वेतन में भेदभाव: AIIMS के सहायक प्रोफेसरों ने हर्षवर्द्धन को लिखा खत

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कॉन्ट्रैक्ट पर सहायक प्रोफेसर के रूप में काम कर रहे संकाय सदस्यों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि वेतन के मामले में उनके साथ भेदभाव हो रहा है.

News18 Chhattisgarh
Updated: July 25, 2019, 8:27 PM IST
वेतन में भेदभाव: AIIMS के सहायक प्रोफेसरों ने हर्षवर्द्धन को लिखा खत
सहायक प्रोफेसरों के मुताबिक, 'इस तरह का भेदभाव सिर्फ युवा और प्रतिभाशाली उम्मीदवारों को भविष्य में संस्थान में कार्य करने से रोकेगा.'
News18 Chhattisgarh
Updated: July 25, 2019, 8:27 PM IST
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कॉन्ट्रैक्ट पर सहायक प्रोफेसर के रूप में काम कर रहे संकाय सदस्यों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि वेतन के मामले में उनके साथ भेदभाव हो रहा है.

उन्होंने मांग की है कि उनका वेतन स्थायी संकाय सदस्यों के बराबर किया जाए. यह पत्र 52 संकाय सदस्यों ने लिखा है. सहायक प्रोफेसरों का कहना है कि उनके काम का बोझ स्थायी संकाय सदस्यों के बराबर है, लेकिन उनका वेतन काफी कम है.

नहीं आएंगे मेधावी
सहायक प्रोफेसरों के मुताबिक, 'इस तरह का भेदभाव सिर्फ युवा और प्रतिभाशाली उम्मीदवारों को भविष्य में संस्थान में कार्य करने से रोकेगा. खुद डॉ. हर्षवर्द्धन इस बात से सहमत होंगे कि समान काम के लिए समान वेतन मिलना चाहिए.' उन्होंने कहा कि इस कथित भेदभाव की वजह से युवा और होनहार उम्मीदवार एम्स में नियुक्ति के लिए आवेदन नहीं कर रहे हैं और पिछले कुछ वर्षों से कई संविदा संकाय सदस्यों की सीट खाली हैं.

मुश्किल है परिवार का गुजारा
उन्होंने कहा कि लोगों को अपने परिवार की भी देखभाल करनी होती है, जो इस वेतन पर दिल्ली जैसे महानगर में काफी मुश्किल हो जाता है और वे पिछले एक वर्ष से मंत्रालय को पत्र लिख रहे हैं, लेकिन उनकी शिकायतों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई. पत्र में कहा गया है, 'हमें डर है कि इस तरह की अनिच्छा से संभावित मेधावी उम्मीदवार संस्थान की जगह निजी क्षेत्र में जाएंगे. खुद चिकित्सक होने के नाते, हम उम्मीद करते हैं कि आप मुद्दे को समझेंगे और इस संबंध में ठोस फैसला करेंगे.'

पत्र में कहा गया है कि केंद्रीय संस्थान के निकाय में पिछले साल इसे पहले ही मंजूरी मिल चुकी है, लेकिन अब तक अनुकूल नतीजा नहीं आया है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

केजरीवाल ने ट्वीट कर मोदी सरकार को दिया धन्यवाद, जानिए क्यों

नीति आयोग की 2018-19 की रैंकिंग में शीर्ष 3 में होगा UP: स्वास्थ्य मंत्री

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 8:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...