अपना शहर चुनें

States

Weather Update: दिल्ली में फिर चल सकती है शीतलहर, बेहद घना कोहरा छाने का भी अनुमान

 शहर में अगले दो-तीन दिन तक शीतलहर चलने का अनुमान है. (सांकेतिक फोटो)
शहर में अगले दो-तीन दिन तक शीतलहर चलने का अनुमान है. (सांकेतिक फोटो)

Weather Update: भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि अधिकतम तापमान के लगभग 16 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है.

  • Last Updated: January 25, 2021, 11:22 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में अगले दो-तीन दिन में न्यूनतम तापमान के चार डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान है. तथा यहां फिर शीतलहर (Cold Wave) चल सकती है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि अधिकतम तापमान के लगभग 16 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है. इस दौरान घने से बेहद घना कोहरा भी छा सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘ बर्फ से ढके पश्चिमी हिमालय से आने वाली बफीर्ली हवाओं से तापमान के चार डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने और शहर में अगले दो-तीन दिन तक शीतलहर चलने का अनुमान है.’’

आईएमडी मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान के चार डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने पर शीत लहर और न्यूनतम तापमान के दो डिग्री सेल्सियस या उससे कम होने पर भीषण शीत लहर की घोषणा कर देता है. न्यूनतम तापमान सोमवार को 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. दिल्ली में रविवार को अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो कि इस महीने में अभी तक का सबसे कम अधिकतम तापमान था.

धुएं से स्मॉग का खतरा भी बढ़ गया है
वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि कानपुर पर्यावरण प्रदूषण ने सबकी चिंता बढ़ा दी है. ठंड में घने कोहरे के साथ ही प्रदूषण का स्तर भी बढ़ा है. साथ ही वाहनों का बढ़ता दबाव और चल रहे निर्माण कार्यों से वातावरण में हानिकारक गैसों और धूल के बारीक कण घुल गए हैं, जिससे लोगों को सांस लेने में भी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है. लगातार मौसम में बदलाव की वजह से अब कोहरे व धुएं से स्मॉग का खतरा भी बढ़ गया है. पिछले सात दिन में पीएम-2.5 की मात्रा 300 से लेकर 400 माइक्रोग्राम प्रति मीटर क्यूब से अधिक पाई गई हैसुबह के वक्त घने कोहरे के चलते पर्यावरणविद् आने वाले दिनों में स्मॉग की आशंका जता रहे हैं.  पर्यावरणविद इसे खतरे की घंटी मान रहे हैं और सुबह के वक्त घने कोहरे के चलते आने वाले दिनों में स्मॉग की आशंका जता रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज