लाइव टीवी

CM केजरीवाल की पत्नी बोलीं- पति को आतंकी कहे जाने पर दुख होता है

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 2:18 AM IST
CM केजरीवाल की पत्नी बोलीं- पति को आतंकी कहे जाने पर दुख होता है
अरविंद केजरीवाल और सुनीता केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की पत्नी सुनीता केजरीवाल और बेटी हर्षिता के साथ न्यूज18 संवाददाता जावेद ने खास बातचीत की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 2:18 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की पत्नी सुनीता केजरीवाल (Sunita Kejriwal) और बेटी हर्षिता (Harshita) के साथ न्यूज18 ने खास बातचीत की. उन्होंने बताया कि सीएम केजरीवाल को आतंकवादी बोलना बहुत निराशाजनक है. हर्षिता ने दुख जताते हुए कहा कि मैग्सेसे अवार्ड के पैसे को दान करने वाले इंसान को आतंकवादी बोला जा रहा है.

प्रचार में कैसा रेस्पॉन्स मिल रहा है?
सुनीता केजरीवाल- बहुत अच्छा रेस्पॉन्स मिल रहा है. लोग कहते हैं कि आपको आने की जरूरत नहीं है. हम आपको ही वोट देंगे. पहले दिन से ऐसा चल रहा है.

केजरीवाल को आतंकवादी कहे जाने पर प्रतिक्रिया

सुनीता केजरीवाल- दिल्ली के सभी लोगों को दुख हो रहा होगा. दिल्ली उनका परिवार है. 25 साल से साथ हूं. मुझसे पूछा था कि मेरा सोशल सर्विस है. पहले उन्होंने यह जानना चाहा था कि सोशल सर्विस मेरा पैशन है. मैं कैसे रिएक्ट करूंगी उस पर. यही रहता है कि आगे बढ़ना है. अगले दिन जनता में जाते हैं तो लोग कहते हैं इन चीजों की चिंता मत करो. उनका कोई विजन नहीं है. एमसीडी में 13 साल से हैं लेकिन कुछ नहीं किया. एजेंडा तो है नहीं जो बोलना चाहते हैं बोल दो. मुझे नहीं लगता कि उनके घर वाले भी साथ देते होंगे. बेचारे क्या करें? उनको ऐसा बोलने को कहा जाता है.

हर्षिता- ये नया 'लो' है. थोड़ा सोचकर बोलिए कि क्या बोलना है. दिल्ली सरकार के स्कूलों में जा रहे बच्चों को, मोहल्ला क्लीनिक में इलाज करने वालों और तीर्थ यात्रा पर जा रहे लोगों को क्या फील हुआ होगा? मैग्सेसे अवार्ड के पैसे भी उन्होंने दान कर दिया. आप उस इंसान को आतंकवादी बोल रहे हो. दुख तो होगा ही. सोशल मीडिया पर देखते हैं. एनर्जी लो होती है. लेकिन जनता में जाते हैं तो हौसला बढ़ता है. लोग कहते हैं कि इनको बोलने दीजिए. इनके पास मुद्दे नहीं है बोलने के लिए.

विपक्ष की तरफ से एंटी हिंदू छवि बनाने की कोशिशसुनीता केजरीवाल- हम धर्म मानते हैं, दिखाते नहीं. हिंदू में कोई कृष्ण, कोई राम तो कोई हनुमान को मानता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि जगह-जगह जाकर गाते हैं कि मैं किस को मानता हूं. लेकिन कल उनको सवाल किया गया, वह निकल कर आ गई बात लेकिन क्या बताना है अपनी श्रद्धा है. धर्म दिखावे के लिए नहीं होता. घर के सब फेस्टिवल मनाते हैं. व्यक्तिगत पूजा होती है. ईमानदारी जैसे मूल्यों पर काम होता है. लेकिन दूसरे पर लांछन लगाना नहीं सीखा ना कभी लगाएंगे.

हर्षिता- ये मुद्दा क्यों बन रहा है. इनके पास कोई मुद्दा या विजन नहीं है. ना सीएम उम्मीदवार है. इसलिए भटका रहे हैं. धर्म को चुनावी मुद्दा बना रहे हैं. ये श्रद्धा होती है, दिखावा नहीं होता.

साल 2015 के और अब प्रचार में क्या फर्क
हर्षिता- पहले पार्टी नई थी और लोग जानते नहीं थे. हम जाते थे और उनको समझाते कि हम क्या करेंगे. अभी पता है कि हमने क्या किया है. लोग कहते हैं छोड़िए हम आपके साथ हैं. वे (बीजेपी) चुनाव प्रचार में 200 सांसद लेकर आए हैं लेकिन हमारे साथ 2 करोड़ जनता है.

परिवारवाद पर राय 
हर्षिता- बिल्कुल नहीं है. मैं अन्य लोगों की तरह एक वालेंटियर हूं. सबलोग छुट्टी लेकर आए हैं. जिन्हें विश्वास है कि ये आगे लेकर जाएंगे.

केजरीवाल की बीमारी चुनाव में मुद्दा बनने पर प्रतिक्रिया
सुनीता केजरीवाल- मेरी यह प्रार्थना है कि उनको बीमारी न हो. सब स्वस्थ रहें. वह (केजरीवाल) दिन-रात अपना ध्यान नहीं रखते. अपने शरीर से ज्यादा वह काम करते हैं, इसलिए बीमारी लगी है. जो लोग थोड़ा सा भी ज्यादा स्ट्रेस लेते हैं, उन्हें इस तरह की बीमारी होती है. बीमारी का मजाक उड़ाना दुर्भाग्य है.

चुनाव में क्या मुद्दे होने चहिए
सुनीता केजरीवाल- दिल्ली का विकास अहम है. दिल्ली ने 5 साल देखे हैं. बीजेपी नारा दे रही है कि देश सुधारा है और दिल्ली सुधारेंगे. मेरा कहना है कि क्या दिल्ली देश में नहीं है? लोगों को विकास से मतलब है.

कितनी सीटों की उम्मीद है?
हर्षिता- इस बार 70 है. 99 फीसदी लोग कह रहे हैं कि काम के ऊपर वोट देंगे. लोग बहुत पॉजिटिव है. लोगों की बेसिक जरूरतें पूरी हुई हैं.

महिला सुरक्षा पर सुझाव 
हर्षिता- सीसीटीवी लग रहे हैं. डार्क स्पॉट कम हो रहे हैं. बस मार्शल को लेकर महिलाएं बहुत पॉजिटिव हैं. मोहल्ला मार्शल का सुझाव मिला था, जिसे घोषणापत्र में शामिल किया गया है.

चुनाव लड़ने की संभावना पर
सुनीता केजरीवाल- नहीं. घर से एक आदमी काफी है.

(रिपोर्ट- जावेद)

ये भी पढ़ें-

शाहीन बाग फायरिंग: पुलिस का दावा- AAP का कार्यकर्ता है कपिल, परिवार का इनकार

नगमा बोलीं- दिल्ली में गोलियां चलने के लिए अनुराग ठाकुर जिम्मेदार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 2:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर