Home /News /delhi-ncr /

बुराड़ी में 11 मौतों के पीछे बड़ पूजा! रजिस्‍टर में पिता के सपने में आने का भी जिक्र

बुराड़ी में 11 मौतों के पीछे बड़ पूजा! रजिस्‍टर में पिता के सपने में आने का भी जिक्र

दिल्‍ली के बुराड़ी में एक परिवार के 11 लोगों के शव मिलने का मामला काफी उलझाने वाला है. (Photo: News18 Creative)

दिल्‍ली के बुराड़ी में एक परिवार के 11 लोगों के शव मिलने का मामला काफी उलझाने वाला है. (Photo: News18 Creative)

क्राइम ब्रांच की अब तक की जांच में सामने आया है कि घर से जो रजिस्टर बरामद हुए है उसमें खासतौर पर एक बड़ पूजा क्रिया का जिक्र है.

    दिल्‍ली के बुराड़ी में एक परिवार के 11 लोगों के शव मिलने का मामला काफी उलझाने वाला है. शुरू में समझ नहीं आ रहा था कि यह हत्‍या है या आत्‍महत्‍या. लेकिन अभी तक की जांच में सामने आया कि यह आत्‍महत्‍या थी. क्राइम ब्रांच की अब तक की जांच में सामने आया है कि घर से जो रजिस्टर बरामद हुए है उसमें खासतौर पर एक बड़ पूजा क्रिया का जिक्र है. इस पूजा को लेकर करीब 37 पन्‍ने लिखे गए हैं. बता दें कि जिस तरह से शव लटके हुए थे वे भी बरगद के पेड़ की जड़ों की तरह थे.

    बरामद किए गए रजिस्‍टर में लिखा है कि परमात्मा से मिलने वाले दिन खाना बाहर से मंगवाना है. सभी 10 सदस्यों के लटकने के वक्त उन 10 सदस्यों में से एक शख्स छड़ी से सुरक्षा करेगा. बडे-बड़े स्टूल का इस्तेमाल किया जाएगा. फोन का इस्तेमाल नहीं करना है.

    ये भी पढ़ें: मौत से चार दिन पहले डायरी में लिखा था, '30 जून को भगवान से मिलना है'

    साथ ही लिखा है कि लोहे के जंगले से सभी इसलिए लटके क्‍योंकि हम मरने नही जा रहे हैं. हम परमात्मा से मिलकर वापस आ जाएंगे. बता दें कि घटना वाली रात परिवार के लिए खाना बाहर से आया था और खाने में केवल 20 रोटी मंगाई गई थी. इसी तरह से करीब छह फोन साइलेंट एक जगह रखे मिले थे.

    ये भी पढ़ें:बुराड़ी डेथ मिस्ट्री : पुलिस को मिली डायरी में लिखे थे मौत को गले लगाने के ये 10 स्टेप

    कुछ विशेष सूत्रों से क्राइम ब्रांच को पता चला है कि मरने वाले दोनों बेटों में से एक बेटे ललित को पिता सपने में नजर आते थे और पिताजी का काफी प्रभाव उस पर था. घर में या प्रोपर्टी के सौदे के फैसले वह पिता के कहने पर करता था. एक जगह लिखा गया है, 'ललित की सेहत की चिन्ता मत करो, मेरे आने से प्रभाव पड़ता है.' क्राइम ब्रांच सूत्र बताते है कि दोनों रजिस्टर में जो लिखा गया वह सब कुछ ललित की हैंड राइटिंग लग रही है. ललित छोटा भाई था जिसकी फर्नीचर की दुकान थी.

    क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक अब तक यह पूरी तरह आत्महत्या का मामला लग रहा है. इसके पीछे जरूर किसी धर्मगुरु या कोई ऐसा भी शख्स भी हो सकता है जिसे परिवार फॉलो करता था. पुलिस ऐसे शख्स की तलाश कर रही है. यह तथ्‍य मोबाइल फोन और घर से मिले लिटरेचर से पता चले हैं.

    सभी 11 लोगों के पोस्टमार्टम हो गए हैं. शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि सभी 11 लोगों ने आत्महत्या की है. यानी इससे साबित होता है कि बुजुर्ग महिला जिसका शव जमीन पर पड़ा था उसका भी कत्ल नहीं किया गया है और उसने भी आत्महत्या की है. बुजुर्ग महिला नारायण देवी ने लोहे की अलमारी के हैंडल में बेल्ट और रुमाल बांधकर आत्महत्या की.

    क्राइम ब्रांच की जांच दो एंगल पर टिकी है कि क्या यह सब ललित का किया धरा है जिसको घर के सभी सदस्य फॉलो करते थे या फिर किसी बाबा धर्मगुरु के कहने पर यह सब हुआ है.

    Tags: Delhi, Suicide

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर