सप्‍ताह भर के लॉकडाउन से दिल्‍ली के बाजारों को रोजाना होगा 600 करोड़ का नुकसान!

लॉकडाउन के चलते दिल्ली के लगभग 100 से अधिक प्रमुख बाजार भी सप्‍ताह भर के ल‍िए बंद रहेंगे.

लॉकडाउन के चलते दिल्ली के लगभग 100 से अधिक प्रमुख बाजार भी सप्‍ताह भर के ल‍िए बंद रहेंगे.

Locdown in Delhi : एक मोटे अनुमान के अनुसार दिल्ली में लॉकडाउन की अवधि के दौरान प्रतिदिन लगभग 600 करोड़ रुपये का व्यापार नहीं होगा, जबकि देश के अन्य राज्यों में लॉकडाउन, आंशिक लॉकडाउन, रात्रि कर्फ्यू एवं अन्य बंदिशों के चलते प्रतिदिन लगभग 10 हजार करोड़ रुपये का व्यापार नहीं हो पा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2021, 2:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली : देश की राजधानी दिल्‍ली (Delhi) में कोविड के बेकाबू होने के चलते सोमवार को 6 दिन का पूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) लगाने की घोषणा कर दी गई है. कुछ रियायत और पाबंदियों के साथ लॉकडाउन लगाया गया है. लॉकडाउन के चलते दिल्ली के लगभग 100 से अधिक प्रमुख बाजार भी सप्‍ताह भर के ल‍िए बंद रहेंगे. हालांकि रोजमर्रा की जरूरत के सामान की दुकानों को रियायत और गाइडलाइन के साथ खुला रखने की इजाजत दी गई है. एक अनुमान के अनुसार, सप्‍ताह भर तक दिल्‍ली के बाजारों के बंद रहने से रोजाना करीब 600 करोड़ के व्‍यापार का नुकसान होगा.

दिल्ली में लॉकडाउन की अवधि में रोजाना करीब 600 करोड़ का व्यापार नहीं होगा!

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल कहते हैं कि एक मोटे अनुमान के अनुसार दिल्ली में लॉकडाउन की अवधि के दौरान प्रतिदिन लगभग 600 करोड़ रुपये का व्यापार नहीं होगा, जबकि देश के अन्य राज्यों में लॉकडाउन, आंशिक लॉकडाउन, रात्रि कर्फ्यू एवं अन्य बंदिशों के चलते प्रतिदिन लगभग 10 हजार करोड़ रुपये का व्यापार नहीं हो पा रहा है. उनका कहना है कि निर्यात की वस्तुओं के व्यापार पर भी बुरा असर पड़ा है, क्योंकि कोरोना के संक्रमण को रोकना जरूरी है, इसलिए व्यापारियों के पास भी बाजार बंद करने के अलावा दूर कोई रास्ता नहीं बचा है.

दिल्‍ली को पांच भागों में बांट नोडल अफसर नियुक्‍त करने की मांग
उन्‍होंने दिल्ली के उपराजयपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से आग्रह किया है कि वे दिल्ली को पांच भाग सेंट्रल, पूर्व, पश्चिम, उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली में बांटकर पांच नोडल अधिकारियों को नामांकित करें, जिनके साथ सहयोग करते हुए सभी जोन में कैट टीम के लोग आपूर्ति एवं अन्य कार्यों में सरकार के सहभागी बन सकें.

व्‍यापारी सभी आवश्‍यक वस्‍तुओं की आपूर्ति करेंगे

कैट महामंत्री ने 26 अप्रैल तक दिल्ली में लॉकडाउन लगाने की घोषणा को सही कदम बातते हुए कहा कि अब जब दिल्ली में लॉकडाउन घोषित हो गया है, ऐसे में दिल्ली के सभी व्यापारी संगठन अपनी ज़िम्मेदारियों के प्रति प्रतिबद्ध हैं और सरकार के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करेंगे और दूसरों को भी पालन करने के लिए प्रेरित करेंगे साथ ही उन्‍होंने आश्‍वासन दिया कि दिल्ली में सभी प्रकार से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जाएगी, जिससे आम लोगों को लॉकडाउन से कोई असुविधा न हो.



ये 100 से ज्‍यादा बाजार रहेंगे बंद

लॉकडाउन के बाद से आज दिल्ली के लगभग 100 से अधिक प्रमुख बाजार जैसे चांदनी चौक, सदर बाजार, करोल बाग, खारी बावली, भागीरथ प्लेस, चावड़ी बाजार, न्यू लाजपत राय मार्केट, पुरानी लाजपत राय मार्केट, दरीबा कलां, किनारी बाजार, अशोक विहार, लाल कुंआ, अजमेरी गेट, श्रद्धानन्द बाजार, दरियागंज, गांधी नगर, शांति मोहल्ला, जगतपुरी, कृष्णा नगर, पहाड़गंज, मुल्तानी ढांडा, मयूर विहार, तुग़लक़ाबाद, उत्तम नगर, जेल रोड, विकासपुरी, जनकपुरी के साथ ही पश्चिम विहार केमिकल मार्केट, साइकिल मार्केट, कंप्यूटर मीडिया बाजार, रबर और प्लास्टिक बाजार, कागज, लोहा और हार्डवेयर, सेनेटरीवेयर, मशीनरी, किराना, स्कूटर पार्ट्स, फोर व्हीलर पार्ट्स, मोरी गेट, गारमेंट्स, फर्निशिंग फैब्रिक, मोबाइल एसेसरीज, कन्फेक्शनर्स, स्टेशनर्स, ऑप्टिकल्स आदि वस्तुओं की एसोसिएशन के बाजार भी बंद रहेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज