लाइव टीवी

दिल्ली मेरा परिवार और मैं इसके बड़े बेटे की तरह हूं, इस कारण चिंता होती है: सीएम केजरीवाल

News18Hindi
Updated: October 28, 2019, 6:35 PM IST
दिल्ली मेरा परिवार और मैं इसके बड़े बेटे की तरह हूं, इस कारण चिंता होती है: सीएम केजरीवाल
सीएम केजरीवाल ने उम्मीद जताई कि बस मार्शल जरूरत पड़ने पर सवारियों की मदद भी करेंगे. (File Photo)

अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) ने सोमवार को 6000 मार्शलों (Marshall) के प्रशिक्षण कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाई. इसके साथ ही अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि बस में मेरी बहनों - माताओं व बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी अब आपके हाथों में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2019, 6:35 PM IST
  • Share this:
रूपाश्री नंदा
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) के 2 करोड़ लोग एक परिवार की तरह हैं. दिल्ली का मुख्यमंत्री (Chief Minister of Delhi) होने के नाते मैं इस परिवार के बड़े बेटे की तरह हूं. इस कारण मैं दिल्ली में महिलाओं (Women) की सुरक्षा को लेकर चिंतित रहता हूं. महिलाएं बड़ी संख्या में बस (Bus) में सफर करती हैं. इस दौरान उनको सुरक्षित सफर मिले इसके लिए हमने 34 सौ बस मार्शल (Marshall) नियुक्त किए थे. उनके काम व उनकी वजह से हुए सुरक्षित सफर के कारण तमाम लोगों ने मुझसे अनुरोध किया कि सभी बसों में बस मार्शल नियुक्त होने चाहिए. जिसके बाद अब सभी बसों में दिल्ली सरकार बस मार्शल नियुक्त करने जा रही है. मंगलवार से सभी बसों में सभी शिफ्ट में 13 हजार बस मार्शल नियुक्त होंगे. यह बात दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने त्यागराज स्टेडियम (Thyagraj Stadium) में कहीं. केजरीवाल कल से नियुक्त होने वाले बस मार्शलों का उत्साहवर्धन करने पहुंचे थे. उन्होंने बस मार्शलों से कहा कि बस में मेरी बहनों - माताओं व बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी अब आपके हाथों में है. एक बहन-भाई की तरह अब हमें मिलकर एक दूसरे की सुरक्षा करनी है. साथ ही सीएम ने कहा कि यह बस मार्शल बस में हर तरह की आपात स्थिति से निपटेंगे. वह बस में बीमार की मदद भी करेंगे.

महिला सुरक्षा के लिए नियुक्त हुए मार्शल- सीएम
इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं बस मार्शल में उत्साह भरने आया था, लेकिन मैंने आज जो ऊर्जा आप में देखी है, मुझे नहीं लगता कि मुझे प्रेरणा के किसी भी शब्द की आवश्यकता है. कल यानी मंगलवार से दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार की ओर से बस मार्शलों की तैनाती की जाएगी. मुझे खुशी है कि दिल्ली दुनिया का एकमात्र ऐसा शहर होगा, जहां एक दिन में इतनी बड़ी संख्या में बस मार्शल तैनात होंगे. 3400 बस मार्शल पहले से ही काम कर रहे हैं और कल से बसों में 13000 बस मार्शल तैनात किए जाएंगे. 3400 बस मार्शलों ने पूरी जिम्मेदारी और उत्कृष्टता के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वाह किया है. इसी कारण लोगों ने मांग की थी कि अन्य बसों में भी मार्शल नियुक्त हों. इसी कारण अब सभी बसों में मार्शल नियुक्त हो रहे हैं.

मैं दिल्ली परिवार के बड़े बेटे की तरह हूं, इस कारण चिंता होती है- सीएम
सीएम ने कहा, 'नए मार्शलों को भी 3400 मार्शल अचीवर्स के साथ काम करना होगा ताकि दिल्ली के लोग हम पर गर्व महसूस करें. दिल्ली के 2 करोड़ लोग मेरे परिवार की तरह हैं, और मैं यह देखकर बहुत खुश हूं कि पिछले पांच वर्षों में दिल्ली सरकार के प्रयासों के कारण, दिल्ली के लोगों को दिल्ली पर गर्व है. मैं इस परिवार के एक बड़े बेटे की तरह हूं और मेरे परिवार के प्रत्येक सदस्य की देखभाल करना मेरा कर्तव्य है. यह सुनिश्चित करना मेरा कर्तव्य है कि प्रत्येक व्यक्ति को 24 घंटे के लिए 200 यूनिट तक मुफ्त बिजली मिलती है, मेरे बुजुर्गों को तीर्थ-यात्रा हो, वह आरामदायक जीवन के लिए उन्हें सभी सुविधाएं प्राप्त करें.'

अब बसों में महिलाओं की सुरक्षा मार्शलों की जिम्मेदारी- सीएम
Loading...

सीएम ने कहा, 'हालांकि, यह मेरे लिए चिंता की बात है कि दिल्ली की महिलाएं शहर में सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं. मेरे परिवार के सबसे बड़े बेटे के रूप में सभी महिलाओं के लिए सुरक्षित माहौल सुनिश्चित करना भी मेरी जिम्मेदारी है. इसे लेकर मैं चिंतित रहता हूं. अब यह जिम्मेदारी मैं मार्शलों को दे रहा हूं. इसके लिए जो करना है, कर दें. आज, मैं यह सुनिश्चित करने के लिए सभी बस मार्शलों को कर्तव्य देता हूं कि मेरी सभी माताएं, बहनें और बेटियां, जो बसों में यात्रा करती हैं, सुरक्षित और सुरक्षित हैं. मुझे आशा है कि आप इस कर्तव्य का पालन और दृढ़ निश्चय के साथ करेंगे. हर परिवार की तरह एक दूसरे की सुरक्षा करेंगे. जो भी हो सकता हैं, दिल्ली सरकार इसके लिए काम कर रही है.'

केजरीवाल ने आगे कहा कि महिलाओं की सुरक्षा हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है, और महिलाओं को हर समय सुरक्षित महसूस करना चाहिए क्योंकि हम एक परिवार हैं, हमें एक-दूसरे के लिए एक सुरक्षित जगह सुनिश्चित करनी होगी. दिल्ली सरकार सभी चरणों में महिलाओं का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है. भाईदूज के अवसर पर, दिल्ली सरकार कल से मुफ्त बस सवारी योजना लागू करेगी. कल से बसों में महिलाओं का किराया उनका यह भाई देगा. दिल्ली सरकार ने शहर में महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कई पहल की हैं. दुनिया में अपनी तरह की पहली पहल में, सरकार द्वारा पूरे दिल्ली में 3 लाख सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. किसी अन्य शहर ने इतनी बड़ी संख्या में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगाए हैं. नवंबर से दिल्ली में 2 लाख स्ट्रीट लाइटें लगाई जाएंगी. मुझे चिंता थी कि बसों में महिलाओं का सफर मुफ्त होने के बाद भीड़ बढ़ेगी. फिर उनकी सुरक्षा कैसे होगी. मैंने मंत्रियों अधिकारियों को यह जिम्मेदारी दी. उन्होंने दिन रात लगकर यह काम किया.

बीमार को मदद से लेकर आपात स्थिति से निपटेंगे मार्शल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि कल से दिल्ली की हर बस में महिलाओं की सुरक्षा के लिए मार्शल लगाए जा रहे हैं. कुल 13,000 मार्शल बसों में बीमार की मदद भी करेंगे एवं अन्य किसी भी आपात स्थिति से निपटेंगे. दिल्ली अकेला राज्य है, जहां लोगों की सुरक्षा और मदद के लिए हर बस में मार्शल नियुक्त किए जा रहे हैं.

29 अक्टूबर से बसों में महिलाओं को मुफ्त सफर
बता दें, दिल्ली की DTC और क्लस्टर स्कीम की सभी बसों में कल से महिलाओं के लिए मुफ्त सफर शुरू हो जाएगा. इन बसों में महिलाओं का सफर सुरक्षित करने के लिए 13 हजार बस मार्शल नियुक्त हुए हैं. इनमें 6 हजार सिविल डिफेंस कर्मी हैं, जबकि 7 हजार पूर्व होमगार्ड हैं. इनमें 34 सौ मार्शल पूर्व में बसों में तैनात थे. सिविल डिफेंस कर्मियों को विशेष तौर पर ट्रेनिंग देने की व्यवस्था दिल्ली सरकार की तरफ से की गई है. सोमवार को 6 हजार सिविल डिफेंस कर्मियों को दो सत्रों में त्यागराज स्टेडियम में ट्रेनिंग दी गई. पहला सत्र सुबह 11 बजे व दूसरा दोपहर 2 बजे शुरू हुआ. दोनों सत्रों में 3-3 हजार बस मार्शल को ट्रेनिंग दी गई. जिससे वह बस में महिलाओं के लिए सुरक्षित सफर सुनिश्चित करा सकें. साथ ही आपात स्थिति में महिला सुरक्षा में महस्वपूर्ण भूमिका निभा सकें. ट्रेनिंग देने का काम जगोरी व मारस फाउंडेशन की तरफ से किया गया. सीएम ने बस मार्शलों से सोमवार को मुलाकात की. उनका उत्साहवर्धन किया.

15 बस मार्शल को सीएम ने किया सम्मानित
पूर्व में बसों में तैनात 34 सौ बस मार्शल में से 15 को सीएम ने सोमवार को सम्मानित भी किया. इन बस मार्शलों ने आम लोगों की आपात स्थिति में मदद की थी. सीएम ने उम्मीद जताई कि इसी तरह अन्य बस मार्शल भी सवारियों की मदद करेंगे. साथ ही महिला सुरक्षा में महत्वपूर्ण योगदान करेंगे.

संस्था ने किया सरकार का धन्यवाद
जगोरी की निर्देशक जया वेलंकर ने बताया कि बसें महिलाओं के लिए परिवहन का पसंदीदा साधन हैं. 5000 से अधिक बसों को महिलाओं के यौन उत्पीड़न को रोकने के लिए बस मार्शलों को तैनात करना सरकार का स्वागत योग्य कदम है. महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ उत्पीड़न खत्म करने और उनके लिए सार्वजनिक स्थलों को सुरक्षित बनाने के लिए 35 से अधिक वर्षों से काम कर रहे एक संगठन के रूप में जगोरी को मार्शल के प्रशिक्षण से जुड़ने में खुशी है. हम सरकार को निरंतर समर्थन और सहयोग के लिए सरकार को बधाई देते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 28, 2019, 6:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...