लाइव टीवी

निर्भया केस की पैरोकार योगिता बोलीं- मैं दूंगी दोषियों को फांसी, बना दो जल्लाद

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 5:16 PM IST
निर्भया केस की पैरोकार योगिता बोलीं- मैं दूंगी दोषियों को फांसी, बना दो जल्लाद
योगिता ने कहा कि यह काफी अजीब बात है कि दोषियों को फांसी दी जानी है और जल्लाद नहीं है. (फोटो योगिता के फेसबुक पेज से)

योगिता भयाना (Yogita Bhayana) दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में रेप पीड़िताओं (Rapr) की सहायता के लिए पीपुल्स अगेंस्ट रेप इन इंडिया (परी) अभियान चलाती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 5:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया मामले के दोषियों को फांसी दी जानी है, इसको लेकर एक चर्चा भी चली कि तिहाड़ जेल में जल्लाद नहीं है. दोषियों के प्रति लोगों में गुस्सा इतना है कि अब वे निर्भया के दोषियों को फांसी देने के लिए जल्लाद बनने को तैयार हैं. हिमाचल के सामाजिक कार्यकर्ता ने पहले राष्ट्रपति को पत्र लिख जल्लाद बनने की इच्छा जाहिर की थी, अब इस लिस्ट में एक और नाम जुड़ गया है. यह नाम है दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में रेप और गैंगरेप की पीड़िताओं के केस में पैरोकार बनीं योगिता भयाना (Yogita Bhayana) का.

उन्होंने कहा कि यदि तिहाड़ जेल (Tihar Jail) के पास फांसी देने के लिए कोई जल्लाद (Executioner) नहीं है तो मैं जल्लाद बनने के लिए तैयार हूं. लेकिन सिर्फ एक जल्लाद की वजह से निर्भया (Nirbhaya) केस के दोषियों की फांसी देने में देर नहीं होनी चाहिए. योगिता ने ये मांग ऐसे वक्त में की है जब हैदराबाद का डॉक्टर गैंगरेप केस सामने आया और उसके बाद से निर्भया केस के दोषियों को जल्द से जल्द फांसी देने की मांग होने लगी है.

हरियाणा की रहने वाली हैं योगिता भयाना
योगिता भयाना दिल्ली-एनसीआर में रेप पीड़िताओं की सहायता के लिए पीपुल्स अगेंस्ट रेप इन इंडिया (परी) अभियान चलाती हैं. बड़ी संख्या में पीड़िता और उनके परिजन योगिता से जुड़कर कोर्ट में अपने केस को लड़ रहे हैं. योगिता भयाना ने न्यूज18 हिन्दी को बताया कि यह एक बड़ा अजीब से मामला है कि गैंगरेप के दोषी सामने हैं और आपको फांसी देने के लिए जल्लाद नहीं मिल रहा है.

योगिता भयाना द्वारा तिहाड़ जेल प्रशासन को लिखा गया लैटर.


उन्होंने कहा कि मैंने इस संबंध में तिहाड़ जेल प्रशासन और दिल्ली पुलिस को एक चिठ्ठी भी लिखी है.  मांग की है कि अगर आपको जल्लाद नहीं मिल रहा है तो मैं इस काम के लिए तैयार हूं और मुझे आप ट्रेनिंग दे सकते हैं. योगिता ने इस संबंध में दिल्ली पुलिस और तिहाड़ जेल प्रशासन को लैटर लिखा है.

योगिता भयाना ने इसलिए कही जल्लाद बनने की बातयोगिता भयाना ने जल्लाद बनने की ये मांग ऐसे वक्त में की है जब निर्भया केस के दोषियों को फांसी दिए जाने की मांग और दोषियों की कानूनी कार्रवाई को देखते हुए हाल ही में तिहाड़ जेल प्रशासन का एक बयान सामने आया था. प्रशासन का कहना है कि वह एक जल्लाद की तलाश कर रहे हैं. उनके पास जेल में कोई जल्लाद नहीं है. इसके लिए वो यूपी के जेल अधिकारियों से भी संपर्क कर रहे हैं. साथ ही यूपी के गांवों में भी संपर्क कर रहे हैं जहां पीढ़ी दर पीढ़ी जल्लाद का काम करने वाले रहते हैं.

 

ये भी पढ़ें :- यहां लगेगी शराब की सेल, 25 प्रतिशत सस्ती मिलेगी अंग्रेजी शराब और बीयर

पवन जल्लाद बोला-फांसी की तैयारी के लिए 2 दिन काफी, 8 दिसंबर को आ रहा हूं दिल्ली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 5:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर