Home /News /delhi-ncr /

जल्द ही देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल कॉरिडोर बनेगा यमुना एक्सप्रेसवे, जानिए प्लान

जल्द ही देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल कॉरिडोर बनेगा यमुना एक्सप्रेसवे, जानिए प्लान

जल्द ही यमुना एक्सप्रेसवे इलेक्ट्रिक व्हीकल कॉरिडोर बन जाएगा.  (file photo)

जल्द ही यमुना एक्सप्रेसवे इलेक्ट्रिक व्हीकल कॉरिडोर बन जाएगा. (file photo)

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में तेजी से इलेक्ट्रिक वाहनों का आंकड़ा बढ़ रहा है. यह आंकड़ा बताता है कि लोग प्रदूषण को लेकर अलर्ट हो रहे हैं, उन्हें अपने बच्चों के भविष्य की फिक्र है. गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) में भी इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढ़ी है. इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर दिल्ली-एनसीआर में सर्वे करने वाली एक कंपनी ने यह खुलासा किया है. साथ ही कंपनी ने इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicle) की बढ़ती संख्या को देखते हुए यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) पर 10 चार्जिंग स्टेशन की जरूरत बताई है. कंपनी का कहना है कि सर्वे में सामने आया है कि दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले लोग दूसरे शहरों की यात्रा बहुत करते हैं, इसलिए वो एक नई कार खरीदते वक्त दूसरे शहरों में उसके ईधन की उपलब्धता के बारे में भी सोचते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. जल्द ही यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) इलेक्ट्रिक व्हीकल कॉरिडोर (Electric vehicle corridor) बन जाएगा. इसके लिए जरूरी ट्रायल रन भी पूरे हो चुके हैं. चार्जिंग स्टेशन, सेवा और सहायता केन्द्र की जरूरतों का पता लगाने के लिए एक कंपनी की ओर से सर्वे भी पूरा हो चुका है. इसी साल मई में यमुना एक्सप्रेसवे होते हुए इंडिया गेट (India Gate) से आगरा (Agra) तक इलेक्ट्रिक व्हीकल का ट्रायल रन किया गया था. इस दौरान सिंगल चार्जिंग में 340 किमी तक इलेक्ट्रिक व्हीकल (Electric Vehicle) चले थे. सूत्रों की मानें तो 20 दिसम्बर से यमुना एक्सप्रेसवे को इलेक्ट्रिक व्हीकल कॉरिडोर बनाने के प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो जाएगा.

    यमुना एक्स्प्रेसवे पर खुलेंगे 10 चार्जिंग स्टेशन

    जानकारों की मानें तो दिल्ली-एनसीआर में इलेक्ट्रिक वाहनों के बारे में सर्वे करने वाली एडवांस सर्विसेज ऑफ डूइंग बिजनेस प्रोग्राम कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि यमुना एक्सप्रेस वे को कम से 10 इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन की जरूरत है. इसमे से एक-एक आगरा और ग्रेटर नोएडा की साइड और 4-4 चार्जिंग स्टेशन यमुना एक्सप्रेसवे के दोनों साइड होने चाहिए. जिससे की इलेक्ट्रिक वाहन चलाने वालों को ईंधन को लेकर किसी भी तरह की कोई परेशानी न आए.

    ग्रेटर नोएडा में चल रही है 100 चार्जिंग स्टेशन की तैयारी

    शॉपिंग करते हुए या मूवी देखते हुए आप अपनी इलेक्ट्रिक कार या स्कूटी-बाइक को चार्ज करा सकते हैं. इसके लिए आपको अलग से वक्त नहीं निकालना होगा. इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन लगाए जाने के लिए केन्द्र सरकार कुछ इसी तरह की योजना पर काम कर रही है. ग्रेटर नोएडा में इसी तर्ज पर 100 इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन लगाए जाने पर काम चल रहा है.

    घर बैठे एक फोन कॉल पर कैंसिल हो जाएगा आपके वाहन का रजिस्ट्रेशन, मिलेगी सब्सिडी

    गौरतलब रहे अकेले गौतम बुद्ध नगर में ही दो साल में करीब 7 हजार इलेक्ट्रिक वाहनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है. जानकारों की मानें तो गौतम बुद्ध नगर आरटीओ में इस वक्त 5,938 इलेक्ट्रिक रिक्शा, 611 दोपहिया, 299 इलेक्ट्रिक कार्ट्स, 82 चार पहिया वाहन और सात तिपहिया वाहन पंजीकृत हैं. बीते कुछ महीने से आंकड़ों में और सुधार आया है. अब हर रोज करीब आम तौर पर एक दिन में यह आंकड़ा 15 इलेक्ट्रिक वाहनों से ऊपर निकल रहा है.

    एलटी और एचटी के हिसाब से ऐसे तय होंगे रेट

    जानकारों की मानें तो इलेक्ट्रिक वाहन का चार्जिंग शुल्क लो-टेंशन लाइन से 4.5 रुपये प्रति यूनिट और हाई-टेंशन से 5 रुपये प्रति यूनिट होगा. यह भारत में सबसे कम टैरिफ मूल्य है. इस कीमत के साथ, चार्जिंग सुविधा के आधार पर सर्विस चार्ज जोड़ा जाता है. इलेक्ट्रिक वाहन का चार्जिंग शुल्क लो-टेंशन से 4.5 रुपये प्रति यूनिट और हाई-टेंशन से 5 रुपये प्रति यूनिट होगा. यह भारत में सबसे कम टैरिफ मूल्य है. इस कीमत के साथ, चार्जिंग सुविधा के आधार पर सर्विस चार्ज जोड़ा जाता है.

    Tags: Delhi-ncr, Greater noida news, Yamuna Expressway

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर