नोएडा में धर्मांतरण मामलाः अब विहिप ने केंद्र सरकार से उठाई कानून बनाने की मांग

नोएडा में सामने आया धर्मांतरण का मामला अब तूल पकड़ता दिख रहा है.

Noida में 1 हजार से ज्यादा लोगों का धर्म परिवर्तन का मामला सामने आने के बाद विहिप ने की आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग. इसके साथ ही केंद्र से कानून लाने का का भी किया आग्रह.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के जामिया नगर से दो लोगों की गिरफ्तारी के बाद धर्मांतरण (conversion) करवा रहे एक बड़े गिरोह का पता चला. इसके सा‌थ ही ये भी पता चला कि नोएडा में इन लोगों ने एक 1 हजार से ज्यादा लोगों का धर्म परिवर्तन कर दिया है. मामला सामने आने के बाद अब विवाद बढ़ता जा रहा है. विश्व हिंदू परिषद ने मामले में कड़ी कार्रवाई करने की अपील की है. साथ ही विहिप ने एक बड़ी मांग भी केंद्र सरकार के सामने रख दी है. विहिप ने केंद्र से आग्रह किया है कि धर्मांतरण के संबंध में एक कानून बनने की जरूरत है और इसे जल्द से जल्द लागू भी किया जाना चाहिए.

विदेशों से हो रही फंडिंग
विहिप के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैने ने कहा कि जिस तरह से धर्मांतरण का ये मामला सामने आया है उससे एक बात तो साफ है कि ऐसे न जाने कितने मामले देशभर में चल रहे होंगे. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को फंडिंग विदेश से हो रही है. साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि देश में भी मुस्लिम समुदाय का एक बड़ा धड़ा इनका समर्थन करता है. उन्होंने मांग की कि ऐसे सभी मामलों की संघनता से जांच होनी चाहिए .



कानून बनाने की मांग
सुरेंद्र जैन ने बताया कि वेणुगोपाल कमीशन हो या संविधान सभा के कुछ सदस्य, सभी ने धर्मांतरण पर एक कानून बनाने की मांग की थी. अब इस मामले से साफ है और समय की मांग भी है कि धर्मांतरण पर एक केंद्रीय कानून लाने पर विचार होना चाहिए. क्योंकि धर्मांतरण के चलते देश पहले ही एक बार विभाजन का दंश झेल चुका है.

होगी कड़ी कार्रवाई
इस पूरे मामले पर उत्तरप्रदेश सरकार एक दम सतर्क हो गई है और दोषियों में कड़ी कार्रवाई करने की बात कर रही है. योगी सरकार दोषियों पर NSA के तहत कार्रवाई करने जा रही है. केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान ने भी इसके पीछे की फंडिंग की जांच की मांग की है. आप नेता अमानतुल्लाह खान के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए बाल्यान ने कहा कि विपक्षी पार्टी मुस्लिम वोट के लिए तुष्टीकरण करती रहती हैं लेकिन अब हमारी सरकार इस मामले पर कड़ी कार्रवाई करेगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.