Delhi Unlock: बंद फैक्ट्रियों में काम शुरू, सरकार से लेबर के लिए ई-पास में मांगी छूट

अनलॉक के पहले दिन फैक्ट्रियों में काम करने पहुंचे कर्मचारी,

अनलॉक के पहले दिन फैक्ट्रियों में काम करने पहुंचे कर्मचारी,

पहले चरण में फैक्ट्री और निर्माण क्षेत्र से जुड़ी गतिविधियां शुरू हो गईं. दिल्ली के झिलमिल इंडस्ट्रियल एरिया के फ्रेंड्स कॉलोनी में भी कई छोटी बड़ी फैक्ट्रियां हैं, जहां अनलॉक के पहले दिन वर्कर काम करते दिखाई दिए. इस दौरान कई फैक्ट्रियों के बाहर सेनेटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग और मास्क की व्यवस्था की गई थी.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में सोमवार सेे अनलॉक की शुरुआत कर दी गई है. इसके पहले चरण में फैक्ट्री और निर्माण क्षेत्र से जुड़ी गतिविधियां शुरू हो गईं. दिल्ली के झिलमिल इंडस्ट्रियल एरिया के फ्रेंड्स कॉलोनी में भी कई छोटी बड़ी फैक्ट्रियां हैं, जहां अनलॉक के पहले दिन वर्कर काम करते दिखाई दिए. इस दौरान कई फैक्ट्रियों के बाहर सेनेटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग और मास्क की व्यवस्था की गई थी.

झिलमिल में फ्रेंड्स कॉलोनी इंडस्ट्रियल एरिया के चैयरमेन अनिल गुप्ता ने बताया कि तमाम प्रोटोकॉल के तहत सोमवार से फैक्ट्री शुरू हो गईं हैं. दिल्ली में एक लाख फैक्ट्री हैं. हमारी मांग है कि लेबर के लिए ई पास का जो प्रावधान रखा है उसमें कुछ छूट दी जाए. इसके अलावा लेबर को वैक्सीनेशन के लिए सरकार द्वारा विशेष कैम्प लगवाया जाए, जिसका भुगतान करने के लिए हम तैयार हैं. झिलमिल इलाके में मेटल और कॉपर की फैक्ट्री चलाने वाले विनीत जैन ने कहा कि फैक्ट्रीज में सभी नियमों का पालन किया जाएगा. जैन ने बताया कि सरकार ने कई नियम बनाये हैं, जिसमें कम क्षमता के साथ काम करना है. हमारे पास 15-20 लोगों का स्टाफ है. फिलहाल अभी 5-6 वर्कर ही काम कर रहे हैं.

दिल्ली में लगातार कम होते मामलों के बीच आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की है. इसके तहत कंटेन्मेंट जोन के बाहर फैक्ट्री और कंस्ट्रक्शन गतिविधियां शुरू करने की अनुमति दी गई है. दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 946 मामले सामने आए हैं और 78 मरीजों की मौत हुई है. दिल्ली में संक्रमण दर 1.25 फीसदी पर पंहुच गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज