Delhi News: झुग्गी बस्तियों में पानी की किल्लत, उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मांगी रिपोर्ट

दिल्ली में पानी की कमी पर उप राज्यपाल अनिल बैजल ने मांगी रिपोर्ट. (FIle)

Water Scarcity in Delhi: दिल्ली में पानी की कमी की खबर मिलने के बाद अब उपराज्यपाल अनिल बैजल ने जलबोर्ड के अलावा नई दिल्ली म्युनिसिपल कारपोरेशन(NDMC) से रिपोर्ट मांगी है. 

  • Share this:
दिल्ली. मानसून (Monsoon 2021) की दस्तक के बीच दिल्ली में पानी की कमी की बात सामने आ रही है. खासकर झुग्गी बस्तियों में पानी की किल्लत सामने आई थी. शिकायत मिलने के बाद अब उपराज्यपाल इस मुद्दे पर एक्टिव हो गए हैं. सूत्रों के मुताबिक, उपराज्यपाल अनिल बैजल ने जलबोर्ड के अलावा नई दिल्ली म्युनिसिपल कारपोरेशन(NDMC) इलाक़े में और खास तौर पर इस इलाक़े की झुग्गियों में पानी की किल्लत पर रिपोर्ट मांगी है.  इसके साथ ही पानी के मुद्दे पर उपराज्यपाल अनिल बैजल ने की उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से भी बात की है.  राजधानी दिल्ली में पानी की किल्लत सामने आने के बाद उपराज्यपाल खुद स्थिति पर नज़र रखे हुए है. साथ ही समयबद्ध एक्शन प्लान देने को भी उपराज्यपाल ने कहा है.

इधर, दिल्ली में कोरोना वायरस की दूसरी लहर में बहुत से बच्चों ने अपने पेरेंट्स को खो दिया है. इस तरह के बच्चों के लिए दिल्ली सरकार ने जहां फिलहाल दो आइसोलेशन एवं क्वारंटाइन सेंटर बनाए हुए हैं. वहीं, बच्चों का अच्छे से ख्याल रखने के लिए सभी चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूशंस  में भी आने वाले समय में आइसोलेशन सेंटर बनाने की तैयारी भी की है. ऐसा कोरोना की संभावित थर्ड वेव को लेकर किया जा रहा है. दिल्ली सरकार का महिला एवं बाल विकास विभाग स्वास्थ्य विभाग के साथ लगातार कोआर्डिनेशन बनाकर और मीटिंग करके आने वाले समय में बच्चों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए बड़ी तैयारियों में जुटा हुआ है. महिला व बाल विकास विभाग के अंतर्गत राजधानी में 26 सरकारी और 75 एनजीओ की ओर से चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूशंस संचालित हो रहे हैं.

सरकार ने शुरू की कार्रवाई


दिल्ली में 25 जून तक मानसून के आने की संभावना है. ऐसे में जलजनित बीमारियों की रोकथाम के लिए दिल्ली की सिविक एजेंसी भी पुरजोर कोशिश में जुटी हुई है. खासकर डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों की रोकथाम के लिए साउथ दिल्ली नगर निगम ने सख्त कार्रवाई शुरू कर दी है. एसडीएमसी ने अपनी कार्रवाई के दौरान 20 ऐसे सरकारी संस्थानों के परिसरों में मच्छरों का प्रजनन पाए जाने पर कानूनी नोटिस जारी किए हैं. अब तक एसडीएमसी ने मच्छर प्रजनन पाए जाने पर 625 चालान किए हैं. वहीं, 2,580 जगह पर अब तक कानूनी नोटिस जारी किए जा चुके हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.