White Fungus– व्हाइट फंगस से महिलाओ और बच्चों को अधिक खतरा, जानें कैसे बचा जा सकता है?

व्‍हाइट फंगस के लक्षण कोरोना जैसे

व्‍हाइट फंगस के लक्षण कोरोना जैसे

कोरोना की चपेट में आए मरीज खासकर महिलाओं और बच्‍चों  में व्‍हाइट फंगस (White Fungus) का खतरा अधिक रहता है. लेकिन कुछ सावधानी से इससे बचा जा सकता है.  

  • Share this:

गाजियाबाद. कोरोना (Corona) के दौरान ब्‍लैक फंगस (Black Fungus) के साथ-साथ व्‍हाइट फंगस (White Fungus) का खतरा बढ़ता जा रहा है. डॉक्‍टरों के अनुसार व्‍हाइट फंगस से महिलाओं (Women) और बच्‍चों (Children) को अधिक खतरा रहता है, जबकि ब्‍लैक फंगस बीमारी में ऐसा नही है. इसलिए इन लोगों को खास सावधानी बरतने की आवश्‍कता है. यह बीमारी फेफड़ों को प्रभावित करती है और कोरोना में भी इसी तरह लक्षण पैदा होते हैं.

गाजियाबाद में सरकारी अस्‍पतालों में फंगस का ट्रीटमेंट नहीं हो रहा है,  इसलिए मरीज निजी अस्‍पतालों  में इलाज करा रहे  हैं. सबसे ज्‍यादा मरीज हर्ष ईएनटी हास्पिटल में भर्ती हैं. यहां के निदेशक डॉक्‍टर बीपी त्‍यागी  मरीजों की रिपोर्ट की स्‍टडी कर बताते हैं कि यह बीमारी महिलाओं और बच्‍चों को अपनी चपेट में अधिक लेती है , इसके अलावा जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है. साथ  ही  मधुमेह व कैंसर के रोगी या जो लंबे समय से स्टेरॉयड ले रहे हैं, उन्हें विशेष ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि उनमें जोखिम अधिक होता है. व्‍हाइट फंगस उन कोरोनावायरस रोगियों को भी प्रभावित कर रहा है जो ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं. इस बीमारी में निमोनिया कोरोना की तरह होता है. अगर किसी मरीज को निमोनिया के दौरान कोरोना नेगेटिव है तो व्‍हाइट फंगस का निमोनिया हो सकता है. जिसके लक्षण कोरोना से मिलते जुलते हैं. लेकिन इसके इलाज में बहुत अंतर है. इसकी जांच करानी चाहिए. अगर समय से डायग्‍नोसिस हो जाए तो इलाज काले फ़ंगस से सस्ता होता है.

कैसे बचें

व्‍हाइट फंगस से बचने के लिए शरीर और अपने आसपास साफ सफाई रखना चाहिए, क्योंकि फ़ंगस आर्द्र स्थानों में बढ़ता है. बिना धुले फल, सब्जियां न खाएं, अधिक दिनों तक रेफ्रिजरेट किए गए खाने से बचना चाहिए. इसके अलावा लोगों को रोजाना अपने मास्क धोना चाहिए या नए मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए. नियमित रूप से ताजे फल खाएं, अपने घर में धूप आने दें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज