लाइव टीवी

निर्भया रेप कांडः 7 दिनों में तय होगा, दोषियों को फांसी होगी या फिर....

shankar Anand | News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 4:26 PM IST
निर्भया रेप कांडः 7 दिनों में तय होगा, दोषियों को फांसी होगी या फिर....
यदि याचिका 7 दिनों में राष्ट्रपति के पास नहीं जाती है तो फांसी की तैयारियां शुरू की जाएंगी. (File Pic)

निर्भया रेप केस (Nirbhaya rape case) के दोषियों की दया याचिका (Mercy Petition) अभी तक राष्ट्रपति (President) के पास नहीं भेजी गई है. इसके लिए अब सिर्फ 7 दिन का समय ही बचा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 4:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश भर को झकझोर के रख देने वाले निर्भया रेप कांड (Nirbhaya rape case) को दिसंबर में 7 साल पूरे होने जा रहे हैं. अब जो समय चल रहा है वह दोषियों को सजा देने की तैयारी का है. तिहाड़ जेल (Tihar Jail) के अधिकारियों की मानें तो दोषियों की ओर से दया याचिका भेजे जाने में सिर्फ 7 दिन का समय बचा है. अगर इस बीच दया याचिका राष्ट्रपति (President) को नहीं भेजी जाती तो निचली अदालत को अर्जी भेजकर जेल प्रशासन दोषियों को फांसी देने की तैयारी शुरू कर देगा.

सात दिन में याचिका, नहीं तो फांसी
तिहाड़ जेल प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि अभी तक निर्भया रेप केस के दोषियों के वकील की ओर से राष्ट्रपति को दया याचिका नहीं भेजी गई है. अब दया याचिका भेजे जाने में सिर्फ 7 दिन का समय बचा है. कोर्ट से पुनर्विचार याचिका बहुत पहले ही खारिज हो चुकी है. इस बात की जानकारी सभी तीनों दोषियों को दे दी गई है.

दोषियों को पढ़कर सुनाया फरमान और कराई गई वीडियोग्राफी

जेल प्रशासन का कहना है कि कोर्ट पुनर्विचार याचिका खारिज कर चुकी है. राष्ट्रपति के यहां दया याचिका भेजे जाने में 7 दिन बचे हैं. इस बात की जानकारी सभी तीनों दोषियों को दे दी गई है. बुधवार को उन्हें ये फरमान पढ़कर भी सुना दिया गया है. इसकी वीडियोग्राफी भी कराई गई है. इतना ही नहीं लिखित तौर पर रिसीविंग भी आरोपियों से ले ली गई है.

तिहाड़ जेल प्रशासन द्वारा दोषियों को दिया गया नोटिस.


अलग-अलग जेल में बंद हैं निर्भया के तीनों दोषी
Loading...

तिहाड़ जेल के सूत्रों के मुताबिक दो दोषी अक्षय कुमार और मुकेश तिहाड़ जेल नंबर 2 में हैं. जबकि तीसरा दोषी विनय शर्मा मंडोली जेल में बंद है. यदि सात दिन में दोषियों की दया याचिका राष्ट्रपति के यहां नहीं जाती है तो निचली अदालत से अनुमति लेकर दोषियों की फांसी संबंधी तैयारी शुरु कर दी जाएगी.

ये भी पढ़ें-

भोपाल में 3 दिन के लिए इकट्ठा हो रहे हैं देशभर के 25 लाख से अधिक मुस्लिम, जानें वजह...

इंदौर: एक्सीडेंट में मारे गए सफाईकर्मी की कार से मिली लेफ्टिनेंट की वर्दी और वायरलेस सेट

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 11:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...