Home /News /delhi-ncr /

weather news there is no forecast of heatwave in delhi for the next one week says imd

दिल्लीवालों पर मौसम मेहरबान, अभी इतने दिनों तक नहीं चलेगी लू, जानें IMD का अलर्ट


दिल्ली में अभी एक सप्ताह लू नहीं चलेगी: IMD  ( फाइल फोटो)

दिल्ली में अभी एक सप्ताह लू नहीं चलेगी: IMD ( फाइल फोटो)

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज यानी बुधवार को भी आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने की भविष्यवाणी की गई है. इतना ही नहीं, दिल्ली का तापमान आज भी कम रहेगा.

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाके में बीते दिनों हुई बारिश का असर अब भी मौसम पर साफ देखा जा सकता है. दिल्ली में बारिश की वजह से बीते तीन-चार दिनों से दिल्लीवालों को चिलचिलाती गर्मी से राहत मिली है. राष्ट्रीय राजधानी में आज यानी बुधवार को भी आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने की भविष्यवाणी की गई है. इतना ही नहीं, दिल्ली का तापमान आज भी कम रहेगा.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी है कि राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है. मौसम विभाग ने अगले तीन से चार दिनों में तापमान में मामूली वृद्धि होने का अनुमान व्यक्त किया है, इस दौरान तापमान 41 डिग्री सेल्सियस तक रह सकता है, लेकिन अगले एक सप्ताह तक लू चलने का कोई पूर्वानुमान नहीं है.

दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक सुबह दस बजे 137 रहा. मंगलवार को 134 दिनों बाद शहर के निवासियों ने सबसे स्वच्छ हवा (24 घंटे एक्यूआई 89) में सांस ली. गौरतलब है कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच एक्यूआई ‘गंभीर’ माना जाता है.

बता दें कि रविवार और सोमवार की बारिश ने दिल्लीवालों को गर्मी से राहत दी थी. इस दौरान सड़कों पर एनसीआर के अलग-अलग इलाकों में जलजमाव भी हो गया था. इतना ही नहीं, दिल्ली में सैकड़ों पेड़ गिर गए थे और विमान सेवा पर भी बारिश और आंधी का असर देखने को मिला था.

Tags: Delhi news, Delhi weather

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर