हथिनीकुंड बैराज से छोड़ा गया है पानी, क्या दिल्ली में भी बाढ़ जैसे हालात पैदा होने वाले हैं?
Delhi-Ncr News in Hindi

हथिनीकुंड बैराज से छोड़ा गया है पानी, क्या दिल्ली में भी बाढ़ जैसे हालात पैदा होने वाले हैं?
दिल्ली सरकार ने भी यमुना के साथ लगते इलाकों में रहने वाले लोगों को अलर्ट कर दिया है

हरियाणा (Haryana) के हथनीकुंड बैराज (Hathnikund Barrage) से 1 लाख 43 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा गया है. हथनीकुंड बैराज से इतनी मात्रा में पानी छोड़े जाने के बाद दिल्ली (Delhi) में यमुना(Yamuna) के साथ लगते इलाकों में प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2019, 6:40 PM IST
  • Share this:
हरियाणा (Haryana) के हथनीकुंड बैराज (Hathnikund Barrage) से 1 लाख 43 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा गया है. हथनीकुंड बैराज से इतनी मात्रा में पानी छोड़े जाने के बाद दिल्ली (Delhi) में यमुना(Yamuna) के साथ लगते इलाकों में प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है. हथनीकुंड में यमुना नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. हथनीकुंड बैराज से छोड़ा गया पानी दिल्ली में अगले 72 घण्टों में पहुंचेगा.

दिल्ली सरकार ने भी यमुना के साथ लगते इलाकों में रहने वाले लोगों को अलर्ट कर दिया है. यमुना के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी के बाद दिल्ली-एनसीआर के कई निचले इलाकों को खाली करा लिया गया है. इन इलाकों में पानी अंदर तक घुस गया है.

कैचमेन्ट एरिया में लगातार हो रही बारिश से यमुना नदी का जलस्तर बढ़ता ही जा रहा है.




बता दें कि पिछले कुछ दिनों से कैचमेन्ट एरिया में लगातार हो रही बारिश से यमुना नदी का जलस्तर बढ़ता ही जा रहा है. दिल्ली से सटे इलाकों में लगातार हो रही बारिश के कारण एक बार फिर यमुना में पानी बढ़ने से बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. हरियाणा के हथनीकुंड बैराज का जलस्तर बढ़ गया है, जिस कारण एक लाख 43 हजार क्यूसेक पानी यमुना में छोड़ा गया है. अगले 72 घंटों में हथनीकुंड से छोड़ा गया पानी दिल्ली पहुंच जाएगा.
देश के कई राज्यों में भारी बारिश से बाढ़ आ गई है.


बता दें कि देश के कई राज्यों में भारी बारिश से बाढ़ आ गई है. गृह मंत्रालय के नेशनल इमर्जेंसी रिस्पांस सेंटर (एनईआरसी) के मुताबिक बाढ़ और बारिश के कारण केरल, महाराष्ट्र और गुजरात में 100 से भी ज्यादा लोगों की जान चली गई हैं.

यमुना के जलस्तर में तेजी के बाद भारतीय रेलवे भी कई पैसेंजर और सुपर फास्ट ट्रेनों के रूटों में परिवर्तित कर सकती है. दिल्ली सरकार भी निचले इलाकों में रह रहे लोगों को सुरक्षित जगह पर भेजने का काम कर रही है. अधिक से अधिक लोगों को दूसरी जगहों पर शिफ्ट किया जा रहा है. खासकर वजीराबाद, शास्त्री पार्क, गांधी नगर, ओखला, सोनिया विहार सहित कई निचले इलाकों में रह रहे लोगों को अगर जलस्तर बढ़ेगा तो खाली पड़ाना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें: 

सावधान! मिलावटी निवाला खिलाया तो जिंदगी भर काटेंगे जेल, सख्त हुई मोदी सरकार

उन्नाव रेप पीड़िता सीरियस ब्लड इंफेक्शन से जूझ रही है, लेकिन हालत स्थिर

उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की हिरासत में मौत के मामले में कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ आरोप तय

यूपी की सड़कों पर नमाज पढ़ने या आरती करने पर लगेगा प्रतिबंध, लागू होगा अलीगढ़, मेरठ 'मॉडल'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज