आप MLA हाजी इशराक BJP अध्‍यक्ष मनोज तिवारी से मिले, पार्टी छोड़ने को बताया 'अफवाह'

दिल्ली भाजपा के मीडिया प्रमुख नीलकांत बख्शी ने हाजी इशराक खान और मनोज तिवारी की मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया है.

News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 8:48 AM IST
आप MLA हाजी इशराक BJP अध्‍यक्ष मनोज तिवारी से मिले, पार्टी छोड़ने को बताया 'अफवाह'
आप MLA हाजी इशराक खान की भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष मनोज तिवारी से मुलाकत. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 8:48 AM IST
दिल्‍ली में सत्‍तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने लोकसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा में शामिल हुए अपने दो बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने की मांग को लेकर बुधवार को दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष से संपर्क किया,तो गुरुवार को सीलमपुर से आम आदमी पार्टी के विधायक हाजी इशराक खान ने दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी मुलाकात कर राजनीतिक हलचल पैदा कर दी.

हालांकि भाजपा में शामिल होने की किसी भी योजना को खान ने ‘अफवाह’ बताकर खारिज किया और दावा किया कि उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र सीलमपुर में लड़कियों का कॉलेज बनवाने के संबंध में तिवारी से मुलाकात की थी.

उन्‍होंने न्‍यूज़ एजेंसी पीटीआई से कहा, 'सीलमपुर विधानसभा में उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की जमीन है. तीन साल पहले मैंने इस जमीन पर लड़कियों का कॉलेज बनाने की मांग की थी. जबकि फिलहाल मैंने तिवारी को इस मांग की याद दिलाने के लिए मुलाकात की थी और उन्होंने इसमें मदद का आश्वासन दिया.'

यही नहीं, हाजी इशराक खान ने आगे कहा, ' हम सबका साथ सबका विकास की विचारधारा को मानते हैं और इस कारण कोई भी अध्‍यक्ष से मिल सकता है.'

दिल्ली भाजपा के मीडिया प्रमुख नीलकांत बख्शी ने कहा कि खान ने तिवारी से शिष्टाचार भेंट की.

आप को सता रहा है ये डर
दिल्‍ली में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं, लिहाजा आम आदमी पार्टी, भाजपा और कांग्रेस समेत सभी पार्टियां जीत की तलाश में हैं. जबकि भाजपा की प्रदेश यूनिट की बात पर यकीन किया जाए तो आप के कई विधायक पार्टी छोड़ना चाहते हैं. यही बात आम आदमी पार्टी को सता रही है.
Loading...

विजय गोयल ने किया था दावा
भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने संसदीय चुनाव के दौरान दावा किया था कि आप के 14 विधायक उनके संपर्क में हैं.

लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी का थाम लिया था दामन
बता दें कि सहरावत बिजवासन विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं और उन्‍होंने लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा का दामन थाम लिया था. उन्‍हें आम आदमी पार्टी ने सितंबर 2016 से पंजाब में पार्टी नेताओं के खिलाफ बयानबाजी के बाद निलंबित कर दिया था. वहीं, गांधी नगर से आप के टिकट पर चुनाव जीतने वाले अनिल वाजपयी ने इसी साल 3 मई को भाजपा की सदस्‍यता ली थी. उन्‍होंने आप पर अपनी अनदेखी का आरोप लगाया था.

ये भी पढ़ें : 'वन नेशन, वन इलेक्शन' को अखिलेश की न, बोले- पहले चुनावी वादे को पूरा करे सरकार

हार के बाद भी नहीं बदला राहुल गांधी का रुख, बोले-राफेल विमान सौदे में हुई है चोरी
First published: June 21, 2019, 8:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...