Home /News /delhi-ncr /

zojila tunnel half completed delsp

Zojila Tunnel News: सुरंग का 50 फीसदी काम पूरा, जानें, माइनस 40 डिग्री में कैसे किया गया काम?

भीषण बर्फबारी में बगैर रुके हुआ काम.

भीषण बर्फबारी में बगैर रुके हुआ काम.

Road Transport and Highways: जोजिला सुरंग के आसपास का इलाका भारी बर्फबारी वाला क्षेत्र है, इसलिए यहां लगभग छह महीने बर्फ जमी रहती है. लेकिन इस बार सर्दी के मौसम में भी जोजिला टनल का काम जारी रहा. माइनस 40 डिग्री के तापमान में आधुनिक मशीनों से टनल के अंदर काम चलता रहा. इसके निर्माण कार्य में लगी कंपनी MEIL के प्रोजेक्ट हेड हरपाल सिंह ने बताया कि काम को मौसम के अनुरूप कई भागों में बांट दिया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. जम्‍मू – कश्‍मीर (Kashmir) से लेह लद्दाख तक ऑल वेदर रोड (All Weather Road) के लिए बनाई जा रही जोजिला (Zojila Tunnel) सुरंग का 50 फीसदी का काम पूरा हो चुका है. समय से निर्माण करने के लिए सर्दियों में माइनस 40 डिग्री तापमान में भी काम चलता रहा. इसका नतीजा ये रहा कि पूर्वी और पश्चिमी छोर दोनों तरफ से 1314 और 1074 मीटर का काम पूरा हो गया है. सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport and Highways के) अनुसार यह सुरंग सामरिक दृष्टि से भारतीय सेना के लिए भी काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि सर्दियों के मौसम में बर्फबारी के चलते लद्दाख का रास्ता पूरी तरह से बंद हो जाता है. सुरंग बनने के बाद कश्मीर और कारगिल के बीच साल भर सेना के वाहनों की आवाजाही हो सकेगी.

जोजिला सुरंग के आसपास का इलाका भारी बर्फबारी वाला क्षेत्र है, इसलिए यहां लगभग छह महीने बर्फ जमी रहती है, लेकिन इस सर्दी के मौसम में भी जोजिला टनल का काम जारी रहा. माइनस 40 डिग्री के तापमान में आधुनिक मशीनों से टनल के अंदर काम चलता रहा. इसके निर्माण कार्य में लगी कंपनी मेघा इंजीनियरिंग एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (MEIL) के प्रोजेक्ट हेड हरपाल सिंह ने बताया कि काम को मौसम के अनुरूप कई भागों में बांट दिया. टनल के निर्माण में न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग मेथड, बर्फ हटाने के लिए स्‍नो ब्लोअर जैसी आधुनिक मशीनों का उपयोग किया गया है.

स्‍नो ब्लोअर से उस जगह बर्फ को हटाया गया, जहां काम जारी रखना था. कश्मीर में इस बार इतनी बर्फबारी हुई कि बर्फ हटाने के बाद हर आधे घंटे में उतनी ही मोटी चादर बिछ जाती थी. इस चैलेंज के बावजूद सुरंग निर्माण का काम आज 50 फीसदी पूरा कर लिया.

 ये भी पढ़ें: Road Accident News- सड़क हादसे में मुआवजे के लिए नहीं होगा इंतजार

जोजिला सुरंग परियोजना पर एक नजर 

MEIL इस प्रोजेक्ट के तहत 18 किमी लंबी सुरंग बना रही है. इसके अलावा 17 किलोमीटर लंबी सड़क, तीन वर्टिकल शाफ्ट, चार पुल और इससे संबंधित अन्य काम कंपनी कर रही है. पहली नीलग्रार टनल की लंबाई 468 मीटर है और यह समानांतर ट्यूब सुरंग के रूप में बन रही है. नीलग्रार टनल-2 की लंबाई 1,978 मीटर है और यह भी समानांतर ट्यूब सुरंग है. तीसरी जोजिला सुरंग सबसे महत्वपूर्ण भाग है. इसकी लंबाई 13 किलोमीटर है. यह सुरंग के पश्चिम की तरफ बालटाल से शुरू होती है और पूर्व की तरफ द्रास के करीब समाप्त होती है. इस पूरे रास्ते पर नदियों को पार करने के लिए 4 पुलों का निर्माण किया जा रहा है. इनकी लंबाई 815 मीटर है. 2024 लोकसभा चुनाव से पहले इसके निर्माण का काम पूरा करने का लक्ष्‍य रखा गया है.

Tags: Jaamu kashmir, Road and Transport Ministry, Union Minister Nitin Gadkari

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर