मुगलों की राजधानी रहे आगरा का नाम अब इस राजा के नाम पर रखने की उठी आवाज़

ये शहर कभी मुगलों की राजधानी भी रहा है. लेकिन अब बीजेपी विधायक की मांग है कि शहर का नाम राजा अग्रसेन के नाम पर अग्रवन रखा जाए.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 3:07 PM IST
मुगलों की राजधानी रहे आगरा का नाम अब इस राजा के नाम पर रखने की उठी आवाज़
फाइल फोटो- ताजमहल.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 3:07 PM IST
मुगल सराय रेलवे स्टेशन और इलाहाबाद का नाम बदलने के बाद अब इस शहर का नाम बदलने की मांग उठी है. ये शहर कभी मुगलों की राजधानी भी रहा है. मांग बीजेपी विधायक ने उठाई है. इस संबंध में सीएम योगी को पत्र भी लिखा है. विधायक की मांग है कि शहर का नाम अग्रवन रखा जाए.

नाम बदलने की ये मांग उठी है आगरा से. आगरा का नाम अग्रवन करने की मांग करने वाले हैं विधायक जगन प्रसाद गर्ग. विधायक का कहना है कि वह इस संबंध में यूपी के सीएम को खत लिख चुके हैं और जल्द ही लखनऊ जाकर उनसे मुलाकात करेंगे.

ये भी पढ़ें- इसलिए ताजमहल की मस्जिद में नमाज़ पढ़ने पर लगाई गई है रोक

विधायक का कहना है कि इस शहर का नाम पहले अग्रवन ही था. इसके बाद इसे अकराबाद और उसके बाद आगरा नाम दिया गया. यमुना नदी के किनारे पर बना कैलाश महादेव का मंदिर इसका जीता जागता सबूत है. आगरा जैन समाज का भी बड़ा केन्द्र है.

फोटो- आगरा का नाम बदलने की मांग करने वाले विधायक जगन प्रसाद गर्ग.


ये भी पढ़ें- इसलिए ताजमहल देखने फ्लाइट से नहीं जाता एक भी विदेशी टूरिस्ट!

विधायक की इस मांग के बाद चर्चाएं शुरू हो गई हैं. गौरतलब है कि आगरा में कई एतिहासिक इमारतें भी हैं. ताजमहल, आगरा किला, सिकंदरा, फतेहपुर सीकरी आदि को देखने के लिए हर साल करीब 6 लाख विदेशी पर्यटक आगरा आते हैं. इसके अलावा लाखों की संख्या में घरेलू पर्यटक भी ताजमहल और दूसरी इमारतों को देखने के लिए आगरा आते हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर