शाहरुख के इस डायलॉग की वजह से लटक गया केजरीवाल का नया एड!

फिल्म 'ओम शांति ओम' में शाहरुख खान के एक डायलॉग पर आधारित इस एड को दिल्ली सरकार के विभागों ने हरी झंडी नहीं दी है.

News18Hindi
Updated: February 13, 2018, 1:27 PM IST
शाहरुख के इस डायलॉग की वजह से लटक गया केजरीवाल का नया एड!
दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार और ब्यूरोक्रेसी के बीच का टकराव एक बार फिर सामने आया है.
News18Hindi
Updated: February 13, 2018, 1:27 PM IST
दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार और ब्यूरोक्रेसी के बीच का टकराव एक बार फिर सामने आया है. इस बार मामला दिल्ली में केजरीवाल सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर तैयार किए गए एक विज्ञापन को लेकर है. फिल्म 'ओम शांति ओम' में शाहरुख खान के एक डायलॉग पर आधारित इस एड को दिल्ली सरकार के विभागों ने हरी झंडी नहीं दी है.

दरअसल, 14 फरवरी को आप सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं. इसे लेकर आप सरकार 'विकास यात्रा' निकाल रही है. इसी कड़ी में अपनी सरकार की उपलब्धियों को लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल का एक वीडियो एड बनाया गया है. जिसमें एक लाइन है, "जब आप सच्चाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं, तो ब्रह्मांड की सारी दृश्य और अदृश्य शक्तियां आपकी मदद करती हैं".

शाहरुख ने दीपिका पादुकोण से कही थी ये लाइन
ये लाइन शाहरुख की फिल्म 'ओम शांति ओम' से प्रेरित है. फिल्म में शाहरुख खान इस डायलॉग के जरिए दीपिका पादुकोण के प्रति अपना प्यार जाहिर करते हैं. शाहरुख कहते हैं, "अगर किसी चीज़ को दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है." दिल्ली सरकार के संबधित विभागों ने केजरीवाल के एड के इस लाइन को सर्टिफाई करने से इनकार कर दिया है.

ये है एड का पूरा कटेंट?
करीब एक मिनट के एड में सीएम केजरीवाल कह रहे हैं, "पिछले तीन सालों में दिल्ली में भ्रष्टाचार में भारी कमी आई है.... अब एक-एक पैसा जनता के विकास पर खर्च हो रहा है... बाधाएं बहुत आईं, पर आपके हक के लिए हम हर कठिनाई से लड़े. ईश्वर ने हर कदम पर साथ दिया. जब आप सच्चाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं, तो ब्रह्मांड की सारी दृश्य और अदृश्य शक्तियां आपकी मदद करती हैं."

सीएम बोले-क्या भगवान करेंगे इस लाइन को क्लियर?
संबंधित विभागों ने एड को लेकर सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन्स का हवाला दिया है. वहीं, केजरीवाल सरकार का आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का हवाला देकर सीएम के इस संदेश को फंसाया गया है. ब्यूरोक्रेसी के रवैये पर प्रतिक्रिया देते हुए सोमवार को केजरीवाल ने कहा, "क्या भगवान इस लाइन को क्लियर करेंगे?"

सीएम ने कहा है कि वह ब्यूरोक्रेसी से बहुत दुखी हैं. दिल्ली सरकार का ऐसा कोई काम नहीं, जिसमें ये अधिकारी अड़ंगा ना डालते हों. बता दें कि इस मसले को लेकर कल सीएम हाउस में मीटिंग भी हुई, लेकिन कोई हल नहीं निकला.

ये भी पढ़ें:  28 साल बाद फिर रथ यात्रा, 41 दिनों में अयोध्या से चलकर पहुंचेगी रामेश्वरम

जम्मू हमले की कीमत चुकाएगा पाक, समय हम तय करेंगे: रक्षा मंत्री
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर