Rain in Delhi-NCR: दिल्ली और नोएडा में खूब चमकी बिजली और गरजे बादल, जमकर बारिश

Rain in Delhi-NCR: दिल्ली-एनसीआर में रविवार को खूब बरसे बदरा. (सांकेतिक फोटो)

Rain in Delhi-NCR: दिल्ली-एनसीआर में रविवार को खूब बरसे बदरा. (सांकेतिक फोटो)

Rain in Delhi-NCR: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उससे सटे NCR के इलाकों में रविवार की सुबह जमकर हुई बारिश. नोएडा (Noida) में सुबह की शुरुआत जबर्दस्त बारिश से हुई. यह लगातार दूसरा दिन है जबकि दिल्ली-एनसीआर में बारिश हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2021, 6:55 AM IST
  • Share this:

नोएडा. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में रविवार की सुबह बादलों की गर्जना के साथ हुई तेज बारिश (Rain in Delhi-NCR) ने मौसम को और ठंडा कर दिया है. नोएडा (Noida) में सुबह की शुरुआत जबर्दस्त बारिश से हुई. यह लगातार दूसरा दिन है जबकि दिल्ली-एनसीआर में बारिश हुई है. बारिश की वजह से सर्दी का प्रकोप और बढ़ गया है. बिजली चमकने और बादलों की गर्जना के साथ तेज बारिश ने मौसम को और सर्द कर दिया है.

इससे पहले शनिवार को भी दिल्ली से सटे आसपास के नोएडा और गाजियाबाद में बारिश हुई. मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने पूर्वानुमान में बताया कि पश्चिमी विक्षोभ का असर दिल्ली सहित उत्तर पश्चिम भारत के कई इलाकों में देखा जा रहा है. इसी वजह से दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत कई अन्य स्थानों पर मौसम में बदलाव महसूस किया जा रहा है. शनिवार को दिल्ली के अलग-अलग इलाकों और एनसीआर में बारिश हुई.

नाइट शेल्‍टर होम बना सहारा

वहीं, देश की राजधानी दिल्‍ली में नए साल की पहली सुबह घने कोहरे की आगोश में हुआ था. आलम यह था कि कुछ दूर देखना भी मुश्किल हो गया. सुबह-सुबह वाहन चालकों को हेडलाइट जलाकर चलना पड़ा. ठंडक बढ़ने से शीतलहर की तरह की स्थिति उत्‍पन्‍न हो गई है. ऐसे में बच्‍चों और बुजुर्गों के स्‍वास्‍थ्‍य पर विशेष ध्‍यान रखने की सलाह दी गई है. घने कोहरे के कारण गाड़ियों को रेंग कर चलने पर मजबूर होना पड़ा. किसानों के प्रदर्शनस्‍थली सिंधु बॉर्डर पर भी सुबह घना कोहरा छाया रहा. मौसम विभाग ने पहले ही पारा गिरने का अनुमान जता चुका है. दिल्‍ली में इन दिनों कड़ाके की सर्दी पड़ रही है. ऐसे में नाइट शेल्‍टर होम बेसहारा लोगों के लिए एकमात्र सहारा है.
200 मीटर से कम विजिबिलिटी

वहीं, शुक्रवार को खबर सामने आई थी कि ठंड ने पिछले कई वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. नए साल के पहले दिन सफदरजंग ऑब्‍जर्वेटरी ने न्‍यूनतम तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया है. मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, साल 1935 के जनवरी महीने में तापमान सबसे कम -0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. भारतीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय प्रमुख कुलदीप श्रीवास्‍तव ने बताया कि शुक्रवार सुबह 6 बजे विजिबिलिटी शून्‍य थी. सुबह 10 बजे पालम और सफदरजंग इलाके में दृश्‍यता कुछ बढ़ी, लेकिन यह 200 मीटर से नीचे ही दर्ज किया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज