Home /News /delhi-ncr /

ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों का 2000 मीटर तार चोरी, पहले भी कई बार हुई हैं ऐसी घटनाएं

ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर लगे सीसीटीवी कैमरों का 2000 मीटर तार चोरी, पहले भी कई बार हुई हैं ऐसी घटनाएं

तार चोरी होने से ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेसवे की नहीं हो पा रही है निगरानी
(सांकेतिक फोटो)

तार चोरी होने से ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेसवे की नहीं हो पा रही है निगरानी (सांकेतिक फोटो)

Eastern Peripheral Expressway- ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर सुरक्षा के लिए जगह-जगह लगाए गए CCTV Camera का तार चोरों ने उड़ा लिया है, इसलिए Expressway की निगरानी ठप हो गई है. जबकि त्‍योहारी सीजन में सबसे अधिक निगरानी की आवश्‍यकता होती है. एसपी ग्रामीण ने बताया कि NHAI की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. ईस्‍टर्न पेरीफेरल एक्‍सप्रेसवे (Eastern Peripheral Expressway) पर निगरानी के लिए जगह-जगह लगाए गए कैमरों (CCTV Camera) के तार चोरों ने चोरी कर लिए हैं, जिससे सीसीटीवी का नेवटर्क ब्रेक हो गया है और एक्‍सप्रेसवे की निगरानी नहीं हो पा रही है. यह घटना गाजियाबाद के मसूरी थाना क्षेत्र में हुई है. एनएचएआई (NHAI) के अनुसार, इससे पूर्व भी इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं. फिलहाल एनएचएआई की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

    नेशनल हाईवे अथारिटी ऑफ इंडिया (National Highway Authority of India) ने 135 किलोमीटर लंबे ईस्‍टर्न पेरीफेरल में सुरक्षा और निगरानी के लिए कुल 132 सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं. इन कैमरों का कंट्रोल रूम डासना, गाजियाबाद पर है. जहां से सुरक्षा एजेंसी की टीम बैठकर पूरे एक्‍सप्रेसवे की 24 घंटे निगरानी करती है. जरूरत पड़ने पर कंट्रोल रूम से ही एक्‍सप्रेसवे की सुरक्षा में तैनात गार्ड को मदद के लिए निर्देश दिए जाते हैं. सीसीटीसी कैमरों को कंट्रोल रूम से जोड़ने के लिए दो तरह के तार इस्‍तेमाल किए जाते हैं. फाइबर तार और तांबा तार. चोरों की नजर तांबे के तार पर होती है, क्‍योंकि इसकी कीमत बाजार में अच्‍छी मिलती है. मौजूदा समय त्‍योहारी सीजन चल रहा है, ऐसे समय सबसे अधिक सुरक्षा व्‍यवस्‍था की निगरानी की जरूरत है, लेकिन तार चोरी होने से कोई निगरानी नहीं हो पा रही है.

    2000 मीटर तार चोरी

    एनएचएआई के प्रोजेक्‍ट निदेशक मुदित गर्ग बताते हैं कि तार चोरी होने के बाद कैमरों को दोबारा से चालू करने में काफी समय लगता है. ये काफी तकनीकी काम होता है. इस तरह एक्‍सप्रेस वे पर कैमरों को दोबारा से चालू करने में समय लग जाएगा. चोरों ने एक्‍सप्रेसवेसे चार अलग-अलग स्‍थानों से करीब 2000 मीटर तार चोरी कर लिया है. एनएचएआई के अनुसार, इससे पहले भी सीसीटीवी कैमरों का तार चोरी किया जा चुका है, जिसकी शिकायत पुलिस को सौंपी जा चुकी है. डासना के आसपास के एरिया में भी सबसे अधिक तार चोरी होता है.

    मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की

    इस संबंध में एसपी ग्रामीण डा. ईराज रजा बताते हैं कि एनएचएआई की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है. जहां से तार चोरी हुआ है, वो एरिया आबादी से थोड़ा से दूर है. इसलिए पुलिस पेट्रोलिंग एक निर्धारित समय के अंतराल में होती है.

    Tags: CCTV, Ghaziabad News, National Highways Authority of India, NHAI

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर