यूपी के सबसे ज्‍यादा बच्‍चों ने एनसीपीसीआर के पॉक्‍सो ई बॉक्‍स में शिकायत दर्ज कराई है.

यौन हिंसा को लेकर यूपी के सबसे ज्‍यादा बच्‍चों ने एनसीपीसीआर के पॉक्‍सो ई बॉक्‍स में शिकायत दर्ज कराई है.

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से दिए गए आंकड़ों के मुताबिक साल 2017-18 से लेकर जनवरी 2021 तक 354 यौन हिंसा की शिकायतें आई हैं. इनमें बच्‍चों के यौन शोषण, यौन हिंसा और पोर्नोग्राफी को लेकर शिकायतें शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 6:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देशभर में बच्‍चों के यौन शोषण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. सिर्फ शिकायतों पर ही गौर करें तो पिछले तीन साल में बच्‍चों ने खुद यौन हिंसा के खिलाफ कदम उठाया है. राष्‍ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के पॉक्‍सो ई बॉक्‍स में यौन शोषण के खिलाफ सबसे ज्‍यादा शिकायतें उत्‍तर प्रदेश राज्‍य के बच्‍चों ने की हैं. एनसीपीसीआर के पॉक्‍सो ई बॉक्‍स में पिछले तीन साल में यौन शोषण की खुद बच्‍चों के द्वारा की गई 354 शिकायतें मिली हैं.

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से दिए गए आंकड़ों के मुताबिक साल 2017-18 से लेकर जनवरी 2021 तक ये शिकायतें आई हैं. इनमें बच्‍चों ने यौन शोषण, यौन हिंसा और पोर्नोग्राफी को लेकर शिकायतें दर्ज कराई हैं. जिनमें से एनसीपीसीआर की ओर से 140 शिकायतों का निदान किया गया है.

कोरोना काल में बढ़ी बच्‍चों पर हिंसा

इन शिकायतों में यूपी से सबसे ज्‍यादा 86 शिकायतें आई हैं. इनमें से 37 शिकायतें कोरोना काल के दौरान 2020-21 में आई हैं. वहीं 2019 में 26 बच्‍चों ने शिकायत की है. दूसरे नंबर पर दिल्‍ली है. जहां से 39 बच्‍चों ने शिकायत की है. यहां से भी सबसे ज्‍यादा शिकायतें कोरोना काल में 13 आई हैं. इसके बाद तीसरे नंबर पर बिहार है जहां से 33 बच्‍चों ने शिकायत दर्ज कराई है. वहीं कोरोना काल में आई शिकायतों की संख्‍या 12 है.
पॉक्‍सो ई बॉक्‍स में 28 शिकायतें महाराष्‍ट्र से और 20 यौन शोषण की शिकायतें हरियाणा से मिली हैं. मध्‍य प्रदेश से 12, राजस्‍थान से 22, पश्चिम बंगाल से 13 बच्‍चों ने शिकायत की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज