Home /News /delhi-ncr /

visa case congress mp karti chidambaram moves delhi hc for anticipatory bail nodvm

चीनी वीजा केस: कार्ति चिदंबरम ने अग्रिम जमानत के लिए खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा

 चीनी वीजा मामले में कार्ति चिदंबरम अग्रिम जमानत के लिए  दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचे.

चीनी वीजा मामले में कार्ति चिदंबरम अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचे.

Visa case: चीनी वीजा मामले में कार्ति चिदंबरम अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचे. उन्होंने राऊज एवन्यू स्पेशल कोर्ट के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी है. बता दें कि इस मामले में दिल्ली के स्पेशल कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम की अग्रिम जमानत वाली याचिका खारिज कर दी थी. अब दिल्ली हाईकोर्ट सोमवार को उनकी अर्जी पर सुनवाई कर सकती है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कथित चीनी वीजा मामले में अग्रिम जमानत के लिए कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. उन्होंने राऊज एवन्यू स्पेशल कोर्ट के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी है. दरअसल, चीनी वीजा वाले विवाद में दिल्ली के स्पेशल कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम की अग्रिम जमानत वाली याचिका खारिज कर दी थी. अब कीर्ति की अर्जी पर दिल्ली हाईकोर्ट सोमवार को सुनवाई कर सकती है.

बता दें कि कथित वीजा घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में शुक्रवार को सीबीआई की एक अदालत ने चिदंबरम और दो अन्य की की अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज कर दी. कोर्ट ने पिछले सप्ताह दलीलें सुनने के बाद अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था. कार्ति चिदंबरम, एस भास्कर रमन और विकास मखरिया की अग्रिम जमानत याचिकाओं पर 3 जून के लिए आदेश सुरक्षित रखा था.

मनी लॉड्रिंग केस में फंसे हैं कार्ति 

सीबीआई की प्राथमिकी में कहा गया है कि यह मामला 263 चीनी कर्मियों को दोबारा वीजा जारी करने के लिए वेदांता समूह की कंपनी तलवंडी साबो पावर लिमिटेड (टीएसपीएल) के एक शीर्ष अधिकारी द्वारा कार्ति चिदंबरम और उनके करीबी एस भास्कररमन को कथित तौर पर 50 लाख रुपये की रिश्वत दिए जाने के आरोपों से संबंधित है.

 एजेंसी ने इस मामले में भास्कर रमन को पहले ही गिरफ्तार किया 

दरअसल, टीएसपीएल पंजाब में एक बिजली संयंत्र स्थापित कर रही थी और ये 263 चीनी नागरिक उस परियोजना का हिस्सा थे. एजेंसी ने इस मामले में भास्कररमन को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है. प्राथमिकी के मुताबिक, बिजली संयंत्र स्थापित करने का काम चीनी कंपनी कर रही थी और यह परियोजना तय अवधि से काफी पीछे चल रही थी. इसमें कहा गया है कि टीएसपीएल के एक अधिकारी ने चीनी कर्मचारियों के लिए दोबारा वीजा जारी करने के एवज में कथित तौर पर 50 लाख रुपये की रिश्वत दी थी.

हालांकि, कार्ति चिदंबरम ने सभी आरोपों का खंडन किया है. उन्होंने मामले को फर्जी और राजनीति प्रतिशोध का परिणाम करार दिया है.

Tags: Congress, Karti Chidambaram

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर