पीएम मोदी की अपील पर Air India ने किया अमल, 2 अक्‍टूबर से प्‍लास्टिक बैन

News18Hindi
Updated: August 29, 2019, 2:38 PM IST
पीएम मोदी की अपील पर Air India ने किया अमल, 2 अक्‍टूबर से प्‍लास्टिक बैन
दो अक्‍टूबर से air india के विमानों में प्‍लास्टिक के इस्‍तेमाल पर रोक.

विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India) की ओर से सर्कुलर जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि 2 अक्‍टूबर से विमानों (Flights) में प्‍लास्टिक (Plastic) की चीजों पर पूरी तरह पाबंदी लग जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2019, 2:38 PM IST
  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के प्‍लास्टिक के इस्‍तेमाल के खिलाफ जनआंदोलन के फैसले के बाद अब एयर इंडिया (Air India) ने इस दिशा में कदम उठाया है. विमानन कंपनी एयर इंडिया की ओर से सर्कुलर जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि 2 अक्‍टूबर से विमानों में प्‍लास्टिक की चीजों पर पूरी तरह पाबंदी लग जाएगी.

अभी तक यात्रियों को एयर इंडिया के विमानों में मिलने वाले प्‍लास्टिक (Plastic) के चम्‍मच और गिलास अब दो अक्टूबर से नहीं मिलेंगे. गौरतलब है कि पीएम मोदी ने रेडियो पर प्रसारित अपने मासिक संबोधन ‘मन की बात’ (Man ki Baat) में हाल ही में कहा कि जब देश राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती मना रहा है, तब ऐसे में ' हम प्लास्टिक के खिलाफ एक नया जन-आंदोलन आरंभ करेंगे.'

मोदी ने पर्यावरण (Environment) को बचाने के लिए प्लास्टिक कचरे के उचित संग्रह एवं भंडारण और निपटारे के प्रयासों का आह्वान किया.

क्या होंगे बद्लाव ?

1. फिलहाल एयर इंडिया यात्रियों को 200 मिलीलीटर पानी की बोतल प्रदान करती है. 29 अगस्त 2019 के बाद से इन्हें सभी मार्गों पर 1500 मिलीलीटर पानी की बोतलें दी जाएगीं.

2. DEL-CJB-SIN और DEL-IXM-SIN v / v उड़ानों के लिए, एयर इंडिया विमान (253 लेटर) पर उपलब्ध पीने योग्य पानी का उपयोग करेगा. चूंकि ये बहु-भोजन सेवा वाली मल्टी-लेग फ्लाइट हैं, इसलिए एयर इंडिया के पास पर्याप्त गैली स्पेस नहीं है. इसके अतिरिक्त, 29 अगस्त 19 को प्रभावी DEL के 1500 मिलीलीटर की 50 पानी की बोतलें लिफ्ट की जाएंगी.

3. केले के चिप्स और सैंडविच फिलहाल प्लास्टिक के पाउच में पैक किए गए हैं जिन्हें बदलकर बटर पेपर पाउच कर दिया जाएगा.
Loading...

4. स्नैक्स बॉक्स में केक स्लाइस को मौजूदा प्लास्टिक रैपिंग से बचने के लिए मफिन के साथ बदल दिया जाएगा.

5. विशेष भोजन के लिए, जो यात्रियों द्वारा अग्रिम रूप से ऑर्डर किया जाता है और भुगतान किया जाता है, एयर इंडिया प्लास्टिक कटलरी के स्थान पर इको-फ्रेंडली बिर्चवुड कटलरी का उपयोग करेगा.

6. क्रू मील कटलरी को हल्के स्टील कटलरी से बदल दिया जाएगा.

7. प्लास्टिक के टंबलर को पेपर टंबलर से बदला जाएगा.

8. प्लास्टिक की चायपत्ती को मजबूत पेपर कप से बदल दिया जाएगा. खानपान, इन-फ़्लाइट सर्विसेज, MMD और स्टेशनों / हवाई अड्डों सहित सभी संबंधितों को इससे जुड़े निर्देश दिए जा रहे हैं.

पीएम ने लालकिले से भी की थी प्‍लास्टिक के खिलाफ अपील

इससे पहले पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले (Red Fort) से अपने संबोधन में नागरिकों से अपील की थी कि वे एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक का प्रयोग बंद करें. उन्होंने सुझाव दिया था कि दुकानदार उपभोक्ताओं को पर्यावरण के अनुकूल थैले मुहैया कराएं.

भारत में प्लास्टिक का ज्यादा इस्तेमाल
भारत में सिंगल यूज प्लास्टिक का धड़ल्ले से इस्तेमाल होता है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक सर्वे के मुताबिक 60 बड़े शहरों में पाया गया कि इन शहरों से रोजाना 4,059 टन प्लास्टिक कचरा निकलता है, यानी देशभर से 25,940 टन. इसमें से भी केवल 50-60 प्रतिशत कचरा रिसाइकल होता है, जबकि बाकी सब नदी-नालों में चला जाता है या फिर उसे जानवर खाते हैं.

ये भी पढ़ें

तेलंगाना एक्‍सप्रेस में आग, दिल्‍ली-झांसी रूट पर सेवा ठप

इन उपकरणों से जांच सकते हैं अपने आसपास आत्माओं की मौजूदगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 12:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...