क्‍या सागर की पोस्‍टमार्टम र‍िपोर्ट से बढ़ेंगी पहलवान सुशील कुमार की मुश्‍क‍िलें ? जानें क्‍या है मौत की असली वजह

सागर धनकड़ की पोस्‍टमार्टम की र‍िपोर्ट सामने आ गई है.

सागर धनकड़ की पोस्‍टमार्टम की र‍िपोर्ट सामने आ गई है.

Delhi News: पहलवान सागर धनकड़ की पोस्टमार्टम र‍िपोर्ट में खुलासा हुआ है कि किसी ब्लंट-ऑब्जेक्ट से उस पर वार किया गया, क्योंकि शरीर और 1 से 4 सेंटीमीटर के गहरे जख्म मौजूद थे. ये जख्म इतने गहरे थे कि हड्डियों तक चोट पहुंची थी. छाती और पीठ पर 5×2 cm और पीठ पर 15x4 cm के ज़ख्म पाये गए.

  • Share this:

पहलवान सागर धनकड़ की मौत के मामले में आरोपी ओलंपिक पुरस्कार विजेता कुश्ती खिलाड़ी सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम मंगलवार को क्राइम सीन को र‍िक्र‍िएट करने के ल‍िए दोबारा से छत्रसाल स्टेडियम लेकर गई. वहीं इस मामले में सागर धनकड़ की पोस्‍टमार्टम की र‍िपोर्ट सामने आ गई है. इसमें पहलवान की मौत की वजह का भी पता चल गया है, ज‍िससे इस केस में आगे सुशील कुमार की मुश्‍किलें बढ़ सकती हैं.

पहलवान सागर धनकड़ को पांच मई की आधी रात करीब 2 बजकर 52 मिनट पर पहले छत्रसाल स्‍टेड‍ियम के पास के अस्पताल बीजेआरएम हॉस्पिटल ले जाया गया और उसके बाद उसे ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां सुबह सवा 7 बजे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. सागर की पोस्‍टमार्टम र‍िपोर्ट में उसके शरीर पर कई जगह चोट के नीले निशान म‍िले. उसके स‍िर से लेकर घुटने तक चोट के निशान पाए गए हैं.

पोस्टमार्टम र‍िपोर्ट में खुलासा हुआ है कि किसी ब्लंट-ऑब्जेक्ट से उस पर वार किया गया, क्योंकि शरीर और 1 से 4 सेंटीमीटर के गहरे जख्म मौजूद थे. ये जख्म इतने गहरे थे कि हड्डियों तक चोट पहुंची थी. छाती और पीठ पर 5×2 cm और पीठ पर 15x4 cm के ज़ख्म पाये गए. जहांगीर पूरी के बीजेआरएमएच अस्‍तपता के डॉक्टर मुनीश वधावन की रिपोर्ट के मुताबिक, विसरा और ब्लड सैंपल जांच के लिए सीलबंद कर दिए गए हैं.

मौत की वजह
सिर पर किसी ब्लंट ऑब्जेक्ट से वार करने की वजह से पहलवान सागर धनकड़ की मौत हुई है. डॉक्टरों की राय है कि शरीर पर पाए गए सभी चोट के निशान मौत से पहले के हैं.

क्राइम सीन क‍िया गया र‍िक्र‍िएट

द‍िल्‍ली पुल‍िस के अधिकारियों ने बताया कि टीम सुबह के वक्त क्राइम सीन यानी छत्रसाल स्‍टेड‍ियम पर गई थी और दोपहर तक वहां से लौट आई. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘मामले की जांच कर रही पुलिस की अपराध शाखा के अधिकारियों का दल जांच के सिलसिले में छत्रसाल स्टेडियम गया था. घटना वाले दिन अपराध किन परिस्थितियों में हुआ यह जानने के लिए तथा अपराध दृश्य की पुनर्रचना करने के लिए सुशील कुमार को भी घटनास्थल पर ले जाया गया.’



सुशील से सोमवार को चार घंटे हुई थी पूछताछ

कुमार से सोमवार को भी करीब चार घंटे तक पूछताछ चली थी. अधिकारियों ने बताया कि वे इस मामले की जांच अलग कोण से कर रहे हैं. एक वरिष्ठ अधिकारी ने पहले बताया था कि कुमार से घटनाक्रम का पता लगाने के लिए सवाल किए गए, किन हालात में अपराध हुआ यह जानने का प्रयास किया गया और घटना के बाद वह कहां-कहां गए, यह पूछा गया. अधिकारी ने बताया था, ‘सुशील कुमार से उसके सहयोगियों और मित्रों के बारे में सवाल किए गए जिन्होंने घटना के बाद छिपने में उसकी मदद की.’’

उल्लेखनीय है कि चार और पांच मई की दरमियानी रात को छत्रसाल स्टेडियम में कुमार और उनके सहयोगियों के कथित हमले में 23 वर्षीय पहलवान की मौत हो गई और उसके दो दोस्त घायल हो गए थे। घटना के पीछे वजह मॉडल टाउन इलाके में स्थित एक संपत्ति को लेकर हुआ विवाद बताया जा रहा है. इसके बाद सुशील कुमार तथा उनके सहयोगी अजय को दिल्ली के मुंडका से रविवार को गिरफ्तार किया गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज