लाइव टीवी

निर्भया मामला: चारों गुनहगारों को तिहाड़ जेल नंबर 3 में किया गया शिफ्ट

News18Hindi
Updated: January 16, 2020, 8:50 PM IST
निर्भया मामला: चारों गुनहगारों को तिहाड़ जेल नंबर 3 में किया गया शिफ्ट
निर्भया के चारों दोषियों को तिहाड़ के जेल नंबर 3 में शिफ्ट कर दिया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) और हत्‍या मामले के 4 दोषियों को दिल्‍ली के तिहाड़ जेल (Tihar Jail) नंबर 3 में शिफ्ट कर दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2020, 8:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) और हत्‍या मामले के 4 दोषियों को गुरुवार को दिल्‍ली के तिहाड़ जेल (Tihar Jail) नंबर 3 में शिफ्ट कर दिया गया. इन चारों दोषियों का मेडिकल परीक्षण भी कराया जाएगा. इसके बाद इन चारों को 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखा जाएगा. साथ ही आगे भी इन सभी का शारीरिक और मानसिक मेडिकल परीक्षण लगातार कराया जाएगा.

जेल के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ हमनें चारों दोषियों को जेल संख्या तीन में स्थानांतरित कर दिया है, जहां पर फांसी दी जानी है.’’ उन्होंने बताया कि अभी तक विनय शर्मा को तिहाड़ की जेल संख्या चार में रखा गया था जबकि मुकेश और पवन जेल संख्या दो में रखे गए थे.

निर्धारित फांसी पर स्थिति रिपोर्ट दायर करें तिहाड़ जेल अधिकारी
दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को ही निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्या मामले में चार दोषियों की निर्धारित फांसी पर शुक्रवार तक उचित स्थिति रिपोर्ट दायर करने का तिहाड़ जेल अधिकारियों को निर्देश दिया. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सतीश कुमार अरोड़ा ने यह निर्देश दिया. इससे पहले, जेल अधिकारियों ने अदालत से कहा कि उन्होंने दोषियों की लंबित याचिकाओं के मद्देनजर 22 जनवरी को निर्धारित फांसी के संबंध में दिल्ली सरकार को पत्र लिखा है.

हाईकोर्ट ने खारिज कर दी फांसी के वारंट को रद्द करने वाली याचिका
अदालत निर्भया मामले के चार दोषियों में से एक मुकेश कुमार सिंह की याचिका पर सुनवाई कर रही थी. मुकेश ने अनुरोध किया था कि उसकी दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है और इस आधार पर उसकी फांसी की तारीख स्थगित कर दी जाए. मुकेश की ओर से पेश वकील ने अदालत से कहा कि बाद के घटनाक्रम के कारण जरूरी है कि मौत के वारंट को रद्द कर दिया जाए. इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने 7 जनवरी को जारी फांसी के वारंट को रद्द करने के अनुरोध वाली उसकी याचिका पर गौर करने से इंकार कर दिया और निचली अदालत जाने को कहा. इसके बाद मुकेश के वकील ने सुनवाई अदालत का रुख किया.

दया याचिका खारिज करने की गृह मंत्रालय से सिफारिशदिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने गुरुवार को ही बहुचर्चित निर्भया मामले के अभियुक्तों में से एक की दया याचिका खारिज करने की गृह मंत्रालय से सिफारिश की है. इस मामले में चारों दोषियों को मौत की सजा सुनाई गई है. उन चारों अभियुक्तों में से एक मुकेश सिंह ने कुछ दिन पहले दया याचिका दायर की थी. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘गृह मंत्रालय को उपराज्यपाल से दया याचिका मिल गई है, जिसमें उन्होंने इसे नामंजूर करने की सिफारिश की है. याचिका पर गौर किया जा रहा है और जल्दी ही उचित फैसला किया जाएगा.’

ये भी पढ़ें - 

निर्भया के गुनहगारों को फांसी: कोर्ट ने कहा- हम फांसी की तारीख नहीं बढ़ा रहे

निर्भया मामला: संजय सिंह का BJP पर पलटवार, कहा- देश से माफी मांगें जावड़ेकर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 7:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर