2G केस: ए राजा के खिलाफ CBI अपील पर जल्द सुनवाई से HC का इनकार

2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाला मामले में पूर्व केंद्रीय दूरसंचार मंत्री ए राजा और अन्य को बरी करने के फैसले को चुनौती देने वाली सीबीआई की याचिका पर जल्द सुनवाई से दिल्ली हाईकोर्ट ने मंगलवार को इनकार कर दिया.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 10:04 PM IST
2G केस: ए राजा के खिलाफ CBI अपील पर जल्द सुनवाई से HC का इनकार
ए राजा को बरी करने के खिलाफ जल्द सुनवाई से हाईकोर्ट का इनकार. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 10:04 PM IST
2-जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाला मामले में पूर्व केंद्रीय दूरसंचार मंत्री ए राजा और अन्य को बरी करने के फैसले को चुनौती देने वाली सीबीआई की याचिका पर जल्द सुनवाई से दिल्ली हाईकोर्ट ने मंगलवार को इनकार कर दिया. सीबीआई ने मामले की सुनवाई, तय तारीख 24 अक्टूबर से पहले करने की अपील की थी. न्यायमूर्ति ए. के. चावला ने कहा कि मामले की सुनवाई पहले से नियत की गई तारीख पर ही की जाएगी और सभी पक्षों से अपेक्षा की जाती है, वे सुनवाई के दौरान मौजूद रहेंगे. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल संजय जैन ने इस पर जल्द सुनवाई की अपील की थी. आरोपियों के वकील ने इसका विरोध किया था.

विशेष अदालत ने 21 दिसम्बर 2017 को राजा और द्रमुक सांसद कनिमोई तथा अन्य को घोटाले से जुड़े सीबीआई और ईडी के मामलों में बरी कर दिया था. इसी दिन अदालत ने पूर्व दूरसंचार सचिव सिद्धार्थ बेहुरा, राजा के पूर्ववर्ती निजी सचिव आर. के. चंदोलिया, यूनिटेक लिमिटेड के प्रबंध निदेशक संजय चंद्रा और रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप (आरएडीएजी) के शीर्ष तीन अधिकारियों गौतम दोषी, सुरेंद्र पिपारा और हरि नायर को सीबीआई के 2जी मामले में बरी कर दिया था.

‘स्वान टेलीकॉम’ के प्रमोटरों शाहिद उस्मान बलवा और विनोद गोयनका तथा ‘कुसेगांव फ्रूट्स एंड वेजिटेबल प्राइवेट लिमिटेड’ के निदेशक आसिफ बलवा और राजीव अग्रवाल को भी सीबीआई के मामले में बरी कर दिया गया था. विशेष अदालत के फैसले को चुनौती देते हुए ईडी ने 19 मार्च को हाईकोर्ट का रुख किया था. इसके एक दिन बाद सीबीआई ने भी आरोपियों को बरी किए जाने के फैसले को चुनौती दी थी.

ये भी पढे़ं - 

First published: July 30, 2019, 9:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...