• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • धर्मांतरण मामले में विहिप ने जताई नाराजगी, अमित शाह से करेंगे कानून बनाने की मांग

धर्मांतरण मामले में विहिप ने जताई नाराजगी, अमित शाह से करेंगे कानून बनाने की मांग

सुरेंद्र जैन ने कहा कि वे अमित शाह से मुलाकात कर मंदिरों को भी सरकार के कब्जे से छुड़वाने की बात करेंगे.

सुरेंद्र जैन ने कहा कि वे अमित शाह से मुलाकात कर मंदिरों को भी सरकार के कब्जे से छुड़वाने की बात करेंगे.

Uttar Pradesh के लखीमपुर में हुए धर्मांतरण मामले में विहिप के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन ने कहा- सीएम योगी आदित्यनाथ के समक्ष भी उठाया जाएगा ये मुद्दा, दोषियों पर होनी चाहिए कड़ी कार्रवाई.

  • Share this:

नई दिल्ली. उत्तरप्रदेश के लखीमपुर के दुधवा नेशनल पार्क में रहने थारू समाज के लोगों के धर्मांतरण मामले में विश्व हिंदू परिषद ने कड़ी आपत्ति जताई है और इस मामले को लेकर उन्होंने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष ये मुद्दा उठाने की बात भी कही. इसके अलावा विहिप ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात का वक़्त मांगा है और मुलाकात में धर्मांतरण पर केंद्रीय कानून बनाने की मांग करने की बात कही है.

विहिप के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन ने कहा कि ये धर्मांतरण का मामला बहुत गंभीर है इस्लामिक और ईसाई मिशनरी लगातार पूरे देशभर में धर्मांतरण का काम कर रहे है. लखीमपुर के दुधवा नेशनल पार्क में चल रहा धर्मांतरण का मामला बहुत गंभीर है और हम इस मुद्दे को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ भी उठाएंगे और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने की मांग करेंगे.

केंद्रीय कानून की जरूरत
इसके साथ साथ सुरेंद्र जैन ने बताया कि उन्होंने धर्मांतरण के मामले को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से भी समय मांगा है. विहिप का एक डेलिगेशन गृहमंत्री से मुलाकात करेगा. इसके साथ साथ धर्मांतरण के मामले को लेकर केंद्रीय कानून बनाने की मांग भी करेंगे. सुरेंद्र जैन ने बताया कि धर्मांतरण पर अब सिर्फ राज्यों द्वारा कानून बनाना पर्याप्त नहीं है. अब केंद्रीय कानून की जरूरत है. सरदार पटेल ने कहा था कि धर्मांतरण पर कानून बनना चाहिए और हमें विश्वास है कि सरदार पटेल का सपना प्रधानमंत्री नरेंद्र मादी जरूर पूरा करेंगे.

मंदिरों को सरकारी कब्जे से मुक्त करना होगा
इसके साथ ही विहिप महामंत्री ने बताया कि गृहमंत्री अमित शाह से हम देशभर के सभी मंदिरों को सरकारी कब्जे से मुक्त करने के लिए कानून बनाने की मांग भी करेंगे. इसके पीछे उन्होंने कारण बाताया कि सरकारों का काम मंदिर चलाना नहीं, मंदिर समाज का होता है और उसे समाज को ही चलाने देना चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज