Home /News /delhi-ncr /

पुलिस ने दिल्ली दंगों की तुलना 9/11 के आतंकी हमलों से की, उमर खालिद की बेल का किया विरोध

पुलिस ने दिल्ली दंगों की तुलना 9/11 के आतंकी हमलों से की, उमर खालिद की बेल का किया विरोध

दिल्ली पुलिस के वकील ने दिल्ली दंगों की तुलना अमेरिका में हुए आतंकी हमलों से की है, साथ ही उमर खालिद को इसका मुख्य साजिशकर्ता बताया है. (Photo-Twitter)

दिल्ली पुलिस के वकील ने दिल्ली दंगों की तुलना अमेरिका में हुए आतंकी हमलों से की है, साथ ही उमर खालिद को इसका मुख्य साजिशकर्ता बताया है. (Photo-Twitter)

Delhi Riots: JNU के पूर्व छात्र उमर खालिद और कई अन्य लोगों पर गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून (UAPA) के तहत मामला दर्ज किया गया और उन पर दंगों के ‘‘मास्टरमाइंड’’ होने का आरोप लगाया गया था. दंगों में 53 लोग मारे गए थे और 700 से अधिक घायल हो गए थे.

अधिक पढ़ें ...

नयी दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के वकील ने शुक्रवार को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्र उमर खालिद (Umar Khalid) की जमानत याचिका का विरोध करते हुए फरवरी 2020 के दंगों की कथित साजिश की तुलना अमेरिका में 9/11 के आतंकवादी हमले से की.

विशेष लोक अभियोजक अमित प्रसाद ने सुनवाई के दौरान खालिद पर साजिश रचने के लिए बैठक आयोजित करने और नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ प्रदर्शन स्थल की निगरानी करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि धर्मनिरपेक्ष विरोध को एक ‘‘मुखौटा’’ बनाकर कहीं भी प्रदर्शन की योजना बनाई गई और उसका परीक्षण किया गया.

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत के समक्ष उमर की जमानत याचिका का विरोध करते हुए अभियोजक ने कहा, ‘‘9/11 होने से ठीक पहले, इसमें जुड़े सभी लोग एक विशेष स्थान पर पहुंचे और प्रशिक्षण लिया. उससे एक महीने पहले वे अपने-अपने स्थानों पर चले गए. इस मामले में भी यही चीज हुई है.’’

9/11 प्रकरण का संदर्भ बहुत प्रासंगिक: दिल्ली पुलिस का पक्ष

उन्होंने आगे कहा, ‘‘9/11 प्रकरण का संदर्भ बहुत प्रासंगिक है। 9/11 के पीछे जो व्यक्ति था, वह कभी अमेरिका नहीं गया. मलेशिया में बैठक कर साजिश की गई थी. उस समय वाट्सऐप चैट उपलब्ध नहीं थे. आज हमारे पास दस्तावेज उपलब्ध हैं कि वह समूह का हिस्सा था. यह दिखाने के लिए आधार है कि हिंसा होने वाली थी.’’

दिल्ली पुलिस के वकील ने अदालत से आगे कहा कि 2020 के विरोध प्रदर्शन का मुद्दा सीएए या राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) नहीं बल्कि सरकार को शर्मिंदा करने और ऐसे कदम उठाने का था कि यह अंतरराष्ट्रीय मीडिया में सुर्खियों में आ जाए. सुनवाई की आखिरी तारीख पर अभियोजक ने अदालत को बताया कि सभी विरोध स्थलों को मस्जिदों से निकटता के कारण चुना गया था, लेकिन इसे एक मकसद से धर्मनिरपेक्षता का नाम दिया गया था.

उमर खालिद पर लगे हैं दिल्ली दंगे का मास्टरमाइंड होने के आरोप

उमर खालिद और कई अन्य लोगों पर गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून (UAPA) के तहत मामला दर्ज किया गया और उन पर दंगों के ‘‘मास्टरमाइंड’’ होने का आरोप लगाया गया था. दंगों में 53 लोग मारे गए थे और 700 से अधिक घायल हो गए थे.

Tags: Delhi riots, Delhi riots case, Umar khalid, Umar Khalid bail plea

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर