लाइव टीवी

गांधी जयंती पर 10 हजार छात्रों ने एक साथ जलाईं सोलर लाइट, वर्ल्ड रिकॉर्ड का दावा

भाषा
Updated: October 2, 2019, 10:36 PM IST
गांधी जयंती पर 10 हजार छात्रों ने एक साथ जलाईं सोलर लाइट, वर्ल्ड रिकॉर्ड का दावा
इस दौरान पर्यावरण संरक्षण के लिए सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने का संकल्प भी लिया गया.

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के स्कूली छात्रों ने बुधवार को गांधी जयंती के अवसर पर लगभग दस हजार सोलर लाइट (Solar Light) जलाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में विश्व कीर्तिमान बनाने का दावा पेश किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के स्कूली छात्रों ने बुधवार को गांधी जयंती के अवसर पर लगभग दस हजार सोलर लाइट (Solar Light) जलाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में विश्व कीर्तिमान बनाने का दावा पेश किया है. इस दौरान पर्यावरण संरक्षण के लिए सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने का संकल्प भी लिया गया. इस रिकार्ड की दावेदारी के साथ ही छात्रों ने गांधी जयंती के अवसर पर पर्यावरण के प्रति अहिंसा का भाव रखने का संकल्प लेकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी.

छात्रों ने खुद बनाईं सोलर लाइट
पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर, अक्षय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह और गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के अधिकारियों की मौजूदगी में विभिन्न स्कूलों के छात्रों ने गिनीज बुक में विश्व रिकार्ड दर्ज कराने की जरूरत के मुताबिक एक साथ पांच मिनट तक सोलर लाइट जलाकर रखी. खास बात ये रही कि सोलर लाइट छात्रों ने स्वयं तैयार की हैं.

इस अवसर पर मौजूद गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के भारत में प्रतिनिधी ऋषि कुमार ने बताया कि विश्व कीर्तिमान बनाने की इस मुहिम मे शामिल छात्रों और सोलर लाइट की गिनती के बाद इसे रिकार्ड के रूप में गिनीज बुक में दर्ज किया जाएगा. यह एक स्थान पर एक साथ सर्वाधिक सोलर लाइट जलाने का विश्व रिकार्ड होगा.

छात्रों ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड
इससे पहले इन छात्रों ने सर्वाधिक संख्या में एक साथ किसी विषय पर कुछ सीखने का विश्व रिकॉर्ड भी गिनीज बुक में दर्ज कराया. ऋषि ने इस रिकार्ड की घोषणा करते हुए बताया कि छात्रों ने ‘पर्यावरण सततता का सामूहिक सबक सीखने’ का विश्व रिकार्ड बनाया है. छात्रों की इस पहल को कारगर बनाने मे मदद कर रहे प्रो. चेतन रस्तोगी ने 4780 छात्रों को एक साथ पर्यावरण सततता का सबक सिखाते हुए उन्हें दौर ऊर्जा के महत्व से परिचित कराया.

इस दौरान छात्रों को संबोधित करते हुये जावडेकर ने शून्य कार्बन उत्सर्जन वाली सौर ऊर्जा के अधिकतम इस्तेमाल करने और कम से कम सात पेड़ लगाकर पर्यावरण संरक्षण करने में सक्रिय मदद करने की शपथ दिलाई. उन्होंने सौर ऊर्जा के महत्व का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ में स्वच्छ ऊर्जा के रूप में 450 गीगावाट अक्षय ऊर्जा बनाने के लक्ष्य की घोषणा की है. इसमें सौ गीगावाट सौर ऊर्जा शामिल है.
Loading...

'हमारा घर, हमारी बिजली'
जावडेकर ने छात्रों से इस लक्ष्य को हासिल करने में सक्रिय योगदान का आह्वान करते हुए कहा कि अब नया नारा ‘हमारा घर हमारी बिजली’ होगी. इसमें हर परिवार को बिजली उपभोक्ता बनने के बजाय सौर ऊर्जा के माध्यम से ऊर्जा उत्पादक बनने की परिपाटी शुरू हो गई है. इसके अलावा उन्होंने मुंबई में हर छत पर सोलर पैनल लगा कर सौर ऊर्जा उत्पादन की मुहिम शुरू करने की भी घोषणा की.

इस दौरान आर.के. सिंह ने छात्रों से अध्ययन में पारंपरिक बिजली के बजाय सौर ऊर्जा का इस्तेमाल करने का आह्वान किया. इससे पहले जावडेकर और सिंह ने प्रो. रस्तोगी की पुस्तक एनर्जी स्वराज का विमोचन भी किया.
ये भी पढ़ें:

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान 'Consumer App' पर शिकायत करें और निपटारा पाएं तुरंत

गांधी संकल्प यात्रा से जन-जन में फिर से पहुंचेगा गांधीजी का विचार: अमित शाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 2, 2019, 10:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...