लाइव टीवी

Odd-Even : छठवें दिन 514 लोगों के काटे चालान, प्रदूषण का खराब स्तर बरकरार

News18India
Updated: November 10, 2019, 12:39 PM IST
Odd-Even : छठवें दिन 514 लोगों के काटे चालान, प्रदूषण का खराब स्तर बरकरार
दिल्ली में ऑड-ईवन के छठवें दिन पुलिस ने 514 लोगों का चालान काटा है. (फाइल फोटो)

दिल्ली में ऑड-ईवन (Odd-Even) के छठवें दिन 514 चालान काटे गए हैं. इनमें 297 चालान दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की टीम ने, 161 चालान परिवहन विभाग ने और 56 चालान राजस्व विभाग ने काटे हैं.

  • News18India
  • Last Updated: November 10, 2019, 12:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में ऑड-ईवन (Odd-Even) के छठवें दिन 514 चालान काटे गए हैं. आधिकारिक आंकड़ों से यह जानकारी सामने आई है. आंकड़ों में बताया गया है कि इनमें 297 चालान दिल्ली यातायात पुलिस की टीमों ने काटे हैं, जबकि परिवहन विभाग ने 161 और राजस्व विभाग ने 56 चालान काटे हैं. 4 नवंबर को राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण-रोधी योजना ऑड-ईवन (Odd-Even) योजना को लागू किया गया था. योजना 11 और 12 नवंबर को छोड़कर 15 नवंबर तक लागू रहेगी. यह सुबह आठ बजे से लेकर रात आठ बजे तक प्रभावी रहती है.

11-12 नवंबर को ऑड-इवन नहीं होगा लागू
सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर श्रद्धालुओं के लिए बाधा मुक्त आवागमन सुनिश्चित करने के लिए 11 और 12 नवंबर को ऑड-ईवन (Odd-Even) लागू नहीं किया जाएगा. योजना के तहत नियमों के उल्लंघन पर 4,000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है.



230 तक पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स
रविवार को दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 230 तक पहुंच गया जो खराब स्तर का माना जाता है. इसकी वजह से लोगों को सुबह सांस लेने में थोड़ी परेशानी हुई. मौसम विभाग ने बताया कि रविवार को आसमान साफ रहेगा और धूप निकलेगी.

नियम के उल्लंघन पर 4000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान
Loading...

ऑड-ईवन योजना का सख्ती से पालन कराने के लिए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस, परिवहन एवं राजस्व विभाग की दर्जनों टीमें तैनात की गई हैं. इस दौरान लगभग 400 ट्रैफिक इंस्पेक्टर और असिस्टेंट ट्रैफिक इंस्पेक्टर (एटीआई) को दो शिफ्ट में तैनात किया गया है.

इन्हें मिलेगी नियम से छूट
दोपहिया वाहनों को इस योजना से बाहर रखा गया है, लेकिन सीएनजी चालित वाहनों को नहीं. वहीं, मेडिकल इमर्जेंसी में इस्तेमाल किए जाने वाले वाहनों और यूनिफॉर्म में स्कूली बच्चों ले जाने वाले वाहनों को छूट दी गई है. वहीं, ऐसे वाहन जिनकी ड्राइवर महिलाएं हों और उनमें 12 वर्ष तक की आयु के बच्चे हों उन्हें छूट दी जाएगी. इसके साथ ही ऐसे वाहनों को भी छूट मिलेगी जिनमें दिव्यांग सवार हों.

इन्‍हें भी मिली है छूट
इसके अलावा राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यों के राज्यपाल, भारत के प्रधान न्यायाधीश, लोकसभाध्यक्ष, उप लोकसभाध्यक्ष, केंद्रीय मंत्री, राज्यसभा और लोकसभा में विपक्ष के नेता, उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश, दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और न्यायाधीशों, दिल्ली के उपराज्यपाल, केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और उपराज्यपालों के वाहनों को छूट दी जाएगी.

यह पाबंदी लोकपाल और उसके सदस्यों, संघ लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष, मुख्य चुनाव आयुक्त एवं चुनाव आयुक्त, भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक, राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) के अध्यक्ष एवं सदस्यों, लोकायुक्त, दिल्ली और चंडीगढ़ के राज्य चुनाव आयुक्तों पर भी लागू नहीं होगी. एम्बुलेंस सहित आपात वाहनों, दमकल, अस्पतालों, जेल और शव ले जाने वाले वाहनों के साथ-साथ पुलिस, परिवहन विभाग, अर्धसैनिक बलों और डिविजनल कमिश्नर द्वारा अधिकृत वाहनों को भी छूट दी जाएगी.

रक्षा मंत्रालय की नंबर प्लेट, डिप्लोमेटिक नंबर प्लेट, पायलट या एस्कॉर्ट वाहन और स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) सुरक्षा प्राप्त व्यक्तियों के वाहनों को भी छूट दी जाएगी. हालांकि, दिल्ली के मुख्यमंत्री और मंत्रियों के वाहनों को छूट नहीं दी जाएगी.

ये भी पढ़ें- शिवसेना ने हिटलर से की फडणवीस सरकार की तुलना, बोली- महत्वपूर्ण होगी पवार की भूमिका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 10, 2019, 12:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...