लाइव टीवी
Elec-widget

दिल्ली में प्रदूषित पानी: केजरीवाल का बड़ा बयान, केंद्र सरकार के किस रिपोर्ट को सही मानें

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 3:08 PM IST
दिल्ली में प्रदूषित पानी: केजरीवाल का बड़ा बयान, केंद्र सरकार के किस रिपोर्ट को सही मानें
भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) ने दिल्ली में पीने का पानी को लेकर बड़ा खुलासा किया था. (फाइल फोटो)

बीते शनिवार को ही केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि पानी (Water) की शिकायतें देशभर से आ रही हैं, जो चिंता का विषय है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 3:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में पानी (Water) की गुणवत्ता पर आई भारतीय मानक ब्यूरो (Bureau of Indian Standards) की रिपोर्ट पर सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने ऐतराज जताया है. अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'बीते 26 सितंबर 2019 को ही केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) ने कहा था कि दिल्ली का पानी यूरोप स्टैंडर्ड का है. उनके जल मंत्रालय ने दिल्ली के 20 जगहों से सैंपल लिए थे. 6 अक्टूबर को दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी से भी इस बारे में पूछा गया था और उन्होंने भी जल मंत्रालय की रिपोर्ट पर सहमति जताई थी. अब इस पर राजनीति शुरू हो रही है, जो अच्छी बात नहीं है. रामविलास पासवान कहते हैं कि दिल्ली के 11 जगहों से पानी का सैंपल लिया गया है. कहां से सैंपल लिए गए वो ये नहीं बता रहे हैं. डब्ल्यूएचओ (WHO) के स्टैंडर्ड के हिसाब प्रति 10 हजार की आबादी पर सैंपल लेने चाहिए. इस हिसाब से दिल्ली से 2000 सैंपल उठाने चाहिए थे. दिल्ली जलबोर्ड ने 1.55 लाख सैंपल उठाये, उसमें लगभग 2200 सैंपल फेल हुए. एक लाख 53 हजार पास हुए. आने वाले दिनों में हम हर वार्ड से 5-5 सैंपल उठाएंगे. उनकी चेकिंग कराएंगे और उनका डेटा सामने रखेंगे.'

अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार के घेरा

बता दें कि केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने बीते शनिवार को ही दिल्ली सहित देश की 20 शहरों की पानी की गुणवत्ता को लेकर रिपोर्ट जारी किया था. मंत्रालय के अंतगर्त काम करने वाली बीआईएस (BIS) यानी भारतीय मानक ब्यूरो (Bureau of Indian Standards) ने पीने के पानी को लेकर बड़ा खुलासा किया था. इस रिपोर्ट में BIS ने दिल्ली के पानी को सबसे खराब बताया था. इस रिपोर्ट में दिल्ली का पानी सबसे प्रदूषित पाया गया है. इस रिपोर्ट में साफ पानी के मामले में मुंबई पहले नंबर, हैदराबाद दूसरे नंबर और भुवनेश्वर तीसरे नंबर पर रहा.

डब्ल्यूएचओ (WHO) के स्टैंडर्ड के हिसाब प्रति 10 हजार की आबादी पर सैंपल उठाने चाहिए.
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि WHO के स्टैंडर्ड के हिसाब से प्रति 10 हजार की आबादी पर सैंपल उठाने चाहिए थे.


'देशभर से आ रहीं शिकायतें'
शनिवार को रामविलास पासवान ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि पानी की शिकायतें देशभर से आ रही हैं, जो चिंता का विषय है. पिछले छह महीने से मंत्रालय की तरफ से कोशिश की जा रही है कि पानी की जांच का प्रयास किया जाए. दिल्ली में भी पानी में शिकायत में बाद कुछ सैम्पल की जांच की गई जो सही नहीं पाई गई है. दिल्ली सरकार ये न समझे कि इसके पीछे की मंशा राजनीतिक है. राज्यों की राजधानियों से पानी के सैम्पल की जांच कराई गई है.'

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद दिल्ली में बवाल मच गया.
इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद दिल्ली की राजनीति फिर से गर्मा सकती है.

Loading...

रिपोर्ट के बाद दिल्‍ली में गरमाई राजनीति
इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद दिल्ली में बवाल मच गया. बीजेपी ने इस मामले में अरविंद केजरीवाल को घेर रही है. बीजेपी आरोप लगा रही है कि दिल्ली में पीने का पानी के सभी 11 नमूने भारतीय मानक के अनुरूप नहीं पाए गए. नमूने कई मानकों पर फेल पाए गए, जबकि मुंबई से लिए गए सभी 10 नमूने भारतीय मानक के अनुरूप पाए गए.

ये भी पढ़ें: 

दिल्ली की हवा में जहर के बाद अब पानी भी सबसे खराब, मंत्री ने खुद किया खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 2:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...