लाइव टीवी

दिल्ली-NCR में पॉलुशन का स्तर बेहद खतरनाक, हरियाणा के पूर्व मंत्री बोले- क्या सिर्फ पराली जलाने से होता है प्रदूषण

News18Hindi
Updated: November 1, 2019, 9:20 AM IST
दिल्ली-NCR में पॉलुशन का स्तर बेहद खतरनाक, हरियाणा के पूर्व मंत्री बोले- क्या सिर्फ पराली जलाने से होता है प्रदूषण
दिल्ली के लोधी रोड और यूपी के गाजियाबाद में वायु प्रदूषण इमरजैंसी वाले हालात में पहुंच गया है. (Demo Pic)

दिल्ली (Delhi) का प्रदूषण (Pollution) क्या सिर्फ पराली (Parali) जलाने से ही बढ़ता है. पराली पर आरोप लगाना छोड़कर दिल्ली वालों को इसके उपाय तलाश करने चाहिए. ये कहना है हरियाणा (Haryana) के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister) अनिल विज (Anil Vij0 का.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2019, 9:20 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वहीं दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) इन दिनों धुंध (Smog) की चपेट में है. धुंध के चलते कहीं भी धूप नजर नहीं आ रही है. दिल्ली-एनसीआर की हवा में प्रदूषण (Air Pollution) कम होने का नाम नहीं ले रहा है. दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) धुंध की वजह से बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. एक्यूआई का 300 से ऊपर होना हैल्थ के हिसाब से बेहद खराब माना जाता है. प्रदूषण के मामले में गाज़ियाबाद (Ghaziabad) की सबसे जयादा खराब है.

दिल्ली में PM 2.5 और 10 का इंडेक्स पहुंचा 500 पर

दिल्ली में दिवाली के बाद से प्रदूषण का स्तर सीवीयर कंडीशन में पहुंच गया है. राजधानी के आसपास के इलाके भी गैस चैंबर बने हुए हैं. अगले कुछ दिन तक राहत के आसार भी दिखाई नहीं दे रहे हैं.

दिल्ली में शुक्रवार की सुबह लोधी रोड पर पीएम 2.5 और 10 का लेवल 500 के गंभीर आंकड़े को छू गया. जानकारों की मानें तो ये खतरनाक स्थिति है. इसके बाद के हालात इमरजैंसी वाले हो जाते हैं.


Loading...



अनिल विज ने कहा किसानों को जिम्मेदार ठहराना ठीक नहीं

अपने बयानों के चलते विवादों में रहने वाले हरियाणा के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि दिल्ली-एनसीआर के बढ़ते प्रदूषण के लिए सिर्फ पराली जलाए जाने को जिम्मेदार ठहराना ठीक नहीं है. ऐसा नहीं है कि प्रदूषण सिर्फ पराली के धूंए से ही हो रहा है. इसके लिए दिल्ली सरकार को चाहिए कि वह प्रदूषण से निपटने के लिए कोई और कदम उठाए.

बच्चों के लिए बेहद खतरनाक है इंडेक्स का 500 पर पहुंचना

जानकारों का कहना है कि लोधी रोड पर पीएम 2.5 और 10 का लेवल 500 के गंभीर आंकड़े को छू गया. अगर बच्चों के लिहाज से बात करें तो इसे देखते हुए दिल्ली में हेल्थ इमरजेंसी है. स्कूल बंद कर देने चाहिए. हालांकि प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज से स्कूलों में 50 लाख मास्क बांटने का कार्यक्रम शुरु कर रहे हैं. लेकिन मास्क बंटने में भी वक्त लगेगा तो बच्चों को देखते हुए कुछ जरूरी कदम उठाए जाने चाहिए.



 

वहीं दिल्ली सरकार ने आज राजाजी पुरम के सरकारी स्कूल से मास्क बांटने का कार्यक्रम जारी कर दिया है. सीएम केजरीवाल का कहना है कि मास्क बांटने में किसी भी तरह का कोई भेदभाव नहीं होगा. मास्क सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल के बच्चों को बांटे जाएंगे. मास्क स्कूलों में पहुंचा दिए गए हैं.

यूपी के 8 शहर चपेट में, गाजियाबाद के हालात बेहद खराब

वायु प्रदूषण की चपेट में यूपी के 8 शहर आए हैं. देश के सबसे प्रदूषित शहरों में गाजियाबाद का नाम सबसे ऊपर है. यहां PM 2.5 का लेवल 487 के आंकड़े को छू गया है. यूपी में हापुड़ दूसरे नंबर पर, ग्रेटर नोएडा तीसरे तो बुलंदशहर छठवें नंबर पर है. दिवाली के बाद से जिले के प्रदूषण में लगातार इजाफा हो रहा है. सुबह से ही आसमान में स्मॉग की परत छाई रही. वातावरण में सल्फर डाई ऑक्साइड और कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा लगातार बढ़ने से पर्यावरण को ही नहीं बल्कि सेहत को भी नुकसान पहुंच रहा है. इस दौरान लोगों को सांस लेने में परेशानी व आंखों में जलन होने के साथ संक्रमण का खतरा बना हुआ है.



ये भी पढ़ें-

भोपाल में 3 दिन के लिए इकट्ठा हो रहे हैं देशभर के 25 लाख से अधिक मुस्लिम, जानें वजह...

इस दिवाली पर 60 प्रतिशत कम बिका चाइनीज सामान, कैट के सर्वे में हुआ खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 8:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...