लाइव टीवी

दिल्ली पुलिस के प्रोटेस्ट से केंद्र ‘नाखुश’, शीर्ष अधिकारियों पर गिर सकती है गाज

भाषा
Updated: November 5, 2019, 11:09 PM IST

दिल्ली (Delhi) में मंगलवार को पुलिस (Police) ने जिस तरीके से सेवा आचरण का उल्लंघन करते हुए प्रदर्शन किया उससे ऐसा लगता है कि केंद्र नाखुश है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में मंगलवार को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने जिस तरीके से सेवा आचरण का उल्लंघन करते हुए प्रदर्शन (Protest) किया उससे ऐसा लगता है कि केंद्र (Modi Government) नाखुश है. हालांकि, सरकार को उनकी शिकायतों के लिए सहानुभूति भी है. वकीलों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प के बाद पुलिस के विरोध के मद्देनजर केंद्र सरकार का यह मानना है कि दिल्ली पुलिस का नेतृत्व इस स्थिति को नियंत्रित करने में नाकाम रहा, जिससे लोगों में लॉ एंड ऑर्डर की छवि को नुकसान पहुंचा है. बता दें कि प्रदर्शन के दौरान बारी-बारी से दिल्ली पुलिस के 6 वरिष्ठ अफसरों ने प्रदर्शन ख़त्म करने की अपील की थी लेकिन प्रोटेस्ट कर रहे पुलिसवालों ने उनकी नहीं सुनी.

जल्द हो सकता है बड़ा बदलाव
अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली पुलिस के शीर्ष स्तर पर बहुत जल्द बदलाव हो सकता है. एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, 'पुलिस की वास्तविक शिकायत हो सकती है, लेकिन उन्हें उचित माध्यम से इस मुद्दे को उठाना चाहिए था. हम एक अनुशासित बल को भीड़ की मानिसकता विकसित करने की अनुमति नहीं दे सकते हैं.'

अधिकारियों ने बताया कि चूंकि पुलिस आवश्यक सेवा के तहत आती है, ऐसे में किसी भी परिस्थिति में कर्मियों का कर्तव्य केवल सेवा प्रदान करना है. पुलिस कानून की रक्षा करती है और इसलिए उस पर बड़ा दायित्व है. एक अन्य अधिकारी ने तीस हजारी अदालत में वकीलों के कथित रूप से हिंसा में शामिल होने के संदर्भ में कहा कि दूसरी ओर अधिवक्ता भी अदालत के अधिकारी होते हैं और उन्हें भी अपने पेशेवर आचरण का पालन करना चाहिए था और वे भी भीड़ की मानसिकता विकसित नहीं कर सकते. अधिकारी ने बताया कि कानून और नियमों का उल्लंघन करने वाले वकीलों और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की संभावना है.

ये थीं पुलिस कर्मियों की 6 मांगें-
1. निलंबित पुलिस अधिकारी को बहाल करना
2. घायल पुलिस अधिकारी को मुआवजा
Loading...

3. अधिवक्ताओं के खिलाफ कार्रवाई
4. SC में HC के आदेश के खिलाफ अपील.
5. पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट करने वाले व्यक्तियों का सत्यापन
6. निचले अधिकारियों के लिए पुलिस एसोसिएशन की मांग

पुलिसकर्मियों का धरना खत्म
मंगलवार सुबह से ही दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर जवानों ने प्रदर्शन कर वकीलों के खिलाफ एक्शन की मांग की. इस विरोध प्रदर्शन के करीब 10 घंटे बाद पुलिसकर्मियों ने इस प्रदर्शन को खत्म कर दिया. अब तक मिली जानकारी के मुताबिक पुलिसकर्मियों की सभी मांगे मान ली गई हैं. अब इस पूरे प्रकरण में न्यायिक आयोग की रिपोर्ट के बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी. जांच के बिना पुलिसकर्मियों पर कोई भी कार्रवाई नहीं की जाएगी. आरोपी पुलिसकर्मियों के निलंबन पर भी रोक लग गई है. वहीं साकेत कोर्ट में आरोपी वकीलों की गिरफ्तारी होगी.

वहीं साकेत कोर्ट में आरोपी वकीलों की गिरफ्तारी होगी. इसके अलावा घायल पुलिसकर्मियों को 25 हजार रुपये मुआवजे के तौर पर भी दिया जाएगा. वहीं वकीलों की गिरफ्तारी पर दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा लगाई रोक के खिलाफ पुलिस ने कोर्ट में अर्जी दाखिल की है जिस पर बुधवार दोपहर 3 बजे सुनवाई होगी. इससे पहले गृह मंत्रालय ने वकीलों की गिरफ्तारी न करने के आदेश पर पर हाईकोर्ट से स्पष्टीकरण मांगा था.

ये भी पढ़ें:

दिल्ली पुलिस का सड़कों पर उतरना, भारत के लिए एक ‘नई गिरावट’ है: कांग्रेस
10 घंटे के प्रदर्शन के बाद पुलिसकर्मियों का धरना खत्म, सभी मांगें मानी गईं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 10:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...