मोदी सरकार के इस फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर संतों में बढ़ा उत्साह

Akhil Bharatiya Sant Samiti, Ram temple, Ayodhya: दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में 10 अगस्‍त को होने वाले अखिल भारतीय संत समिति की बैठक में 60 से अधिक संत हिस्सा लेंगे. जबकि राम मंदिर प्रमुख मुद्दा होगा.

vineet kumar | News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 9:51 PM IST
मोदी सरकार के इस फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर संतों में बढ़ा उत्साह
इस वजह से संत समाज का मोदी सरकार बढ़ा भरोसा. (सांकेतिक फोटो)
vineet kumar | News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 9:51 PM IST
राम मंदिर निर्माण को लेकर के केंद्र सरकार पर लगातार दबाव बना रहा संत समाज अब उनके समर्थन में आ गया है. अखिल भारतीय संत समिति ने कश्मीर (Kashmir) में धारा 370 को खत्म किए जाने के बाद केंद्र सरकार और बीजेपी दोनों से काफी खुश हैं. अखिल भारतीय संत समिति ने इसके लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और केंद्रीय गृहमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) को बधाई दी है. अखिल भारतीय संत समाज के राष्ट्रीय महामंत्री स्वामी जितेन्द्रानंद सरस्वती का कहना है की धारा 370 की समाप्ति के साथ ही बीजेपी ने अपने कोर मुद्दे और कोर वायदों को पूरा करना शुरू कर दिया.

10 अगस्‍त को ये काम करेगी अखिल भारतीय संत समिति
यही कारण है कि 10 अगस्त को दिल्ली में होने वाले अखिल भारतीय संत समिति की बैठक में केंद्र सरकार और बीजेपी की पीठ भी थपथपाई जाएगी. पहले से प्रस्तावित इस बैठक में राम मंदिर के निर्माण को लेकर रणनीति बनाना मुख्य एजेंडे में था, लेकिन धारा 370 को लेकर के केंद्र सरकार के फैसले के बाद संत समाज के उत्साह और मनोबल में बढ़ोतरी हुई है.

10 अगस्‍त को दिल्‍ली में होने वाली मीटिंग में शामिल होंगे 60 संत.


सुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश है समिति
अखिल भारतीय संत समिति सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर मामले की प्रतिदिन हो रही सुनवाई से भी उत्साहित है. उनका मानना है कि न्यायपालिका अब जल्द से जल्द राम मंदिर निर्माण को लेकर सकारात्मक फैसला जल्द सुनाएगी. अखिल भारतीय संत समाज का उत्साह इससे भी समझा जा सकता है कि जब न्यूज़ 18 ने समिति के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी जितेंद्रनंद सरस्वती से बैठक के मुख्य एजेंडे के बारे में पूछा तो उनका कहना था कि वे न्यायालय के आदेश के बाद की स्थिति के बारे में चर्चा करेंगे. उनका कहना है कि संत समाज कई वर्षों से मंदिर निर्माण को लेकर के कार्य कर रहा है और न्यायालय के आदेश के आने के बाद वे मंदिर के निर्माण में पूरी तरह से लग जाएंगे.

इतने संत लेंगे बैठक में हिस्‍सा
Loading...

दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में होने वाले अखिल भारतीय संत समिति की बैठक में 60 से अधिक संत हिस्सा लेंगे, जिसमें राम मंदिर के निर्माण के साथ-साथ सबरीमाला, मठों पर सरकार के अनावश्यक हस्तक्षेप, रांची के न्यायालय के कुरान बांटने के आदेश आदि पर भी चर्चा होगी.

ये भी पढ़ें- स्मृति ईरानी ने निभाया अमेठी से किया वादा, दिया है ये बड़ा तोहफा

अब दुनिया में भदोही के साथ बजेगा कश्‍मीर का डंका, मोदी सरकार ने दूरी की सबसे बड़ी बाधा
First published: August 8, 2019, 9:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...