लाइव टीवी

ऑड-ईवन पर गरमाई सियासत, BJP नेता विजय गोयल ने तोड़ा नियम तो परिवहन मंत्री ने दिया गुलदस्ता

एएनआई
Updated: November 4, 2019, 3:22 PM IST
ऑड-ईवन पर गरमाई सियासत, BJP नेता विजय गोयल ने तोड़ा नियम तो परिवहन मंत्री ने दिया गुलदस्ता
भाजपा नेता विजय गोयल ऑड-ईवन का विरोध करने निकले.

विजय गोयल का कहना है कि दिल्ली (Delhi) में ऑड-इवन (Odd-Even) लागू होने से प्रदूषण (Pollution) में कोई कमी नहीं होने वाली है. उन्होंने कहा कि पिछले साल के प्रदूषण के रिकार्ड ( Record) को देखा जाए तो पता चलता है कि ऑड-इवन के दौरान दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण में कमी नहीं आई थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में ऑड-इवन (Odd-Even) लागू होने से प्रदूषण कम हो या ना हो दिल्ली की राजनीति गरमा गई है. ऑड-इवन लागू होने के पहले दिन ही भाजपा (BJP) सांसद विजय गोयल (Vijay Goel) ने नियम तोड़कर इसका विरोध किया. वहीं इसके बाद दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत गोयल के घर पहुंचे और उनको गुलदस्ता भेंट किया. गहलोत ने इसके साथ ही विजय गोयल से ऑड-ईवन (Odd-Even) नियम का पालन करने के लिए कहा.

दरअसल विजय गोयल ऑड-इवन (Odd-Even) का विरोध करने के लिए सोमवार को अपनी कार लेकर निकले थे. इवन तारीख को ऑड नंबर की कार होने पर पुलिस (Police) ने विजय गोयल का चालान (Fine) काट दिया. इस पर गोयल ने कहा कि वह चालान भरने के लिय तैयार हैं. इसके बाद केजरीवाल के मंत्री गोयल के घर गुलदस्ता लेकर पहुंच गये.



ऑड-इवन से बढ़ी परेशानी
Loading...

विजय गोयल का कहना है कि दिल्ली में ऑड-इवन लागू होने से प्रदूषण में कोई कमी नहीं होने वाली है. उन्होंने कहा कि पिछले साल के प्रदूषण के रिकार्ड को देखा जाए तो पता चलता है कि ऑड-इवन के दौरान दिल्ली में प्रदूषण में कमी नहीं आई है.

गोयल ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार इस तरह के नियम लगाकर जनता को परेशान कर रही है. इससे लोगों को फायदा नहीं बल्कि नुकसान हो रहा है. जनता को एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने में परेशानी हो रही है.

आज इवन नंबर की गाडियों को छूट
दिल्ली में आज ऑड-ईवन नियम लागू होने का पहला दिन है. आज ईवन नंबर की गाड़ियों जैसे 0, 2,4,6,8 नंबर वाली गाड़ियों के सड़क पर निकलने की छूट है.



और किन्हें मिलेगी इस नियम से छूट
ऑड-इवन के दायरे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत उनके सभी मंत्री भी आएंगे, लेकिन राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सुप्रीम कोर्ट के जज, लोकसभा अध्यक्ष, केंद्रीय मंत्री, लोकसभा और राज्यसभा में विपक्ष के नेता, उपराज्यपाल इसके दायरे में नहीं आएंगे. आम लोगों की बात करें तो महिलाओं, दिव्यांगों और एबुंलेंस को इससे छूट मिलेगी. अगर कोई इस नियम का उल्लंघन करता है तो उसे चार हजार जुर्माना देना पडे़गा. पिछली बार जुर्माने की रकम दो हजार रुपये थी.

ये भी पढ़ें- 24 घंटे में 50 से ज्यादा सिगरेट पीने के बराबर हो गया दिल्ली में Pollution!

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 1:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...