• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • खतरे में दिल्ली! उफान पर यमुना, हथिनी कुंड बैराज के सभी गेट खोले गए; अलर्ट जारी

खतरे में दिल्ली! उफान पर यमुना, हथिनी कुंड बैराज के सभी गेट खोले गए; अलर्ट जारी

72 घंटे में बैराज से छोड़ा गया पानी दिल्ली की सीमा में प्रवेश करेगा और बाढ़ का खतरा बढ़ जाएगा. (फाइल फोटो)

72 घंटे में बैराज से छोड़ा गया पानी दिल्ली की सीमा में प्रवेश करेगा और बाढ़ का खतरा बढ़ जाएगा. (फाइल फोटो)

Delhi News: पहाड़ी इलाकों में हो रही तेज बारिश के बाद उफान पर आई यमुना, बाढ़ के खतरे को देखते हुए जारी किया गया है अलर्ट, 72 घंटे में दिल्ली से टकराएगा पानी का सैलाब.

  • Share this:

    नई दिल्ली. पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बारिश के बाद अब यमुना नदी उफान पर आ गई है. जानकारी के अनुसार तेजी से आए पानी के बाद अब हथिनी कुंड बैराज की दीवारों से लगभग 1.59 लाख क्यूसेक पानी टकराया है. बैराज को किसी तरह का खतरा न हो इसको देखते हुए अब इसके सभी गेट खोल दिए गए हैं और पानी को दिल्ली की तरफ छोड़ दिया गया है. जिसके बाद से दिल्ली के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. वहीं पानी के तेजी से बढ़ने के चलते अब दिल्ली के साथ ही हरियाणा के निचले इलाकों में भी मुसीबत बढ़ सकती है और बाढ़ तबाही मचा सकती है. इसी को देखते हुए अब दिल्ली में भी प्रशासन अलर्ट पर है और यमुना के डूब क्षेत्र में आने वाले इलाकों को खाली करवाया जा रहा है.

    72 घंटे में दिल्ली से टकराएगा पानी
    जानकारी के अनुसार बैराज से छोड़ा गया पानी दिल्ली तक पहुंचने में 72 घंटे का समय लेगा. इसके साथ ही बारिश बंद न होने की स्थिति में ये हालात और विकट हो सकते हैं, क्योंकि बैराज में पानी के बढ़ने की स्थिति में लगातार ये यमुना नदी के जरिए दिल्ली की तरफ छोड़ा जाएगा. जिससे दिल्ली के एक बड़े इलाकें में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है.

    यमुनानगर प्रशासन ने जारी किया अलर्ट
    पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बारिश और बैराज के सभी गेट खोलने की स्थिति आने के साथ ही यमुनानगर प्रशासन ने अब अलर्ट जारी कर दिया है. प्रशासन ने बाढ़ को देखते हुए चेतावनी जारी की है. साथ ही पुलिस व अन्य बचाव दलों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही निचले इलाकों को खाली करवाने के लिए भी चेतावनी जारी की गई है.

    इसलिए दिल्ली डायवर्ट किया पानी
    तेज बारिश के दौरान पहाड़ाें से उतरने वाला पानी हथिनी कुंड बैराज में जमा होता है और यहां से छोटी नहरों के जरिए उत्तर प्रदेश, राजस्‍थान, हरियाणा और दिल्ली में इसकी सप्लाई की जाती है. लेकिन जब बैराज में पानी का आंकड़ा 75 हजार क्यूसेक का आंकड़ा पार करता है. वैसे ही बैराज के सभी गेट खोल दिए जाते हैं और पानी को सीधे दिल्ली डायवर्ट किया जाता है. इस दौरान छोटी नहरों में पानी की सप्लाई बंद कर दी जाती है क्योंकि नहरों की क्षमता इतनी नहीं है कि वे इतने ज्यादा पानी को संभाल सकें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज